Wednesday, Jul 17 2019 | Time 18:06 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इंज़माम ने छोड़ा पाकिस्तान बोर्ड के मुख्य चयनकर्ता का पद
  • रात्रि भोज के साथ हिमाचल सरकार की आचार्य देवव्रत को विदाई
  • लखनऊ राजभवन में स्वामी विवेकानन्द की मूर्ति का अनावरण
  • कृष की इच्छामृत्यु के मांग मामले की भागलपुर जिला प्रशासन ने कराई जांच
  • शास्त्री बने रह सकते हैं टीम इंडिया के कोच
  • शेयर बाजार में तीसरे दिन तेजी जारी
  • ट्रेन से कटकर युवती की मौत
  • डिश टीवी ने बुजुर्गों के लिए शुरू की ‘आयुष्मान एक्टिव’ सेवा
  • सोनभद्र में जमीनी विवाद में गोलीबारी, तीन महिलाओं समेत नौ लोगों की मौत
  • इलाहाबाद -दीनदयाल उपाध्याय जं के बीच बिछेगी तीसरी पटरी
  • चिकित्सा परिषद् की जगह राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग के गठन पर मंत्रिमंडल की मुहर
  • हाईकोर्ट ने राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, जिलाधिकारी से मांगा जवाब
  • एनआईए के दुरुपयोग की आशंका जतायी विपक्ष ने
लोकरुचि


मैं अरुणा ईरानी जैसी बनना चाहती हुं-संगीता घोष

मैं अरुणा ईरानी जैसी बनना चाहती हुं-संगीता घोष

इंदौर 7 मार्च (वार्ता) “हम हिंदुस्तानी” नामक धारावाहिक से महज दस वर्ष की आयु में अभिनय प्रारंभ करने वाली मॉडल और अभिनेत्री संगीता घोष ने कहा कि अरुणा ईरानी के साथ काम कर उनसे अभिनय की कई बारीकियां सींखी है।

मिनी मुंबई के नाम से जाने वाला इंदौर में अपने टीवी धारावाहिक दिव्य दृष्टि को प्रमोट करने पहुँची संगीता ने अरुणा ईरानी को अपना प्रेरणा स्त्रोत मानती है। उन्होंने कहा कि “देश में निकला होगा चाँद” धारावाहिक में अरुणा ईरानी के साथ काम करने के बाद मैंने तय किया कि मुझे उन्हीं की तरह ही बनना है।

‘देश में निकला होगा चाँद’ सहित एक दर्जन से अधिक टीवी धारावाहिक में काम कर चुकी संगीता आने वाले 'दिव्य दृष्टि' धारावाहिकक बारे में बताती है कि कई तरह के किरदार निभाने के बाद “दिव्य दृष्टि” में वे एक नकारात्मक किरदार में नजर आयेगी। मुख्य किरदार दिव्य और दृष्टि की कहानी वाले इस धारावाहिक में संगीता एक पिशाचिनी की भूमिका में नजर आने वाली है।

संगीता ने शो की कहानी के बारे में बताया कि नायरा बनर्जी और सना सईद द्वारा अभिनीत दिव्‍य और दृष्टि के पास अलग-अलग तरह की शक्तियां हैं, जो उन्‍हें खास बनाती हैं। हालांकि, उनकी किस्‍मत में कुछ और ही लिखा होता है और बचपन में ही दोनों बिछड़ जाती हैं।

जब शक्तियों की बात आती है तो वह उसी स्थिति में सबसे प्रबल होंगी जब दोनों साथ होंगे। इसलिये, हर पूर्णिमा की रात दोनों एक-दूसरे को ढूंढने के लिये निकलती हैं। भगवान शिव की तरह दृष्टि की तीसरी आंख है जोकि उसे भविष्‍य को देखने में मदद करती है। यह इस बात का प्रतीक है कि आगे क्‍या होने वाला है। दृष्टि को शिव भक्ति और आराधना के फल स्‍वरूप एक रौशनी नज़र आती है और वह इस सोच में पड़ जाती है कि इसका मतलब क्‍या है?

 

More News
बदहाली का शिकार है ऐतिहासिक पक्का तालाब

बदहाली का शिकार है ऐतिहासिक पक्का तालाब

16 Jul 2019 | 2:33 PM

इटावा, 16 जुलाई (वार्ता) अंग्रेज हुक्मरानो के आन,बान और शान का प्रतीक रहा ऐतिहासिक पक्का तालाब अफसरशाहों के उदासीन रवैये की भेंट चढ़ कर अपनी चमक खो चुका है।

see more..
मथुरा में 60 लाख से अधिक लोक कर चुके है गिरि गोवर्धन की परिक्रमा: मिश्र

मथुरा में 60 लाख से अधिक लोक कर चुके है गिरि गोवर्धन की परिक्रमा: मिश्र

15 Jul 2019 | 4:50 PM

मथुरा, 15 जुलाई (वार्ता)उत्तर प्रदेश में मथुरा के गोवर्धन में चल रहे मिनी कुंभ यानी मुड़िया पूनो मेले में अब तक 60 लाख से अधिक तीर्थयात्री गिरि गोवर्धन की सप्तकोसी परिक्रमा कर चुके हैं।

see more..
पन्ना में बाघों का ही नहीं दुर्लभ चौसिंगा का भी बढ़ रहा कुनबा

पन्ना में बाघों का ही नहीं दुर्लभ चौसिंगा का भी बढ़ रहा कुनबा

14 Jul 2019 | 11:12 AM

पन्ना, 14 जुलाई (वार्ता) मध्यप्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व में सिर्फ बाघों का ही कुनबा नहीं बढ़ा अपितु यहां के सुरक्षित वन क्षेत्र में शर्मीले स्वभाव वाले नाजुक आैर खूबसूरत वन्य प्राणी चौसिंगा की भी अच्छी खासी तादाद है।

see more..
मथुरा में शुरू हुई हेलीकॉप्टर से सप्तकोसी गोवर्धन परिक्रमा

मथुरा में शुरू हुई हेलीकॉप्टर से सप्तकोसी गोवर्धन परिक्रमा

13 Jul 2019 | 3:54 PM

मथुरा, 13 जुलाई (वार्ता)उत्तर प्रदेश के मथुरा में मुड़िया पूनो मेंले के दौरान सप्तकोसी गोवर्धन परिक्रमा के लिये शनिवार से हेलीकॉटर सेवा शुरू हो जाने से वरिष्ठ नागरिकों को राहत मिली है।

see more..
मुडिया पूनो मेले के पहले रोज दो लाख ने की गिरिराज की परिक्रमा

मुडिया पूनो मेले के पहले रोज दो लाख ने की गिरिराज की परिक्रमा

12 Jul 2019 | 12:31 PM

मथुरा, 12 जुलाई (वार्ता) उत्तर प्रदेश में कान्हा नगरी मथुरा के गोवर्धन धाम में शुक्रवार से शुरू हुए मुडिया पूनो मेले के पहले दिन दो लाख से अधिक तीर्थयात्रियों ने गिरिराज महाराज की परिक्रमा कर पुण्य कमाया।

see more..
image