Saturday, Jan 19 2019 | Time 03:25 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • घृणापूर्ण भाषण से गुरेज करें लोग: गुटेरेस
  • मेक्सिको में 6 0 तीव्रता के भूकंप झटके
  • राहुल ने मल्लू को पार्टी के विधायक दल का नेता नियुक्त किया
  • मोदी दादर एवं नगर हवेली में कई विकास योजनाओं का करेंगे लोकार्पण
  • कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में देखी फिल्म मणिकर्णिका
दुनिया Share

नेतन्याहू और अल-सिसी ने गुप्त मुलाकात में की गाजा पर चर्चा: चैनल टेन

नेतन्याहू और अल-सिसी ने गुप्त मुलाकात में की गाजा पर चर्चा: चैनल टेन

येरूशलम 14 अगस्त (रायटर) इजरायल के एक टेलीविजन न्यूज चैनल की रिपोर्ट के मुताबिक इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सिसी के बीच मई में एक गुप्त शिखर सम्मेलन आयोजित किया गया जिसमें दोनों नेताओं ने गाजा पट्टी में दीर्घकालिक युद्धविराम पर चर्चा की।

इजरायल के चैनल टेन न्यूज ने सोमवार को अपनी एक रिपोर्ट में अज्ञात अमेरिकी अधिकारियों का हवाला देते हुए बताया कि यह गुप्त बैठक 22 मई को मिस्र में आयोजित की गयी।

रिपोर्ट के अनुसार दोनों नेताओं ने गाजा की नाकाबंदी को आसान बनाने, इसके बुनियादी ढांचे को ठीक करने और युद्धविराम की शर्तों पर चर्चा की। श्री नेतन्याहू के प्रवक्ता ने इस रिपोर्ट पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। मिस्र के अधिकारियों की ओर से भी इस संबंध में कोई बयान जारी नहीं किया गया है।

उल्लेखनीय है कि मिस्र और संयुक्त राष्ट्र इजरायल तथा गाजा पर शासन करने वाले इस्लामिक संगठन हमास के बीच दीर्घकालिक संघर्ष में मध्यस्थता करने की कोशिश कर रहे हैं। पिछले कुछ महीनों के दौरान गाजा पट्टी क्षेत्र में हिंसा में काफी इजाफा हुआ है जिसके मद्देनजर दोनों के बीच संघर्ष विराम लागू करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

सुरक्षा संबंधी चिंताओं का हवाला देते हुए, इजरायल और मिस्र ने गाजा के साथ अपनी सीमा पर कड़े प्रतिबंध लगा रखे हैं। इजरायल ने हमास तथा लड़ाकों के अन्य संगठनों तक हथियारों की आपूर्ति को रोकने के लिए नाकाबंदी को सही ठहराया है। हमास और इजरायल एक दूसरे पर हवाई हमले करते रहते हैं।

गाैरतलब है कि गाजा पट्टी में 20 लाख से अधिक फिलीस्तीनी नागरिक गहरे आर्थिक संकट का सामना कर रह रहे हैं। विश्व बैंक ने पानी, बिजली और दवाइयों की कमी के कारण गाजा पट्टी की स्थिति को मानवतावादी संकट करार दिया है।

इजरायल-गाजा की सीमा पर 30 मार्च से शुरू हुए साप्ताहिक विरोध प्रदर्शन के दौरान इजरायली सेना की ओर से की गयी गोलीबारी में अब तक कम से कम 161 फिलीस्तीनी मारे गए हैं। इस हिंसा में फिलीस्तीनी स्नाइपर की गोली से एक इजरायली सैनिक भी मारा गया है।

रवि

रायटर

image