Saturday, May 30 2020 | Time 20:29 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • प्रशासनिक अधिकारी को सेवानिवृत्ति पर भावपूर्ण विदाई
  • गुरूग्राम से 1600 यात्रियों को लेकर रेलगाड़ी पश्चिम बंगाल रवाना
  • कोरोना :जगन्नाथ रथयात्रा में श्रद्धालु नहीं होंगे शामिल
  • प्रवासियों के साथ बिहार में रह रहे लोगों के रोजगार पर भी दिया जा रहा विशेष ध्यान
  • आर्म्स एक्ट मामले में दोषी को तीन साल की सजा
  • कर्नाटक में सार्वजनिक स्थलों पर थूकने पर पाबंदी
  • ओडिशा में बस पुल के पास गिरी, छह प्रवासी घायल
  • फोटो कैप्शन पहला सेट
  • ‘कान्टेक्ट ट्रेसिंग और पेशेंट केयर मेनेजमेंट’ से जल्द स्थिति में होगा सुधार: उत्पल
  • भोजपुर में करंट लगने से दो किसान की मौत
  • भारत में लद्दाक क्षेत्र से चीन की घुसपैठ गंभीर मसला -मानवेंद्र
  • दिल्ली में कोरोना के सर्वाधिक 1163 नये मामले
राज्य » उत्तर प्रदेश


बेहतर बिजली व्यवस्था के लिए की दरों में वृद्धि :रमाशंकर सिंह पटेल

बेहतर बिजली व्यवस्था के लिए की दरों में वृद्धि :रमाशंकर सिंह पटेल

वाराणसी, 12 सितंबर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के ऊर्जा राज्यमंत्री रमाशंकर सिंह पटेल ने गुरुवार को यहां कहा कि बेहतर बिजली व्यवस्था के लिए उसकी दरों में वृद्धि की गई है।

श्री पटेल ने विद्युत विभाग के अधिकारियों के साथ वाराणसी मंडल की विद्युत व्यवस्था की समीक्षा के बाद संवादताओं को संबोधित किया। उन्होंने राज्य में बिजली की दरों में वृद्धि को जायज ठहराते हुए कहा कि जनता बेहतर बिजली व्यवस्था चाहती है। सरकार ने दरों में वृद्धि जनता को अधिक सुविधा देने के उद्देश्य से की है। ज्यादातर लोगों को बिजली की दरों में वृद्धि से कई शिकायत नहीं है।

उन्होंने वाराणसी में बार-बार अघोषित बिजली कटौती के सवाल पर कहा कि यह अस्थायी समस्या मांग एवं आपूर्ति के अलावा आपूर्ति व्यवस्था में खराबी के कारण पिछले दिनों लोगों कुछ परेशानियां हुई थीं, जिसे अब दूर कर लिया गया है। अब ऐसी समस्या नहीं आएगी और पूर्व निर्धारित योजना के तहत गांव, शहर एवं महानगर इलाके में बिजली की आपूर्ति बिना किसी बाधा के 15, 20 और 24 घंटे की जा रही है।

श्री पटेल ने कहा अब शहर से लेकर गांव तक बिजली एक जरूरत बन गई है तथा राज्य सरकार 2022 तक गांवों में भी 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने की दिशा में काम कर रही है।

ऊर्जा राज्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि रात में कटौती बिल्कुल नहीं की जाए। ट्रांसफार्मर 24 से 48 घंटे के बीच में बदले जाएं और उपभोक्ताओं की शिकायत प्राथमिकता के आधार पर हल किये जाएं।

उन्होंने विद्युत विभाग के अधिशासी अभियंता स्तर के अधिकारियों को क्षेत्र में भ्रमण करने एवं एसडीओ, जेई और लाइनमैन के कार्यों पर निगाह रखने के निर्देश दिए हैं। निचले स्तर पर छोटी-छोटी कमियों, खराबी आदि गंभीरता से लेते हुए उसे हल की जाए ताकि जनता के बीच सरकार की अच्छी छवि बनी रहे।

श्री पटेल ने कहा कि किसानों को खेती के उपयोग के लिए दिन में बिजली सप्लाई की व्यवस्था की गई है। इसके लिए अलग किसान फीडर लगाए गए हैं, जिनसे प्रातः पांच बजे से शाम सात बजे तक बिजली आपूर्ति की जाती है। किसान दिन में अपने सिंचाई के कार्य कर सकें और रात में आराम से सो सकें। इसी उद्देश्य से ये व्यवस्था की गई है।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि बिजली के जो भी कार्य पूर्ण हो, उनका स्थानीय सांसद एवं विधायक से उद्घाटन कराएं।

बैठक में विद्युत विभाग की पंडित दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना,सौभाग्य योजना,आईपीडीएस, बिजनेस प्लान आदि की बिंदुवार एवं जिलेवार समीक्षा हुई। समीक्षा के बाद राज्यमंत्री ने संतोष व्यक्त किया।

बीरेंद्र त्यागी

वार्ता

More News
केन्द्र सरकार सबका साथ, सबका विकास और सबका विस्वास पाने में रही असमर्थ: रालोद

केन्द्र सरकार सबका साथ, सबका विकास और सबका विस्वास पाने में रही असमर्थ: रालोद

30 May 2020 | 8:13 PM

लखनऊ, 30 मई(वार्ता)राष्ट्रीय ल़ोकदल ने केन्द्र सरकार के द्वितीय कार्यकाल का एक वर्ष पूरा होने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास जीतने में सरकार नाकाम रही है।

see more..
image