Tuesday, Jul 16 2019 | Time 10:10 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मुजफ्फरनगर पुलिस मुठभेड़ में दो इनामी बदमाश ढेर
  • जम्मू से 3967 श्रद्धालुओं का नया जत्था अमरनाथ रवाना
  • कैलिफोर्निया में गैस विस्फोट से एक की मौत, 15 घायल
  • इराक में दो बम विस्फोटों में एक की मौत, 25 घायल
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 17 जुलाई)
  • ईरान के साथ युद्ध नहीं चाहते ट्रम्प : जरीफ
  • इंडोनेशिया के बाली में 5 7 तीव्रता का भूकंप
  • अफगानिस्तान में सैन्य कार्रवाई में 11 आतंकवादी ढेर
  • अमेरिका-ईरान के बीच तनाव कम करने वाला प्रस्ताव पेश करेगा फ्रांस
  • पुतिन, ट्रम्प और रूहानी से करूंगा परमाणु समझौते पर चर्चा : मैक्रॉन
भारत


राहुल की नासमझी का सरकार के पास कोई उपाय नहीं: जेटली

राहुल की नासमझी का सरकार के पास कोई उपाय नहीं: जेटली

नयी दिल्ली 05 सितम्बर (वार्ता) वित्त मंत्री अरूण जेटली ने राफेल सौदे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों को जानकारी का अभाव अौर उनकी नासमझी करार देते हुए कहा है कि उनके अहम को तुष्ट करने का सरकार के पास कोई उपाय नहीं है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई केन्द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं के सवालों के जवाब में श्री जेटली ने कहा कि यह कांग्रेस की विडंबना है कि उसके मुखिया को यदि किसी चीज की जानकारी नहीं है तो पूरी पार्टी बिना जानकारी के एक ही लाइन पर चल पड़ती है। उन्होंने कहा कि जिस सज्जन को मामले की जानकारी ही नहीं है उसके अहम को तुष्ट करने का कोई उपाय नहीं हो सकता।

वित्त मंत्री ने कहा कि इस सौदे की सबसे बड़ी खासयित यह है कि इसमें सभी 36 विमान फ्रांस से बने बनाये आयेंगे और इनका एक भी पेंच या पुर्जा भारत में नहीं लगाया जायेगा। इसमें निजी या सार्वजनिक क्षेत्र किसी की भी कोई भागीदारी नहीं है। यह दो सरकारों के बीच का सौदा है इसलिए इसमें भ्रष्टाचार की गुंजाइश नहीं है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस की यह पिछडी सोच रही है कि रक्षा उपकरणों और हथियारों की खरीद विदेश से ही करनी है और देश में कुछ नहीं बनाना है। हम कांग्रेस की इस सोच से मतभेद रखते हैं। वित्त मंत्री ने कहा कि भाजपा नीत सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के समय में रक्षा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की सीमा 26 प्रतिशत की थी । यह एक प्रयोग था और बाद में इसे 49 फीसदी किया गया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की नीतियों के चलते अब दुनिया की बड़ी कंपनियां भारतीय कंपनियों के साथ साझेदारी कर रही हैं जिससे देश में रक्षा उत्पादन की संभावना बढी है। अब रक्षा क्षेत्र की महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी भी भारतीय कंपनियों को मिलेगी। इससे बाद में देश के निजी क्षेत्र को भी फायदा मिलेगा।

संजीव उनियाल

वार्ता

More News
राजधानी पर वरुणदेव मेहरबान, ट्रैफिक जाम

राजधानी पर वरुणदेव मेहरबान, ट्रैफिक जाम

15 Jul 2019 | 11:58 PM

नयी दिल्ली 15 जुलाई (वार्ता) राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हुई जिससे लंबे समय से मानसूनी बारिश की बाट जाेह रहे दिल्ली के लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिली।

see more..
सरकार उच्च गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवा सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध : हर्षवर्द्धन

सरकार उच्च गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवा सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध : हर्षवर्द्धन

15 Jul 2019 | 11:27 PM

नयी दिल्ली 15 जुलाई (वार्ता) केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने सोमवार को राष्‍ट्रीय डिजिटल स्‍वास्‍थ्‍य योजना रिपोर्ट जनता के लिए जारी की और कहा कि मोदी सरकार अंतिम मील तक सभी के लिए सुलभ उच्‍च गुणवत्‍ता वाली स्‍वास्‍थ्‍य सेवा सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है।

see more..
कुरेशी के मुख्य न्यायाधीश की नियुक्त में देरी को लेकर याचिका

कुरेशी के मुख्य न्यायाधीश की नियुक्त में देरी को लेकर याचिका

15 Jul 2019 | 11:27 PM

नयी दिल्ली 15 जुलाई (वार्ता) उच्चतम न्यायालय वरिष्ठ न्यायाधीश अकील कुरेशी को मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के तौर पर नियुक्ति में हो रही देरी को लेकर दायर जनहित याचिका पर 22 जुलाई को सुनवाई करेगा।

see more..
मोदी, जयशंकर, शेखावत से मिले अमरिंदर

मोदी, जयशंकर, शेखावत से मिले अमरिंदर

15 Jul 2019 | 11:27 PM

नयी दिल्ली, 15 जुलाई (वार्ता) पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिन्दर सिंह ने सोमवार को यहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अौर जलशक्ति मंत्री गजेंन्द्र सिंह शेखावत से मुलाकात की। विदेश मंत्री एस जयशंकर भी कैप्टन सिंह से मिले।

see more..
image