Wednesday, Sep 19 2018 | Time 07:34 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मैटिस ने अपने इस्तीफे की खबरों को किया खारिज
  • यमन के लाल सागर में 17 मछुआरों की हत्या
  • अमेरिका और पोलैंड करेंगे सैन्य और खुफिया संबंधों को सुदृढ़
  • आईसीसी ने शुरू की म्यांमार से रोहिंग्याओं के पलायन की जांच
  • हांगकांग को हराने में भारत के पसीने छूटे
  • गाजा में प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी, दो की मौत 46 घायल
  • प्रधानमंत्री से सिक्किम दौरा स्थगित करने की मांग
दुनिया Share

भारत और म्यांमार के राखिन सरकार के बीच दो समझौतों पर हस्ताक्षर

भारत और म्यांमार के राखिन सरकार के बीच  दो समझौतों पर हस्ताक्षर

यांगून 12 सितम्बर (वार्ता) भारत ने म्यांमार के साथ संबंधों को सुदृढ़ करने के तहत उसके अशांत प्रांत राखिन को मदद मुहैया कराने के लिए बुधवार को दो समझौतों पर हस्ताक्षर किये। इस प्रांत से बड़ी संख्या में अल्पसंख्यक रोहिंग्या मुसलमानों का पलायन हुआ है।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार राखिन प्रांत के मुख्यमंत्री यू एन पु की उपस्थिति में म्यांमार में भारत के राजदूत विक्रम मिसरी और म्यांमार के कृषि मंत्री यू के लविन,सामाजिक मामलों के मंत्री चान थार तथा वन एवं खनन मंत्री लिवस्टॉक के बीच दो समझौतों पर हस्ताक्षर किये गये।

सूत्रों के अनुसार इस समझौते के तहत भारत राखिन सरकार को 15 टैक्टर और फसल कटाई करने वाला 15 क्राॅलर मुहैया करायेगा।

भारतीय उच्चायोग द्वारा जारी बयान के अनुसार समझौते का मकसद राखिन में कृषि को बढ़ावा देना है। इसके अलावा समझौते का मकसद इस प्रांत के युवकों को क्म्यूटर की शिक्षा प्रदान करना भी है ताकि उन्हें सॉफ्टवेयर क्षेत्र में रोजगार मिल सके। बयान में कहा गया कि भारत, म्यांमार के साथ विकास कार्यों में महत्वपूर्ण भागीदारी निभाने के लिए प्रतिबद्ध है।

image