Tuesday, Jan 28 2020 | Time 06:58 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कनाडा में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया
  • सीरिया में तेल पाइपलाइन में धमाका
  • अमेरिकी सेना का हवाई जहाज दुश्मन ने नहीं गिराया : प्रवक्ता
  • अलाबामा में नाव डॉक में लगी आग, आठ की मौत
  • अमेरिका का पश्चिमी एशिया में शांति योजना एक भ्रम: जरीफ
  • तनजानिया में भारी बारिश से साढ़े चार हजार लोग बेघर
  • यमन में हौसी विद्रोहियों के हमले में तीन की मौत, नौ घायल
  • पुआल के ढेर में आग लगने से दो।बच्चों की झुलसकर मौत
  • सावरकर को जानने के लिए अंडामान जेल में 10 घंटे बिताएं आलोचक : फड़नवीस
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


गजल गायकी को नया आयाम दिया जगजीत सिंह ने

गजल गायकी को नया आयाम दिया जगजीत सिंह ने

(पुण्यतिथि 10 अक्टूबर के अवसर पर )
मुंबई 09 अक्टूबर(वार्ता)बॉलीवुड में जगजीत सिंह काे एक ऐसी शख्सियत के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपनी गजल गायकी से लगभग चार दशक तक श्रोताओं के दिल पर अमिट छाप छोड़ी।

आठ फरवरी 1941 को राजस्थान के श्रीगंगानगर में जन्में जगजीत सिंह के बचपन का नाम जगमोहन था लेकिन पिता के कहने पर उन्होंने अपना नाम जगजीत सिंह रख लिया।
बचपन से ही जगजीत सिंह को संगीत के प्रति रूचि थी।
उन्होंने संगीत की शिक्षा उस्ताद जमाल खान और पंडित छगनलाल शर्मा से हासिल की।

वर्ष 1965 में पार्श्वगायक बनने की तमन्ना लिये जगजीत सिंह मुंबई आ गये।
शुरूआती दौर में उन्हें विज्ञापन फिल्मों के लिये जिंगल गाने का अवसर मिला।
इस दौरान उनकी मुलाकात पार्श्वगायिका चित्रा दत्ता से हुयी।
वर्ष 1969 में जगजीत सिंह ने चित्रा से शादी कर ली।
इसके बाद जगजीत-चित्रा की जोड़ी ने कई अलबमो में अपने जादुई पार्श्वगायन से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया।

जगजीत सिंह ने प्राइवेट अलबम में पार्श्वगायन करने के अलावा कई फिल्मों में भी अपनी मधुर आवाज से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया।
वर्ष 2003 में जगजीत सिंह को भारत सरकार की ओर से पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।
अपनी गायकी से श्रोताओं के बीच अमिट छाप छोड़ने वाले जगजीत सिंह ने 10 अक्तूबर 2011 को इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

जगजीत सिंह के गाये सुपरहिट गानो की लंबी फेहरिस्त में ‘होठो से छू लो तुम मेरा गीत अमर कर दो,झुकी झुकी-सी नजर,तुम इतना क्यों मुस्कुरा रहे हो,तुमको देखा ता ये ख्याल आया.,ये तेरा घर ये मेरा घर,चिट्ठी ना कोई संदेश,होश वालो को खबर क्या आदि शामिल हैं।

कृष

कृष 4 में ऋतिक के साथ काम करेगी दीपिका!

मुंबई 27 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड की डिंपल गर्ल दीपिका पादुकोण माचो मैन ऋतिक रौशन के साथ काम करती नजर आ सकती है।

तान्हाजी

तान्हाजी में मेरा निभाया किरदार बेहतरीन किरदारों में से एक: सैफ

मुंबई 27 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता सैफ अली खान का कहना है कि फिल्म 'तान्हाजी' में उनका निभाया किरदार उनके करियर के बेहतरीन किरदार में से एक है।

अनिल

अनिल कपूर के साथ काम कर रोमांचित है दिशा पटानी

मुंबई 27 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री दिशा पटानी मिस्टर इंडिया अनिल कपूर के साथ काम कर रोमांचित महसूस कर रही है।

अमिताभ

अमिताभ बच्चन ने दिव्यांग बच्चों के साथ गाया राष्ट्रगान

मुंबई 27 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने दिव्यांग बच्चों के साथ राष्ट्रगान गाया है।

पचास-साठ

पचास-साठ के दशक के सुपरस्टार थे भारत भूषण

..पुण्यतिथि 27 जनवरी  ..
मुंबई 26 जनवरी (वार्ता)बॉलीवुड में भारत भूषण को एक ऐसे अभिनेता के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने पचास-साठ के दशक में अपनी अभिनीत फिल्मों से दर्शको के बीच खास पहचान बनायी।

संघर्ष

संघर्ष के बाद अजित ने बनायी बॉलीवुड में पहचान

..जन्मदिवस 27 जनवरी  ..
मुंबई 26 जनवरी(वार्ता) दर्शकों में अपनी विशिष्ट अदाकारी और संवाद अदायगी के लिए मशहूर अभिनेता अजित को बालीवुड में एक अलग मुकाम हासिल करने के लिए प्रारंभिक दौर में कड़ा संघर्ष करना पड़ा था।

फौजी

फौजी का किरदार फिर निभाना चाहते हैं शाहरुख खान

मुंबई 26 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड के किंग खान शाहरूख खान एक बार फिर फौजी का किरदार निभाना चाहते हैं।

ग्रे

ग्रे शेड वाले रोल गुस्सैल बना देते हैं: चंकी पांडे

मुंबई 26 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता चंकी पांडे का कहना है कि ग्रे शेड वाले किरदार उन्हें गुस्सैल बना देते हैं।

देश

देश की हर मां-बेटी को समर्पित है पद्मश्री: कंगना

मुंबई 26 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत का कहना है कि वह पद्मश्री सम्मान देश की हर मां-बेटी को समर्पित करती है।

“दिल

“दिल दिया है जान भी देंगे ऐ वतन तेरे लिये”

..गणतंत्र दिवस के अवसर पर ..
मुंबई 25 जनवरी (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में देशभक्ति से परिपूर्ण फिल्मों और गीतों की एक अहम भूमिका रही है और इसके माध्यम से फिल्मकार लोगों में देशभक्ति के जज्बे को आज भी बुलंद करते हैं।

भारतीय सिनेमा के युगपुरूष थे चित्रगुप्त

भारतीय सिनेमा के युगपुरूष थे चित्रगुप्त

(पुण्यतिथि 14 जनवरी के अवसर पर)
मुंबई 13 जनवरी (वार्ता)भारतीय सिनेमा के ‘युगपुरूष’ चित्रगुप्त का नाम एक ऐसे संगीतकार के रूप में याद किया जाता है जिन्होंने लगभग चार दशक तक अपने सदाबहार एवं रूमानी गीतों से श्रोताओं के दिलों पर अमिट छाप छोड़ी।

image