Wednesday, May 27 2020 | Time 02:30 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सोमालियाई सेना ने सात आतंकवादियों को मार गिराया
  • असम में बाढ़ से 1 94 लाख लोग प्रभावित
  • कर्नाटक में एक जून से खुलेंगे मंदिर
  • दुमका में बंद खदान में गिरने से किशोर की मौत, एक घायल
लोकरुचि


जौनपुर: जमैथा में खरबूजे के बल पर होते थे किसानों के यहां मांगलिक कार्य

जौनपुर: जमैथा में खरबूजे के बल पर होते थे किसानों के यहां मांगलिक कार्य

जौनपुर, 22 मई(वार्ता) कभी पूरे पूर्वांचल में अपनी खुशबू बिखेरने वाले जौनपुर में जमैथा इलाके के खरबूजे का भी एक स्वर्णिम काल रहा है। इस खरबूजे की फसल के दम पर ही वहां के किसान अपनी बेटियों के हाथ पीले करने का दम भरते थे। कोई भी मांगलिक कार्यक्रम करना हो अथवा जमीन जायदाद खरीदना हो किसानों का सबसे बड़ा सहारा खरबूजा ही बनता था। बदलते परिवेश में आज खरबूजे की बदहाल स्थिति पर यहां के किसान बहुत दुखी हैं।

जमैथा निवासी किसान श्रीपत निषाद ने शुक्रवार को यहां बताया कि कभी यह खरबूजे की खेती बहुत फायदे का सौदा होती थी और इसको बोने तथा मंडियों तक पहुंचाने के लिए हम लोग उत्साहित रहते थे लेकिन समय की मार ऐसी पड़ी कि खरबूजे का तो जैसे अकाल पड़ गया है। न उत्तम किस्म के उन्नत बीज मिलते हैं और न ही सिंचाई सहित अन्य साधन उपलब्ध हो रहे हैं। इसकी खेती को बढ़ावा देने के लिए किसी प्रकार का सरकारी अनुदान भी उपलब्ध नहीं है।

किसान राजबहादुर यादव ने बताया कि इसकी खेती के प्रति किसानों की रुचि धीरे धीरे कम होती गई। जिसका आलम यह हो गया कि कभी खरबूजे की महक से पूरा गांव महकता था और सभी दुकानों पर जमैथा के खरबूजे की अच्छी खासी खपत होती थी, वहीं अब यह यदा-कदा ही किसी दुकान अथवा ठेले पर दिखाई देता है वास्तव में महर्षि यमदग्नि ऋषि की धरती का यह विशेष फल अब अपना स्थान खो चुका है जो शुभ संकेत नहीं है।

सं भंडारी

वार्ता

More News
लॉकडाउन में गुम हुयी खुशियों पर बजने वाली किन्नरों की ताली

लॉकडाउन में गुम हुयी खुशियों पर बजने वाली किन्नरों की ताली

26 May 2020 | 4:45 PM

पटना 26 मई (वार्ता) मांगलिक कार्यों के दौरान लोगों के घरों में जा कर नाचने-गाने और आशीर्वाद देकर आजीविका कमाने वाले किन्नरों की तालियां लॉकडाउन में गुम हो गयी है।

see more..
कई कारोबारियों के बिजनेस पार्टनर है ‘ठाकुर’

कई कारोबारियों के बिजनेस पार्टनर है ‘ठाकुर’

25 May 2020 | 5:24 PM

मथुरा 25 मई (वार्ता) व्यापार को चमकाने के लिए ‘ठाकुर’ को ’बिजनेस पार्टनर’ बनाने की निराली परंपरा भक्तों द्वारा ब्रज के मंदिरों में लम्बे समय से अपनाई जा रही है।

see more..
महोबा में जागरूकता अभियान के साथ अनूठे अंदाज में मनाई गई आल्हा की जयंती

महोबा में जागरूकता अभियान के साथ अनूठे अंदाज में मनाई गई आल्हा की जयंती

25 May 2020 | 12:55 PM

महोबा, 25मई (वार्ता) उत्तर प्रदेश के महोबा में बारहवीं शताब्दी के महान योद्धा चंदेल सेनानायक, महाबली आल्हा की जयंती सोमवार को कोरोना जागरूकता अभियान के साथ अनूठे अंदाज में मनाई गई।

see more..
प्रकृति की खातिर हर साल 21 दिन का लॉकडाउन जरूरी: पर्यावरणविद

प्रकृति की खातिर हर साल 21 दिन का लॉकडाउन जरूरी: पर्यावरणविद

24 May 2020 | 4:01 PM

इटावा, 24 मई (वार्ता) कोरोना संक्रमण के चलते देशव्यापी लाकडाउन ने सरकार और आम आदमी की मुश्किलों में इजाफा किया है लेकिन आपदा की इस घड़ी ने प्रकृति के सौंदर्य को बरकरार रखने के लिये नियमित अंतराल में मानव दखलदांजी पर रोक लगाने को लेकर एक नयी बहस को जन्म दे दिया है।

see more..
लाकडाउन ने कछुओं को दिया वंश वृद्धि का मौका

लाकडाउन ने कछुओं को दिया वंश वृद्धि का मौका

22 May 2020 | 10:03 PM

इटावा 22 मई (वार्ता) वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण जारी लाकडाउन ने कलकल बहती चंबल नदी में विचरण करते दुर्लभ प्रजाति के कछुओं को सुरक्षित प्रजनन का मौका दे दिया है।

see more..
image