Wednesday, Sep 26 2018 | Time 06:08 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चुनाव कराना राष्ट्रीय हित में नहीं: थेरेसा मे
  • तेलंगाना में रिश्वत लेने के मामले अधिकारी समेत दो गिरफ्तार
  • टाई रहा भारत और अफगानिस्तान का रोमांचक मुकाबला
  • जम्मू निकाय चुनाव के लिए 815 उम्मीदवारों ने भरे पर्चे
  • पश्चिमी पाकिस्तान का शरणार्थी एक प्रतिनिधि मंडल जितेंद्र सिंह से मिला
दुनिया Share

बहुसंस्कृति की दुनिया में हर जुबान एक खजाना

बहुसंस्कृति की दुनिया में हर जुबान एक खजाना

गोस्वामी तुलसीदास नगर (मॉरिशस) 19 अगस्त (वार्ता) विश्व हिन्दी सम्मेलन में विश्व के विभिन्न हिस्से से आये हिन्दी के विद्वानों का मत है कि हिन्दी खतरे में नहीं है और बहुसंस्कृति की दुनिया में हर जुबान एक खजाना है।

सम्मेलन में ‘हिन्दी शिक्षण में भारतीय संस्कृति’ विषय पर आयोजित सत्र में स्वीडन से आये हैंस वेसलर वेज ने कहा, “आज हम बहुसंस्कृति की दुनिया में रहते हैं, जहां हर जुबान एक खजाना है। अलग-अलग भाषाओं की अलग-अलग संस्कृति होती है। जैसे-जैसे हम लोगों की जुबान को समझते हैं वैसे-वैसे उनकी संस्कृति को भी जानने लगते हैं।” उन्होंने कहा कि जर्मनी और फ्रांस में मूल निवासी भी हिन्दी सीखते हैं। हिन्दी खतरे में नहीं है। धीरे-धीरे ही सही अब विश्व के हर हिस्से में हिन्दी बोलने वालों की संख्या बढ़ रही है।

पेंसिलवानिया विश्वविद्यालय, कार्नेल विश्वविद्यालय और विस्कांसिन विश्वविद्यालय में अध्ययन-अध्यापन के साथ अमरीकन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडियन स्टडीज के भाषा-विभाग के लंबे समय तक अध्यक्ष रहे डॉ. सुरेन्द्र गंभीर ने कहा कि शास्त्रीय मूल्य शाश्वत होते हैं। विदेशी विद्यार्थी के मन में तमाम जिज्ञासाएं होती हैं और वह उनके बारे में जानना चाहता है। उन्होंने कहा कि संसार की भाषाओं का अनेक प्रकार से वर्गीकरण किया गया है। प्रथम वर्ग में अंग्रेजी, फ्रेंच, जर्मनी, चीनी, जापानी, अरबी, हिब्रू है जबकि द्वितीय वर्ग में हिन्दी, भोजपुरी, अवधी आदि भाषाएं है। बड़ी और छोटी दोनों भाषाओं में संस्कृति सुरक्षित है।

शिवा. उपाध्याय

जारी (वार्ता)

More News
गरीबी से लडने के भारत के प्रयासाें की ट्रंप ने की सराहना

गरीबी से लडने के भारत के प्रयासाें की ट्रंप ने की सराहना

25 Sep 2018 | 11:19 PM

न्यूयार्क, 25 सितंबर(वार्ता) अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंंप ने गरीबी से लडने के भारत के प्रयासाें की जमकर सराहना की है।

 Sharesee more..
किसी को आतंकवाद का समर्थन करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए: सुषमा

किसी को आतंकवाद का समर्थन करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए: सुषमा

25 Sep 2018 | 8:35 PM

न्यूयाॅर्क 25 सितंबर (वार्ता) भारत ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा है कि जब दुनिया कई तरह के संघर्षों का सामना कर रही है तब किसी भी देश को आतंकवाद का समर्थन करने और उसे संरक्षण देने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

 Sharesee more..

25 Sep 2018 | 7:43 PM

 Sharesee more..
image