Thursday, Feb 21 2019 | Time 12:54 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कश्मीरियों के खिलाफ हमले पर रोक संबंधी याचिका की सुनवाई शुक्रवार को
  • लश्कर ए तैयबा का स्लीपर सेल का सदस्य था पाकिस्तानी कैदी
  • राष्ट्रीय राजधानी में हल्की बारिश के बाद धूप खिली
  • कश्मीर राजमार्ग बंद होने से सैकड़ों वाहन फंसे
  • अभ्रक खदान में चाल धंसने से मजदूर की मौत
  • पारिवारिक फिल्मों से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया सूरज बड़जात्या ने
  • ऋतिक के अलावा किसी से कंपटीशन नहीं: टाइगर
  • दीपिका के साथ काम करना हमेशा खास रहा : रणवीर
  • हॉरर फिल्म में काम करना चाहती हैं कैटरीना
  • बॉक्सर का किरदार निभायेंगे शाहिद कपूर
  • 83 के प्रॉफिट में हिस्सा लेंगे रणवीर सिंह!
  • पारिवारिक फिल्मों से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया सूरज बड़जात्या ने
  • ऋतिक के अलावा किसी से कंपटीशन नहीं: टाइगर
  • दीपिका के साथ काम करना हमेशा खास रहा : रणवीर
  • अल अजीजिया मामले में नवाज की सजा पर फैसला सुरक्षित
राज्य Share

हार्दिक का अनशन 11 वें दिन भी जारी, वजन में 20 किलो की गिरावट

हार्दिक का अनशन 11 वें दिन भी जारी, वजन में 20 किलो की गिरावट

अहमदाबाद, 04 सितंबर (वार्ता) पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) के नेता हार्दिक पटेल का आमरण अनशन आज 11 वें दिन भी जारी है और उनके वजन में अब तक 20 किलोग्राम की कमी दर्ज की गयी है।

हार्दिक ने किसानों की कर्ज माफी तथा पाटीदार अथवा पटेल समुदाय को आरक्षण की मुख्य मांग को लेकर उनके यहां ग्रीनवुड रिसार्ट में अपने आवास पर गत 25 अगस्त से अनशन शुरू किया था। सरकार ने पूर्व में उनके कार्यक्रमों के दौरान हुई हिंसा के मद्देनजर उन्हें बाहर कही उपवास करने की अनुमति नहीं दी थी।

हार्दिक ने पिछले दो दिन से सरकारी डाक्टरों को अपने रक्त और मूत्र के नमूने जांच के लिए देने से इंकार कर रखा है और उनका यह सिलसिला आज भी जारी रहा। हालांकि यहां सोला सिविल अस्पताल की टीम ने उनके रक्तचाप, हृदय गति और फेफड़े, पेट आदि की रूटीन जांच आज की। डाक्टरों ने बताया कि अनशन के पहले दिन उनका वजन 78 किलो था जो अब घट कर 58 किलो हो गया है। डाक्टरों ने उन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती करने की सलाह दी।

इस बीच, राज्य सरकार के वरिष्ठ मंत्री सौरभ पटेल ने कहा कि तीन साल पहले जब हार्दिक ने आंदोलन शुरू किया था तभी यह कहा गया था कि यह कांग्रेस प्रेरित है और अब भी वह कांग्रेस के इशारे पर ही आंदोलन कर रहे हैं। कांग्रेस के लोग उन्हें पिछले दरवाजे से सलाह दे रहे हैं। सरकार ने गैर आरक्षित वर्ग के लाभ के लिए निगम और आयोग की स्थापना के अलावा भी कई कदम उठाये हैं। किसानों की आय बढ़ाने और उनके खर्च घटाने के लिए भी सरकार ने कई काम किये हैं और कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की योजना राज्य में हिंसा फैलाने की है। हालांकि उन्होंने शांति बनाये रखने के लिए पाटीदार समुदाय को धन्यवाद दिया। उन्होंने हार्दिक को डाक्टरों की बात मानने की सलाह दी।

उधर, हार्दिक के मुद्दे पर राज्य की पाटीदार संस्थाओं की एक बैठक भी आज यहां हो रही है।

image