Wednesday, Sep 19 2018 | Time 12:59 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बिलासपुर घटना की रमन ने दिए मजिस्ट्रेट से जांच के आदेश
  • बहराइच :महिला के साथ अभद्रता का वीडियो वायरल होने के बाद चौकी इंचार्ज निलंबित
  • नशा तस्करों की धमकी के बाद बढ़ायी गयी देव की सुरक्षा
  • पंजाब में 22 जिला परिषदों,150 पंचायत समितियों के लिए मतदान जारी
  • नहर मे डूबने से दो किशोरियों की मौत
  • एससीएसटी एक्ट के खिलाफ महाजन के घर के बाहर प्रदर्शन
  • ट्रंप ने परमाणु निरस्त्रीकरण समझौते का किया स्वागत
  • मुखिया पति ने सरपंच के भाई समेत तीन को मारी गोली, एक की मौत
  • बिहार में भारी मात्रा में शराब बरामद, छह गिरफ्तार
  • कोरियाई प्रायद्वीप में परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर समझौता
  • सिद्धार्थनगर: लेखपाल निलंबित
  • सड़क दुर्घटना में गर्भवती महिला सहित एक की मौत
  • रचनात्मक सोच विकसित कर राजनीतिक दल ढूंढे देश की समस्याओं का हल: हरिवंश सिंह
  • भाजपा शासन में तानाशाही बन गया पेशा : राहुल
  • इमरान सऊदी नेतृत्व के साथ द्विपक्षीय संबंधों पर करेंगे चर्चा
खेल Share

हॉकी टीमों के लिये ओलंपिक की राह हुई मुश्किल

हॉकी टीमों के लिये ओलंपिक की राह हुई मुश्किल

नयी दिल्ली, 02 सितंबर (वार्ता) भारतीय पुरूष और महिला हाॅकी टीमों ने 18वें एशियाई खेलों की हॉकी प्रतियोगिता से सीधे टोक्यो ओलंपिक के लिये टिकट पाने का मौका गंवा दिया और अब उनके लिये 2020 के टोक्यो ओलंपिक की राह मुश्किल हो गयी है।

एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली टीमों को सीधे ही अगले ओलंपिक में प्रवेश मिल जाता। इंडोनेशिया में अगले ओलंपिक के मेजबान जापान ने पुरूष और महिला दोनों वर्गों के स्वर्ण पदक जीत लिये। ओलंपिक मेजबान होने के नाते जापान हॉकी के दोनों वर्गों में खेलेगा।

गत चैंपियन भारत को सेमीफाइनल में मलेशिया से सडन डैथ में 6-7 से हार का सामना करना पड़ा जबकि भारतीय महिला टीम को फाइनल में जापान के हाथों 1-2 की शिकस्त झेलनी पड़ी। इन खेलों के शुरू होने से पहले माना जा रहा था कि भारतीय हॉकी टीमें स्वर्ण पदक के साथ ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर लेंगी लेकिन दोनों टीमों ने निराश किया और मौका गंवा दिया।

इस मौके के हाथ से निकल जाने के बाद अब भारतीय टीमों को अगले दो साल तक ओलंपिक में जगह बनाने की जद्दोजहद करनी होगी। अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ के अनुसार 2019 के आखिर में ओलंपिक क्वालिफिकेशन इवेंट होना है जिसमें टीमों को अपनी चुनौती पेश करनी होगी लेकिन इस तक पहुंचने के लिये प्रक्रिया अब काफी मुश्किल हो गयी है।

एफआईएच के अनुसार ओलंपिक क्वालिफिकेशन इवेंट में जाने के लिये टीमों को हॉकी सीरीज़ फाइनल्स और हॉकी प्रो लीग में हिस्सा लेना होगा। हॉकी सीरीज़ फाइनल्स की शीर्ष दो दो टीमें नये ओलंपिक क्वालिफिकेशन इवेंट में उतरेंगी। इनके साथ हॉकी प्रो लीग के शीर्ष चार देश और 2019 कांटिनेंटल चैंपियनशिप की समाप्ति के बाद विश्व रैंकिंग के वे शीर्ष दो देश शामिल होंगे जो हॉकी सीरीज़ या प्रो लीग के जरिये क्वालीफाई नहीं करते हैं।

12 पुरूष और 12 महिला टीमों को ओलंपिक खेलों के लिये छह स्थान को लेकर प्रतिस्पर्धा करनी होगी। इनके साथ मेजबान जापान और पांच महाद्वीपीय चैंपियन खेलेंगे। पांच महाद्वीपीय चैंपियनों को सीधे ओलंपिक का प्रवेश मिल जाएगा। ओलंपिक क्वालिफिकेशन इवेंट अक्टूबर-नवंबर 2019 में होना निर्धारित है।

राज प्रीति

वार्ता

More News
हांगकांग को हराने में भारत के पसीने छूटे

हांगकांग को हराने में भारत के पसीने छूटे

19 Sep 2018 | 12:32 PM

दुबई, 19 सितम्बर (वार्ता) विश्व की नंबर दो टीम भारत को क्रिकेट का मेमना कहे जाने वाले हांगकांग ने जीत हासिल करने के लिए रुला दिया। भारत ने हांगकांग की कड़ी चुनौती पर बमुश्किल 26 रन की जीत से काबू पाते एशिया कप क्रिकेट के ग्रुप ए सुपर-4 में स्थान बना लिया। भारत को अब बुधवार को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से खेलना है।

 Sharesee more..

19 Sep 2018 | 9:33 AM

 Sharesee more..

19 Sep 2018 | 1:14 AM

 Sharesee more..

19 Sep 2018 | 1:12 AM

 Sharesee more..

हांगकांग को हराने में भारत के पसीने छूटे

19 Sep 2018 | 1:06 AM

 Sharesee more..
image