Wednesday, Nov 14 2018 | Time 04:23 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
दुनिया Share

इजरायल और हमास गाजा पट्टी में शांति बहाली को लेकर सहमत

इजरायल और हमास गाजा पट्टी में शांति बहाली को लेकर सहमत

गाजा 21 जुलाई (रायटर) इजरायल और हमास गाजा पट्टी में शांति बहाली को लेकर सहमत हो गये हैं। गाजा पट्टी पर नियंत्रण रखने वाले फलस्तीन के प्रतिरोधी इस्लामी कट्टरपंथी संगठन हमास के प्रवक्ता ने शनिवार को यह जानकारी दी।

हमास के प्रवक्ता फावजी बरहउम ने कहा, “मिस्र और संयुक्त राष्ट्र के प्रयासों से इजरायल और फिलिस्तीन के गुटों बीच शांति बहाली को लेकर सहमति बन गयी है।”

इजरायल के अधिकारियों ने इस घोषणा पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है लेकिन सैन्य प्रवक्ता ने कहा शनिवार की सुबह गाजा पट्टी पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। फलस्तीन के निवासियों ने कहा कि अभी क्षेत्र में शांति है।

शुक्रवार को फलस्तीन के बंदुकधारियों ने गाजा पट्टी सीमा पर एक इजरायली सैनिक को मार गिराया था और इजरायल की सेना ने जवाबी कार्रवाई करते हुए कई हमले किये जिसमें हमास के तीन लड़ाकों समेत कुल चार फलस्तीनियों की मौत हो गयी थी और गाजा पट्टी के 120 लोग घायल हो गये थे। इजरायल और फलस्तीन के बीच गाजा पट्टी पर वर्ष 2014 के संघर्ष के बाद पहली बार किसी ऑन ड्युटी सैनिक को मारा गया था।

फलस्तीन के अधिकारी के अनुसार, इसके बाद मिस्र के सुरक्षा अधिकारियों और किसी एक अन्य राष्ट्र के राजनयिक ने शांति बहाल करने के लिए हमास और इजरायल से संपर्क किया था।

दिनेश

रायटर

More News
श्रीलंका संसद भंग करने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

श्रीलंका संसद भंग करने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

13 Nov 2018 | 7:48 PM

कोलंबो 13 नवंबर (शिन्हुआ) श्रीलंका के सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना के संसद भंग करने के फैसले पर मंगलवार को रोक लगा दी, सुप्रीम कोर्ट के तीन न्यायाधीशों की खंडपीठ ने यह रोक लगाकर विपक्ष समेत विभिन्न वर्गाें को अंतरिम राहत प्रदान की।

 Sharesee more..
नवाज की रिहाई के खिलाफ याचिका पर होगी सुनवाई

नवाज की रिहाई के खिलाफ याचिका पर होगी सुनवाई

13 Nov 2018 | 2:25 PM

इस्लामाबाद 13 नवंबर (वार्ता) पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (नेब) की पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज की एवेन्यू फील्ड अपार्टमेंट मामले में रिहाई के इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ याचिका स्वीकार करते हुए मामले की नियमित सुनवायी के लिए बड़ी पीठ के गठन का आदेश दिया।

 Sharesee more..
image