Tuesday, Aug 20 2019 | Time 22:14 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ममता दीदी को राज्य में भाजपा के आने पर गुुस्सा नहीं होना चाहिए:अठावले
  • धनखड़ ने मोदी से मुलाकात की
  • पुरी के व्यापार से कोई संबंध नहीं - कमलनाथ
  • इदलिब में किसी भी आतंकवादी हमले का जबाब हम देंगे- रुस
  • जम्मू-कश्मीर में अनेक हिस्सों में हालत सामान्य
  • उप्र में पर्यटन की 66 योजनाओं के लिए 398 49 करोड़ स्वीकृत
  • किसानों को नई सट्टा नीति के तहत गन्ने की पर्चियां होंगी जारी:चौहान
  • उत्तराखंड में भारी बारिश और बाढ़ से अब तक 59 लोगों की मौत
  • रामबिलास शर्मा ने केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री से बातचीत की
  • ई-वीजा शुल्क को बनाया गया आकर्षक-पटेल
  • चिदम्बरम के घर से बैरंग लौटी सीबीआई और ईडी की टीम
  • सहारनपुर पत्रकार हत्याकाण्ड के मुख्य आरोपी समेत तीन गिरफ्तार
  • जम्मू-कश्मीर के लोगों को विश्वास में लिए बिना अनुच्छेद 370 हटाया गया: मुकुल संगमा
  • भारत के बारे में पर्यटकों की राय पता लगाने का निर्देश
  • वन महोत्सव के तहत कोविंद ने किया पौधारोपण
राज्य » बिहार / झारखण्ड


आईएएस के. पी. रमैया ने किया आत्मसमर्पण

आईएएस के. पी. रमैया ने किया आत्मसमर्पण

पटना, 08 मई (वार्ता) बिहार महादलित विकाम निगम में हुए करोड़ो रुपये के घोटाला मामले में आरोपित भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी सह निगम के तत्कालीन मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी के. पी. रमैया ने आज पटना की एक विशेष अदालत में आत्मसमपर्ण किया, जहां बाद में उन्हें जमानत पर मुक्त कर दिया गया।

सतर्कता के विशेष प्रभारी न्यायाधीश विपुल सिन्हा की अदालत में आत्मसपर्मण करने के साथ ही एक नियमित याचिका दाखिल कर श्री रमैया को जमानत पर मुक्त किये जाने की प्रार्थना की गयी थी। जमानत अर्जी पर बहस पटना उच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता वाई. वी. गिरि ने की। बहस के दौरान उन्होंने कहा कि निगम में मात्र 38 दिनों का कार्यकाल उनके मुवक्किल का रहा है तथा प्रश्नगत आदेश पूर्व से जारी थे तथा वह पटना उच्च न्यायालय के आदेश से आत्मसमर्पण कर रहे हैं।

निगरानी के विशेष लोक अभियोजक विजय कुमार सिन्हा ने जमानत का विरोध किया। आवेदन पर सुनवाई के बाद विशेष अदालत ने श्री रमैया को बीस हजार रुपये के निजी मुचलके के साथ उसी राशि के दो जमानत दारों का बंध पत्र (बॉन्ड पेपर) दाखिल करने पर जमानत पर मुक्त किये जाने का आदेश दिया।

मामले में पिछले दिनों श्री रमैया समेत छह लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया गया था। आरोप-पत्र के अनुसार, बिहार महादलित विकास निगम द्वारा इंडस इंगेरेटेड इंफॉर्मेशन मैनेजमेंट लिमिटेड के माध्यम से विभिन्न सरकारी योजनाओं जैसे विकास मित्र, सामुदायिक भवन एवं वर्कशेड निर्माण, दशरथ मांझी कौशल विकास योजना, पोशाक योजना में बिना प्रशिक्षण एवं प्रमाण पत्र जारी किये तथा अतिरिक्त पुस्तकें वितरित कर दो करोड़ रुपये से अधिक की सरकारी राशि का घोटाला किया गया है।

सं.सतीश सूरज

वार्ता

More News
छपरा में अपराधियों के साथ मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी शहीद

छपरा में अपराधियों के साथ मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी शहीद

20 Aug 2019 | 8:47 PM

छपरा 20 अगस्त (वार्ता) बिहार में सारण जिले के मरौढ़ा थाना क्षेत्र के स्टेट बैंक के निकट आज अपराधियों के साथ हुई मुठभेड़ में दारोगा और सिपाही शहीद हो गये ।

see more..
संघ और भाजपा ने स्पष्ट किया है आरक्षण कभी समाप्त नहीं होगा-सुशील

संघ और भाजपा ने स्पष्ट किया है आरक्षण कभी समाप्त नहीं होगा-सुशील

20 Aug 2019 | 8:16 PM

पटना 20 अगस्त (वार्ता) बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आज कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आर एस एस) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कई बार स्पष्ट किया है कि आरक्षण कभी समाप्त नहीं होगा, बावजूद इसके लोगों को भड़काने के लिए संघ प्रमुख मोहन भागवत के वक्तव्य को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है।

see more..
image