Wednesday, Nov 21 2018 | Time 19:10 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बिहार में 903 पशु चिकित्सकों की नियुक्ति शीघ्र : सुशील
  • आतंकी हमले में शहीद विजय कुमार की राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि
  • बारिश ने बिगाड़ा भारत का खेल, 4 रन से गंवाया मैच
  • बारिश ने बिगाड़ा भारत का खेल, 4 रन से गंवाया मैच
  • शिक्षक भर्ती की सीबीआई जाँच कराने के आदेश को चुनौती
  • निरंकारी भवन पर हमला करने वालों में से एक गिरफ्तार, दूसरे की तलाश जारी
  • चुनाव में 'डबल इंकमबेंसी' भाजपा को पड़ेगी महंगी: मोहन प्रकाश
  • चुनाव में 'डबल इंकमबेंसी' भाजपा को पड़ेगी महंगी: मोहन प्रकाश
  • चुनाव में 'डबल इंकमबेंसी' भाजपा को पड़ेगी महंगी: मोहन प्रकाश
  • पैनासोनिक ने आईओटी समाधान ‘सीकिट’ किया लॉन्च
  • भंडारण निगम देश की खाद्य सुरक्षा में अधिकाधिक योगदान करें: खट्टर
  • सिख श्रद्धालुओं का जत्था पाकिस्तान रवाना
  • पोखरी में गुरुवार को पुनर्मतदान
  • त्रिपुरा उच्च न्यायालय ने सीबीआई को जांच शुरू करने के दिये आदेश
  • बागी उम्मीदवारों को जल्द मना लिया जायेगा: कांग्रेस
दुनिया Share

आईएस ने ली अफगानिस्तान आत्मघाती हमले जिम्मेदारी

आईएस ने ली अफगानिस्तान आत्मघाती हमले जिम्मेदारी

काहिरा 05 अगस्त (रायटर) आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने अफगानिस्तान की शिया मस्जिद में हुए आत्मघाती बम हमले की जिम्मेदारी ली है।

आईएस के लिए काम करने वाली समाचार एजेंसी अमाक ने एक बयान जारी किया है जिसमें आईएस ने कहा है शुक्रवार को पकतिया के गारदेज शहर में शिया मस्जिद पर किये गये हमले में तकरीबन 150 लोग या तो मारे गये या घायल हो गये। बयान में यह नहीं बताया गया कि हमले को किस तरह से अंजाम दिया गया।

अफगानिस्तान के पूर्वी प्रांत पकतिया के गारदेज शहर में शिया मस्जिद में शुक्रवार को जुमे की नमाज के दौरान आत्मघाती बम विस्फोट में 39 लेागों की मौत हो गयी जबकि कम से कम 80 अन्य घायल हो गये।

पकतिया प्रांत के पुलिस प्रमुख मोहम्मद मंदोजई के अनुसार दो आतंकवादियों ने बुर्खा पहनकर ख्वाजा हसन मस्जिद के भीतर घुसे और उन्होंने मस्जिद के भीतर गोलीबारी के बाद विस्फाेट कर दिया। घटना के समय करीब 100 लोग मस्जिद में जुमे की नमाज पढ़ रहे थे।

प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार शिया मुस्लिम समुदाय के लोग नमाज पढ़ रहे थे, तभी वहां पहुंचे एक व्यक्ति ने स्वयं को विस्फोट से उड़ा लिया। एक दूसरे हमलावर ने नमाज पढ़ रहे लोगों पर अंधाधुंध गोलीबारी की। मस्जिम में तैनात सुरक्षाकर्मी ने एक आंतकवादी को मार गिराया।

आईएस पहले भी अफगानिस्तान की शिया मस्जिदों, सुरक्षा बलों और आम नागरिकों को निशाना बनाता रहा है। अफगानिस्तान में चार दशकों से युद्ध के हालत और 17 वर्ष अमेरिकी हस्पक्षेप के बावजूद सुरक्षा की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

दिनेश

रायटर

image