Thursday, Jul 18 2019 | Time 10:58 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • 4167 यात्रिओं का नया जत्था अमरनाथ रवाना
  • कुमारस्वामी सरकार का होगा शक्ति परीक्षण
  • लोगों को मिलेगी उच्च स्तरीय स्वास्थ्य सेवा
  • ममता ने नेल्सन मंडेला, मेहदी हसन को किया याद
  • जापान के एनीमेशन स्टूडियो में लगी आग, 30 घायल
  • सोनभद्र में खूनी संघर्ष में मृतक संख्या बढ़कर हुई 10
  • जाधव मामले में पाकिस्तान की जीत हुयी : कुरैशी
  • शरीफ परिवार की संपत्तियों को जब्त करने का आदेश
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 19 जुलाई)
  • गाजियाबाद में एक लाख का इनामी बदमाश मुठभेड़ में ढेर
  • कार्यवाहक रक्षा सचिव ने सीमा पर अधिक सेना भेजने की मंजूरी दी
  • पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में 13 घायल
  • नए करार के लिए रुस जा सकते हैं मादुरो : जॉर्ज
  • हवाई हमले में आईएस के दो आतंकवादी मारे गए
  • बंदूकधारी ने की संरा शांतिसैनिक सहित सात लोगों की हत्या
राज्य » उत्तर प्रदेश


शताब्दी एक्सप्रेस मे गांधीधारी को सफर से रोका

शताब्दी एक्सप्रेस मे गांधीधारी को सफर से रोका

इटावा ,06 जुलाई (वार्ता) देश की अति प्रतिष्ठित ट्रेनों की फेहरिस्त में शामिल शताब्दी एक्सप्रेस में एक बुजुर्ग को उसके लिबास की वजह से सफर करने से रोक दिया गया।

     सुनने में यह अटपटा जरूर लगता है लेकिन बुजुर्ग ने इस बाबत अपनी शिकायत रेलवे प्रशासन को दर्ज करायी है और इसकी तस्कीद भी कर ली गयी है। यह बेहूदा वाक्या दिल्ली हावडा रेलमार्ग पर उत्तर प्रदेश के इटावा जंक्शन रेलवे स्टेशन पर हुआ जहां शताब्दी एक्सप्रेस मे टिकट कंफर्म के बावजूद 72 वर्षीय बुजुर्ग को सिर्फ इसलिए सफर नही करने दिया गया क्योंकि वह न सिर्फ महात्मा गांधी नुमा मटमैली धोती और पैरों में हवाई चप्पल पहनी थी बल्कि हाथो मे पोटली और छाता भी लिये हुए थे ।

       इटावा के रेलवे जक्शंन अधीक्षक पूरनमल मीना ने शनिवार को बताया कि जिन बुजुर्ग ने अपनी शिकायत दर्ज कराई है उनसे उनकी मुलाकात नही हुई लेकिन जो कुछ शिकायत पुस्तिका मे दर्ज है केवल उस की ही जानकारी है इसलिए इस बारे मे बहुत ज्यादा बताने की स्थिति मे नही है ।

       शताब्दी एक्सप्रेस मे तैनात ऑन डयूटी राजकीय रेलवे पुलिस के सिपाही और कोच सहायक की अभद्रता के शिकार बाबा रामअवधदास ने बताया कि वह बाराबंकी में रहते हैं और भक्तों के घर जाते रहते हैं । इटावा के इंद्रापुरम में भक्त सत्यदेव के घर आए थे और यहां से उन्हें गाजियाबाद के विजय नगर निवासी भक्त के घर जाना था लेकिन शताब्दी एक्सप्रेस मे उनके साथ जिस ढंग का अनाचारी व्यवहार उनके साथ सिपाही और कोच सहायक की ओर से किया गया जिससे वो बहुत ही आहत है।

बुजुर्ग का कहना है कि उन्होने महात्मा गांधी के साथ दक्षिण अफ्रीका मे रेलगाडी मे टिकट होने के बावजूद उतारे जाने की घटना को देखा तो नही था लेकिन आज अपने साथ शताब्दी एक्सप्रसे मे हुई घटना से एहसास जरूर कर लिया कि गांधी जी के साथ कैसा व्यवहार अंग्रेजो ने किया होगा ।

      बाराबंकी के ग्राम मूसेपुर थुरतिया के बाबा रामअवध दास ने इटावा जंक्शन से गाजियाबाद के लिए पिछले गुरुवार को कानपुर से नई दिल्ली के मध्य चलने वाली रिवर्स शताब्दी एक्सप्रेस (12033) का टिकट ऑनलाइन बुक किया था । ट्रेन के सी-2 कोच में 72 नंबर सीट कंफर्म थी, इसका उल्लेख आरक्षण चार्ट में भी किया गया । ट्रेन सुबह 7 बजकर 40 मिनट पर इटावा जक्शंन आई तो वह निर्धारित कोच में चढ़ने लगे कि गेट पर मौजूद सिपाही ने उनको टोका । इस दौरान कोच कंडक्टर भी गेट पर आ गया । उसने बुजुर्ग का हुलिया देख उसका मजाक भी उड़ाया । सिपाही के अभद्रता करने पर उन्होंने टिकट दिखाया लेकिन उनकी बात सुनी नहीं गई । दो मिनट का समय पूरा होते ही 7 बजकर 42 मिनट पर शताब्दी चल पडी , इससे वह ट्रेन में सवार नहीं हो पाए ।

     कन्फर्म टिकट होने के बाद भी शताब्दी में चढ़ने से 72 वर्षीय बाबा रामअवध दास को रोकने के बाद नाराज बुजुर्ग स्टेशन मास्टर प्रिंस राज यादव के पास पहुंचे । स्टेशन मास्टर ने उन्हें बैठाया और बात सुनकर उनकी नाराजगी को दूर करने का प्रयास करते हुए उनको मगध एक्सप्रेस से गाजियाबाद भिजवाने की बात कही पर बुजुर्ग शताब्दी मे ऑन डयूटी तैनात सिपाही और कोच सहायक से इतने नाराज थे कि उन्होने एक नही सुनी । उन्होंने शिकायत पुस्तिका में शिकायत दर्ज करवाकर कहा कि इस अपमान ने आहत किया है, रेलमंत्री से इसकी शिकायत करेगे । इसके बाद ट्रेन के बजाय बस से गाजियाबाद रवाना हो गये ।

 

More News
गाजियाबाद में एक लाख का इनामी बदमाश मुठभेड़ में ढेर

गाजियाबाद में एक लाख का इनामी बदमाश मुठभेड़ में ढेर

18 Jul 2019 | 8:20 AM

गाजियाबाद, 18 जुलाई (वार्ता) उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद के साहिबाबाद क्षेत्र में पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर मुठभेड़ में कार सवार एक लाख रुपये के इनामी कुख्यात बदमाश को मार गिराया जबकि उसके दो साथी भागने में सफल रहे।

see more..
image