Tuesday, Feb 19 2019 | Time 13:05 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तेलंगाना में मंत्रिमंडल विस्तार, 10 नये मंत्री शामिल
  • जैश के आतंकियों का मारा जाना बड़ी कामयाबी: राजनाथ
  • शहीद श्योराम का राजकीय सम्मान से अंतिम संस्कार
  • सेरेना टॉप 10 में शामिल, ओसाका शीर्ष पर कायम
  • भाजपा के प्रचार के लिए आरबीआई दे रही अंतरिम लाभांश: कांग्रेस
  • जातीय अत्याचार और भ्रष्टाचार देश की तरक्की का दुश्मन : मोदी
  • कर्नाटक में सड़क हादसे में दो लोगों की मौत, चार घायल
  • दिल्ली के नरेला में जूता फैक्ट्री में आग लगी
  • मोदी और सऊदी शाहजादे की बैठक बुधवार को
  • मोदी ने रविदास मंदिर में टेका मत्था, किया पर्यटन योजना का शिलान्यास
  • अब एक ही इमरजेंसी नंबर ‘112’
  • ट्रक और सवारी गाड़ी की टक्कर में चार मजदूरों की मौत ,नौ घायल
  • सेना ने घाटी में बंदूक उठाने वालों को दी चेतावनी
  • मोदी ने छत्रपति शिवाजी की जयंती पर दी श्रद्धांजलि
बिजनेस Share

भारतीय विमान कंपनियों को 1.9 अरब डॉलर का घाटा होने का अनुमान

भारतीय विमान कंपनियों को 1.9 अरब डॉलर का घाटा होने का अनुमान

नयी दिल्ली 04 सितंबर (वार्ता) लागत मूल्य में बढोतरी और टिकटों की कीमत में कटौती करने के दबाव में भारतीय विमानन कंपनियों को चालू वित्त वर्ष में करीब 1.9 अरब डॉलर का नुकसान उठाना पड़ सकता है।

विमानन कंपनियों के लिये शोध करने वाली और सलाह सेवा मुहैया करने वाले सेंटर फॉर एशिया फैसिफिक ऐविएशन(इंडिया) कापा इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार उन्हें डॉलर की तुलना में भारतीय मुद्रा की तेज गिरावट और कचचे तेल की कीमतों में रही तेजी के मद्देनजर विमान कंपनियों को होने वाले घाटे का पूर्वानुमान बढाना पड़ा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि बढ़ती लागत को देखते हुये टिकटों के दाम नहीं बढाये गये हैं। निजी क्षेत्र की विमान कंपनी इंडिगो के अलावा किसी भी अन्य विमानन कंपनी की बैलेंस शीट उतनी मजबूत नहीं कि वह बढ़ती लागत और कम उत्पादन को झेल पाये। क्षमता में तेज विस्तार के कारण विमान कंपनियां अब टिकट की कीमत तय नहीं कर पातीं। भारत घरेलू विमान क्षेत्र के मामले में दुनिया में सबसे तेजी से उभरता बाजार है, जिसे देखते हुये कंपनियों ने अपने बेड़े में हवाई जहाजों की संख्या बढाने के लिये कई नयी एयरबस अौर बोइंग जेट का ऑर्डर दिया है।

गत चार साल में घरेलू यात्रियों की संख्या दोगुनी से भी अधिक बढ़ी है और विमान के करीब 90 फीसदी सीट भरे होते हैं लेकिन फिर भी विमान सेवा प्रदाता कंपनियों को लाभ में रहने के लिये कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है।

कापा इंडिया का अनुमान है कि सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया समेत अन्य विमान कंपनियों को अपने बैलेंसशीट में सुधार के लिये तीन अरब डॉलर की अतिरिक्त पूंजी की आवश्यकता होगी। जेट एयरवेज की गत माह की रिपोर्ट के मुताबिक उसे पिछली तिमाही में 13.23 अरब रुपये का घाटा हुआ। इंडिगो ने भी जुलाई में बताया कि उसे पिछली तिमाही में पिछले तीन साल में सबसे कम लाभ हुआ। ईंधन की कीमत में बढोतरी और विनिमय दर घाटे के कारण उसकी आय 97 फीसदी घट गयी।

अर्चना/शेखर

वार्ता

More News

चेन्नई तिलहन के भाव

19 Feb 2019 | 12:34 PM

 Sharesee more..

चेन्नई सर्राफा के शुरुआती भाव

19 Feb 2019 | 12:33 PM

 Sharesee more..

इंदौर अंडा डेयरी एवं मावा के भाव

19 Feb 2019 | 12:05 PM

 Sharesee more..

इंदौर सराफा

19 Feb 2019 | 12:02 PM

 Sharesee more..
पुलवामा हमले के विरोध में सात करोड़ दुकानें रही बंद

पुलवामा हमले के विरोध में सात करोड़ दुकानें रही बंद

18 Feb 2019 | 10:55 PM

नयी दिल्ली 18 फरवरी (वार्ता) जम्मू कश्मीर के पुलवामा में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर आतंकी हमले के विरोध में सोमवार को पूरे देश में करीब सात करोड़ कारोबारी प्रतिष्ठान बंद रहे जिससे करीब 25 हजार करोड़ रुपये के कारोबार नहीं हुये।

 Sharesee more..
image