Sunday, Feb 17 2019 | Time 15:33 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हरियाणा की राष्ट्रपति भवन को मुर्रा भैंस और साहीवाल गाय देने की पेशकश
  • कृषि के क्षेत्र में देश का नेतृत्व करे हरियाणा:कोविंद
  • ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ पहली वाणिज्यिक यात्रा पर वाराणसी के लिए रवाना
  • सीसीआई ने इमरान की तस्वीर ढकी
  • दो पटरियों पर चल रही राजग सरकार की विकास यात्रा : मोदी
  • हरियाणा की राष्ट्रपति भवन को मुर्रा भैंस और साहीवाल गाय देने की पेशकश
  • हरियाणा की राष्ट्रपति भवन को मुर्रा भैंस और साहीवाल गाय देने की पेशकश
  • शहीदों के परिजनों से प्रियंका ने बात की, मदद का भरोसा दिया
  • पुणे ने किया जमशेदपुर का नुकसान, बेंगलुरू प्लेआफ में
  • बीसीसीआई शहीदों के परिवारों को दे 5 करोड़ की मदद : सीके खन्ना
  • मुस्लिम फ्रंट ने की पुलवामा हमले की पुरजोर निंदा
  • सोना 170 रुपये महंगा; चांदी स्थिर
  • शंकराचार्य ने अयोध्या के लिए 'रामाग्रह यात्रा' स्थगित की
  • कृषि के क्षेत्र में देश का नेतृत्व करे हरियाणा: कोविंद
  • अफगानिस्तान में बम विस्फोट से तीन लोगों की मौत
खेल Share

स्तब्ध हरेन्द्र ने हॉकी टीम को लताड़ा

स्तब्ध हरेन्द्र ने हॉकी टीम को लताड़ा

जकार्ता 30 अगस्त (वार्ता) भारतीय हॉकी टीम की एशियाई खेलों के सेमीफाइनल में मलेशिया के हाथों गुरुवार को सडन डैथ में सनसनीखेज़ पराजय से स्तब्ध कोच हरेन्द्र सिंह ने अपनी टीम को इस हार के लिए लताड़ा है।

गत चैंपियन हॉकी टीम इस हार के बाद अपना स्वर्ण पदक नहीं बचा पाई और अब उसे कांस्य पदक के लिए एक सितंबर को चिरप्रतिद्वंदी पाकिस्तान से खेलना होगा जबकि स्वर्ण पदक का मुकाबला मलेशिया और जापान के बीच होगा।

अपनी टीम की हार से हरेन्द्र बेहद क्षुब्ध नजर आये क्योंकि कल तक वह इस टीम को अपराजेय बता रहे थे और आज इस हार के बाद उनके पास शब्द कम पड़ रहे थे।

हरेन्द्र ने मलेशिया को जीत का श्रेय दिया और साथ ही कहा,“ हमने बेहद खराब गलतियां की और इसकी कीमत चुकाई। हम चीजों को सही तरीके से नहीं रख पाये और भारतीय स्किल दिखाने की कोशिश में अपनी लय खो बैठे। यह भारतीय हॉकी के लिए बड़ा झटका है जिससे अगले ओलंपिक की राह बहुत मुश्किल हो गयी है। हमने फाइनल में पहुंचने के आसान मौके गंवाए।”

शूटआउट के लिए कोच ने कहा,“ शूटआउट किसी भी टीम का खेल हो सकता है। हमने निर्धारित समय में गलतियां की और शूटआउट में कोई भी टीम जीत सकती है। फाइनल से बाहर हो जाने के बाद हमें कांस्य पदक जीतने के लिए पूरा जोर लगाना होगा।”

 

image