Monday, Sep 16 2019 | Time 16:50 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अनुच्छेद 370 और तीन तलाक पर अलग राय से बिहार के लोगों को होती है तकलीफ : गिरिराज
  • मथुरा में यमुना एक्सप्रेस पर बस डिवाइडर से टकराई, दस लोग घायल
  • मोदी दो दिन के गुजरात दौरे पर, कल जन्मदिन के मौके पर मां हीराबा से लेंगे आशीर्वाद
  • तेजस्वी और गिरिराज में सांठगांठ, नीतीश के खिलाफ दोनों कर रहे हैं षडयंत्र-महेश्वर
  • फैक्टरी में गैस रिसाव से लगी आज में दस लोग झुलसे, चार की हालत गम्भीर
  • निर्यातकोें की हरसंभव मदद करेगी सरकार: पीयूष
  • निर्यातकोें की हरसंभव मदद करेगी सरकार: पीयूष
  • विनेश, दिव्या और साक्षी पर रहेंगी निगाहें
  • सऊदी तेल संयंत्रों पर हमले से लुढ़का शेयर बाजार
  • सोनीपत में युवक और किन्नर ने की खुदकुशी
  • अवैध हथियारों की फैक्ट्री का पर्दाफाश, चार गिरफ्तार
  • जौनपुर में स्नान करते समय गोमती में दो छात्र डूबे
  • भाजपा प्रदेशाध्यक्षों का एक बार फिर हो सकता है चुनाव-भजनलाल
  • पाकिस्तान में टायर फैक्ट्री में आग लगी, मजदूर फंसे
India


अपने खिलाफ याचिका की त्वरित सुनवाई का इंडिया बुल्स का आग्रह

अपने खिलाफ याचिका की त्वरित सुनवाई का इंडिया बुल्स का आग्रह

नयी दिल्ली, 12 जून (वार्ता) इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (आईबीएचएफएल) ने अपने खिलाफ सार्वजनिक धन के दुरुपयोग का आरोप लगाने वाली एक याचिका पर तत्काल सुनवाई के लिए उच्चतम न्ययालय से अनुरोध किया है।
आईबीएचएफएल ने एक दुग्ध विक्रेता की ओर से दायर याचिका को ओछी हरकत करार देते हुए कहा कि इसने कंपनी को काफी नुकसान पहुंचाया है।
आईबीएचएफएल की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी की अध्यक्षता वाली अवकाशकालीन खंडपीठ के समक्ष मामले का विशेष उल्लेख किया और त्वरित सुनवाई का आग्रह भी किया।
सुनवाई के दौरान श्री सिंघवी ने पीठ से कहा कि याचिका में कंपनी के खिलाफ बेबुनियाद आरोप लगाए गए हैं और इसे मीडिया में लीक किया जा रहा है। उन्होंने दलील दी कि मीडिया रिपोर्टों के कारण आईबीएचएफएल के शेयरों को नुकसान उठाना पड़ रहा है और न्यायालय को संबंधित याचिका की त्वरित सुनवाई करनी चाहिए।
न्यायालय ने कहा कि वह आईबीएचएफएल के खिलाफ दायर याचिका को सूचीबद्ध करने पर जल्द फैसला लेगा।
इससे पहले आईबीएचएफएल ने गत सोमवार को शीर्ष अदालत में कंपनी के खिलाफ 98,000 करोड़ रुपये की हेराफेरी के आरोप में दायर याचिका को उसकी छवि खराब करने और लक्ष्मी विलास बैंक के साथ उसके विलय में अड़ंगा डालने की चाल करार दिया।
कंपनी ने कहा कि दुग्ध विक्रेता अभय यादव ने कंपनी के सिर्फ चार शेयर खरीदे हैं और उनकी ओर से दायर याचिका कंपनी की छवि धूमिल करने का एक निराशापूर्ण प्रयास है।
सुरेश आशा
वार्ता

More News
दूरदर्शन करेगा पेशेवरों की नियुक्ति

दूरदर्शन करेगा पेशेवरों की नियुक्ति

16 Sep 2019 | 4:14 PM

नयी दिल्ली, 16 सितंबर (वार्ता) सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने टेलीविजन को देशवासियों के जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा बताते हुए दूरदर्शन की गुणवत्ता में सुधार करने का सुझाव दिया है।

see more..
आजाद ने जताया उच्च्तम न्यायालय का आभार

आजाद ने जताया उच्च्तम न्यायालय का आभार

16 Sep 2019 | 4:02 PM

नयी दिल्ली, 16 सितम्बर (वार्ता) कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने अपने गृह राज्य जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद वहां जाने की इजाजत मिलने पर खुशी जाहिर करते हुए इसके लिए उच्चतम न्यायालय का आभार जताया है।

see more..
अगस्त में थोक मुद्रास्फीति स्थिर

अगस्त में थोक मुद्रास्फीति स्थिर

16 Sep 2019 | 3:57 PM

नयी दिल्ली, 16 सितंबर (वार्ता) बाजार में अावक बनी रहने से अगस्त 2019 में थोक मूल्यों पर आधारित मुद्रास्फीति की दर पिछले महीने के मुकाबले 1.08 प्रतिशत पर स्थिर दर्ज की गयी है।

see more..
image