Monday, Nov 18 2019 | Time 12:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सबसे ज्यादा विरोध करने वाले से दोस्ती करो, संसद ठीक चलेगी:आजाद
  • उच्चतम न्यायालय आईएनएक्स
  • दिल्ली में पेयजल को लेकर मंत्रियों के बयान विरोधाभासी : आप
  • जेएनयू विवाद समाधान के लिए वी एस चौहान की अगुवाई में उच्च स्तरीय समिति गठित
  • बस - ट्रक भिड़ंत में 11 लोगों की मौत, 28 घायल
  • उद्वव का अयोध्या दौरा स्थगित
  • वडोदरा में पांच जुआरी गिरफ्तार
  • आईएनएस मीडिया जमानत मामला : सुप्रीम कोर्ट चिदंबरम की याचिका पर मंगलवार को करेगा सुनवाई।
  • अंसाजे के प्रत्यर्पण को लेकर लंदन कोर्ट में सुनवाई
  • कांग्रेस विधायक तनवीर पर जानलेवा हमला
  • जौनपुर में मुठभेड़ में 25 हजार का इनामी बदमाश घायल
  • बलरामपुर में कार पलटने से तीन की मौत
  • प्रख्यात नृत्यांगना सोनल मानसिंह सम्मानित
  • ट्रक के पलटने से छह बच्चों की मौत
  • सभी मुद्दों पर खुलकर चर्चा के लिए तैयार : मोदी
भारत


भारत और कोमोरोस करेंगे रक्षा, स्वास्थ्य और शिक्षा में सहयोग

भारत और कोमोरोस करेंगे रक्षा, स्वास्थ्य और शिक्षा में सहयोग

नयी दिल्ली 11 अक्टूबर (वार्ता) भारत और अफ्रीकी देश कोमोरोस ने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूती देते हुए शुक्रवार को रक्षा तथा स्वास्थ्य क्षेत्र में सहयोग करने समेत छह सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर किये।

दोनों देशों के बीच काेमोरोस की राजधानी मोरोनी में उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु अौर कोमाेरोस के राष्ट्रपति अजाली असौमानी की मौजूदगी में छह क्षेत्रों में सहयोग करने संबंधी सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर किये गये। इनमें रक्षा आैर स्वास्थ्य के अलावा औषधि, कला और संस्कृति तथा शिक्षा के क्षेत्र में सहयोग पर सहमति पत्र शामिल है। इनके अलावा दोनों के देशों के राजनयिक आैर अाधिकारिक पासपोर्ट धारकों को बिना वीजा यात्रा की अनुमति देने से संबंधित सहमति पत्र भी हस्ताक्षर हुए।

इस दौरान श्री असौमानी ने श्री नायडु को काेमोरोस के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘आर्डर ऑफ द ग्रीन क्रीसेंट’ प्रदान किया।

इससे पूर्व दो अफ्रीकी देशों की यात्रा के पहले चरण में कोमोरोस पहुंचे श्री नायडु ने श्री असौमानी के साथ द्विपक्षीय मामलों पर चर्चा की। शिष्टमंडल स्तर की बातचीत के दाैरान श्री नायडु ने जम्मू कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बताया जिसका कोमाेरोस के राष्ट्रपति ने समर्थन किया। उप राष्ट्रपति ने कहा कि भारत के एक पड़ोसी देश के अलावा अन्य सभी पड़ोसी देशों के साथ मित्रवत् संबंध हैं।

सत्या सचिन

जारी वार्ता

More News
आरसेप से हटना भारत की ऐतिहासिक चूक:चीनी थिंक टैंक

आरसेप से हटना भारत की ऐतिहासिक चूक:चीनी थिंक टैंक

18 Nov 2019 | 11:47 AM

नयी दिल्ली 18 नवंबर (वार्ता) क्षेत्रीय समग्र आर्थिक साझेदारी (आरसेप) समझौते से हटने के भारत के फैसले को चीन के विश्लेषकों ने एक ऐतिहासिक चूक करार दिया है और कहा है कि भारत ऐसा करके वैश्विक स्तर पर औद्योगिक ताकत बनने के बड़े मौके को गंवा रहा है।

see more..
सभी मुद्दों पर खुलकर चर्चा के लिए तैयार : मोदी

सभी मुद्दों पर खुलकर चर्चा के लिए तैयार : मोदी

18 Nov 2019 | 11:46 AM

नयी दिल्ली 18 नवंबर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि संसद के शीतकालीन सत्र में सरकार सभी मुद्दों पर खुलकर चर्चा के लिए तैयार है तथा उम्मीद जताई कि यह सत्र देश को विकास के रास्ते पर और आगे ले जायेगा।

see more..
image