Wednesday, Jun 26 2019 | Time 19:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गर्मी-उमस के कारण पंजाब-हरियाणा में बिजली मांग में रिकार्ड तोड़ वृद्धि
  • सशक्त टीम के रुप में उभर रही है महिला फुटबॉल टीम : एंब्रोस
  • व्यापारिक अड़चनों को दरकिनार कर रणनीतिक साझीदारी मजबूत करेंगे भारत और अमेरिका
  • इनेलो का एकमात्र राज्यसभा सांसद भाजपा में शामिल
  • हैंडबाल की इंटरनेशनल चैंपियनशिप की मेजबानी का दावा करेगा भारत
  • प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता के लिए राज्य में शैक्षणिक वातावरण जरूरी -भूपेश
  • फरीदाबाद, रेवाड़ी, यमुनानगर में बनेंगे एडीआर केंद्र
  • नीतीश के समक्ष नगर विकास एवं आवास विभाग ने दिया प्रस्तुतीकरण
  • तीन और सदस्य लोकसभा की सभापति तालिका में शामिल
  • जल संचय के लिए व्यक्तिगत पहल की जरुरत: शेखावट
  • सुप्रीम कोर्ट ने लगाई सक्सेना की विदेश यात्रा पर रोक
  • वित्त मंत्री, आयुष राज्य मंत्री तथा इस्पात राज्य मंत्री ने उपराष्ट्रपति से भेंट की
  • सेज संशोधन विधेयक ध्वनिमत से लोकसभा में पारित
  • खाद्य तेल स्थिर, मूंग दाल व चीनी नरम, चावल स्थिर
  • फिल्म आर्टिकल 15 पर प्रतिबन्ध लगाने की याचिका दायर
खेल


तीनों प्रारूपों में खेलना चाहता हूं: जडेजा

तीनों प्रारूपों में खेलना चाहता हूं: जडेजा

लंदन, 08 सितंबर (वार्ता) पिछले काफी अर्से से सीमित प्रारूप से बाहर चल रहे भारतीय स्पिनर रवींद्र जडेजा ने कहा है कि वह राष्ट्रीय टीम के लिये तीनों प्रारूपों में खेलना चाहते हैं।

इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें और अंतिम क्रिकेट टेस्ट में भारतीय टीम में अंतिम एकादश का हिस्सा जडेजा ने पहली पारी में मेजबान टीम के 57 रन पर दो विकेट निकाले। वह पांच मैचों की सीरीज़ में पहली बार अंतिम एकादश का हिस्सा बने हैं। ओवल मैदान पर चल रहे मैच के पहले दिन की समाप्ति के बाद उन्होंने कहा,“ मेरे लिये सबसे बड़ी बात है कि मैं भारत के लिये खेल रहा हूं और जब मैं और बेहतर करने लगूंगा तो उम्मीद है कि मैं वापिस तीनों प्रारूपों में खेल पाऊं।”

उन्होंने कहा,“ मेरा ध्यान फिलहाल मिले हुये मौके का पूरा फायदा उठाना है। क्योंकि जब आप एक ही प्रारूप में खेल रहे होते हैं तो आपकी लय खराब हो जाती है और बीच में खेल के लंबा अंतर आ जाता है। एक ही प्रारूप में खेलने से आपको अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कम खेलने को मिलता है। ऐसे में जब भी मौका आता है आप उसका फायदा उठाना चाहते हैं। मेरे पास जो भी काबिलियत है मैं उसे मैदान पर लाना चाहता हूं।”

जडेजा ने केवल स्पिनर के बजाय अपनी ऑलराउंडर की भूमिका पर जोर दिया। उन्होंने कहा,“ मेरे पास भारत के लिये खेलने का जब भी मौका आयेगा मैं केवल गेंदबाजी ही नहीं बल्लेबाजी में भी अपना शत प्रतिशत प्रदर्शन करूंगा। मैं भारतीय टीम का भरोसेमंद खिलाड़ी बनना चाहता हूं और ऑलराउंडर की भूमिका में खेलना चाहता हूं। मैं पहले भी ऐसा कर चुका हूं और मेरे लिये यह कोई नयी बात नहीं है। यह केवल समय की बात है।”

 

More News
स्कूलों में बच्चे पढ़ाई के साथ अब सीखेंगे शतरंज

स्कूलों में बच्चे पढ़ाई के साथ अब सीखेंगे शतरंज

26 Jun 2019 | 7:13 PM

हिसार, 26 जून (वार्ता) स्कूली बच्चों की तर्क शक्ति बढ़ाने के लिए उन्हें पढ़ाई के साथ शतरंज, शब्द एवं तर्क पहेलियों जैसी गतिविधियों जोड़ने की सिफारिश नई शिक्षा नीति में की गई है।

see more..
खिलाड़ियों को बर्बाद करने पर तुली है खट्टर सरकार: दुष्यंत चौटाला

खिलाड़ियों को बर्बाद करने पर तुली है खट्टर सरकार: दुष्यंत चौटाला

26 Jun 2019 | 6:56 PM

हिसार, 26 जून (वार्ता) जननायक जनता पार्टी (जजपा) के नेता दुष्यंत चौटाला ने जूनियर प्रतियोगिताओं के लिए हरियाणा सरकार की खेल नीति पर कड़ा एतराज जताते हुए आरोप लगाया है कि मनोहर लाल खट्टर सरकार खेल और खिलाड़ियों को पूरी तरह से बर्बाद करने पर तुली हुई है।

see more..
लारा को अस्पताल से मिली छुट्टी

लारा को अस्पताल से मिली छुट्टी

26 Jun 2019 | 6:44 PM

मुंबई, 26 जून (वार्ता) वेस्टइंडीज़ के दिग्गज क्रिकेटर ब्रायन लारा को बुधवार मुंबई के एक अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी जहां उन्हें अचानक सीने में दर्द के बाद भर्ती कराया गया था।

see more..
image