Saturday, Sep 21 2019 | Time 05:00 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अमेरिका में बस दुर्घटना में चार लोगों की मौत
  • इराक विस्फोट से नौ की मौत, 4घायल
  • इराक के कर्बला में विस्फोट, 5 की मौत
  • गिरिडीह से नक्सली गिरफ्तार
  • भारत-मंगोलिया सिर्फ रणनीतिक साझेदार ही नहीं, आध्यात्मिक पड़ोसी भी हैं: कोविंद
खेल


बेल्जियम दौरा फाइनल से पहले अहम परीक्षा: श्रीजेश

बेल्जियम दौरा फाइनल से पहले अहम परीक्षा: श्रीजेश

बेंगलुरू, 11 सितंबर (वार्ता) भारतीय पुरूष हॉकी टीम के अनुभवी गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने माना है कि महत्वपूर्ण ओलंपिक क्वालिफायर से पहले होने वाला बेल्जियम दौरा टीम के लिये फाइनल परीक्षा से पूर्व तैयारी के लिहाज़ से काफी अहम साबित होगा।

भारतीय टीम 26 सितंबर से 3 अक्टूबर तक बेल्जियम के दौरे पर रवाना होगी जहां वह ओलंपिक क्वालिफायर की तैयारियों को अंतिम रूप प्रदान करेगी। भारत की सीनियर पुरूष हॉकी टीम एफआईएच ओलंपिक क्वालिफायर में रूस के साथ खेलेगी जिसकी घोषणा सोमवार को ड्राॅ में की गयी थी।

श्रीजेश ने बुधवार को कहा,“ हर खिलाड़ी का सपना ओलंपिक में खेलने का होता है और रूस अब हॉकी में भी काफी मेहनत कर रहा है और निश्चित ही उसकी टीम काफी तैयारी के साथ उतरेगी जो भारतीय टीम के लिये बड़ी चुनौती साबित हो सकती है।”

अंतरराष्ट्रीय संस्था ने काफी समय से लगायी जा रही अटकलों के बाद ड्रॉ निकाल विपक्षी टीमों की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि एफआईएच ने काफी असमंजस पैदा करने के बाद ओलंपिक क्वालिफायर का ड्रॉ निकाला जो काफी रोमांचक रहा और सभी खिलाड़ियों में इस बात को लेकर बहुत उत्साह था कि विपक्षी टीम कौन सी होगी। सभी ने मिलकर इस ड्रॉ को देखा। लेकिन भारतीय टीम किसी भी विपक्षी का सामना करने को लेकर मानसिक रूप से तैयार थी।

श्रीजेश ने टीम की पांचवीं रैंकिंग बरकरार रखने का इरादा जताते हुये कहा कि बेल्जियम दौरा खिलाड़ियों को और मजबूत बनायेगा और बड़ी टीमों का सामना करने के लिये तैयार करेगा। भुवनेश्वर में एक और दो नवंबर को ओलंपिक क्वालिफायर मुकाबले होने हैं। उन्होंने कहा,“विश्व चैंपियन बेल्जियम के साथ खेलना हमारी तैयारियों को परखने के लिये असल परीक्षा होगी। हम बेहतर डिफेंस, पेनल्टी कार्नर को भुनाने और गोल के मौके बनाने जैसी तकनीकों पर काम कर रहे हैं और कोशिश रहेगी कि बेल्जियम के खिलाफ हम इसे लागू कर सकें।”

अनुभवी गोलकीपर ने अन्य गोलकीपर विकल्पों को लेकर कहा कि उनके साथी सूरज कारकेरा और कृष्ण पाठक ने टोक्यो में ओलंपिक टेस्ट इवेंट में अच्छा प्रदर्शन किया था और वे अच्छे विकल्प हैं। उन्होंने कहा,“ दोनों ही बढ़िया गोलकीपर हैं। टीम के अंदर प्रतिस्पर्धा होना अच्छी बात होती है और इन्हें सिखाने में मुझे मजा आता है क्योंकि इससे मेरा निजी खेल और भी बेहतर होता है।”

प्रीति

वार्ता

More News
भारत ने बंगलादेश को 34 रन से हराया

भारत ने बंगलादेश को 34 रन से हराया

20 Sep 2019 | 11:28 PM

लखनऊ, 20 सितम्बर (वार्ता) आर्यन जुयाल (69) और बी आर सारथ (42) के दमदार प्रदर्शन की बदौलत भारत ने पांच मैचो की अंडर-23 एक दिवसीय श्रृखंला के पहले मैच में शुक्रवार को मेहमान बंगलादेश को 34 रनों से हरा कर जोशीली शुरूआत की।

see more..
भारत ने बहरीन को 5-0 से हराया

भारत ने बहरीन को 5-0 से हराया

20 Sep 2019 | 11:28 PM

ताशकंद, 20 सितम्बर (वार्ता) भारत की युवा टीम ने अपना शानदार प्रदर्शन बरकरार रखते हुए एएफसी अंडर-16 फुटबाल चैम्पियनशिप क्वालीफायर्स के ग्रुप बी के अपने दूसरे मैच में शुक्रवार को बहरीन को 5-0 से हरा दिया। भारत ने इससे पूर्व अपने पहले मैच में तुर्कमेनिस्तान को 5-0 से हराया था।

see more..
प्रथम उप विजेता बन लौटी यूपी जूनियर वुशू टीम

प्रथम उप विजेता बन लौटी यूपी जूनियर वुशू टीम

20 Sep 2019 | 11:28 PM

लखनऊ, 20 सितम्बर (वार्ता) चण्डीगढ़ में सम्पन्न 18वीं राष्ट्रीय जूनियर वुशू प्रतियोगिता में उत्तर प्रदेश वुशू टीम ने नौ स्वर्ण, चार रजत एवं आठ कांस्य पदक समेत कुल 21 पदक जीते है।

see more..
लेडी श्रीराम कॉलेज ने किया वार्षिक दौड़ का आयोजन

लेडी श्रीराम कॉलेज ने किया वार्षिक दौड़ का आयोजन

20 Sep 2019 | 9:47 PM

नयी दिल्ली, 20 सितम्बर (वार्ता) राजधानी के लेडी श्रीराम कॉलेज के शारीरिक शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को वार्षिक दौड़ का आयोजन किया जिसे केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने हरी झंडी दिखाई।

see more..
दिल्ली वूशु टीम ने जूनियर नेशनल में 9 स्वर्ण सहित 22 पदक जीते

दिल्ली वूशु टीम ने जूनियर नेशनल में 9 स्वर्ण सहित 22 पदक जीते

20 Sep 2019 | 9:47 PM

नयी दिल्ली, 20 सितम्बर (वार्ता) दिल्ली वुशु टीम ने चंडीगढ़ में 18वीं जूनियर नेशनल वुशू चैम्पियनशिप के अंतिम दिन अच्छा प्रदर्शन करते हुए 2 स्वर्ण, 2 रजत और 4 कांस्य पदक पर कब्जा किया। दिल्ली ने कुल 9 स्वर्ण, 8 रजत और 5 कांस्य पदक सहित 22 पदक जीते। दिल्ली की ताओलु टीम को मणिपुर और मध्य प्रदेश के बाद तीसरा स्थान मिला।

see more..
image