Monday, Aug 26 2019 | Time 11:08 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • 150 करोड़ क्लब में शामिल हुयी मिशन मंगल
  • 150 करोड़ क्लब में शामिल हुयी मिशन मंगल
  • 150 करोड़ क्लब में शामिल हुयी मिशन मंगल
  • फिल्म इंडस्ट्री के स्टार मेकर थे ऋषिकेष मुखर्जी
  • फिल्म इंडस्ट्री के स्टार मेकर थे ऋषिकेष मुखर्जी
  • फिल्म इंडस्ट्री के स्टार मेकर थे ऋषिकेष मुखर्जी
  • मध्यप्रदेश में जारी बादलों का प्रकोप
  • अभिनेता बनना चाहते थे मुकेश
  • अभिनेता बनना चाहते थे मुकेश
  • अभिनेता बनना चाहते थे मुकेश
  • ईरान ने अमेरिका से तनाव घटाने का रखा विचार
  • पाकिस्तान वाणिज्य दूतावास के पास विस्फोट
  • विराट ने धोनी की बराबरी की, तोड़ा गांगुली का रिकॉर्ड
  • विराट ने धोनी की बराबरी की, तोड़ा गांगुली का रिकॉर्ड
  • चीन में सड़क हादसे में सात की मौत, 11 घायल
मनोरंजन


हास्य अभिनय के बेताज बादशाह है जॉनी लीवर

हास्य अभिनय के बेताज बादशाह है जॉनी लीवर

..जन्मदिन 14 अगस्त ..

मुंबई 13 अगस्त (वार्ता) स्टेज शो पर बतौर मिमिक्री कलाकार अपने कैरियर की शुरूआत करके हास्य अभिनेता के रूप में सफलता की बुलंदियों तक पहुंचने वाले हिन्दी सिनेमा के सुप्रसिद्ध अभिनेता जॉनी लीवर अपने जबरदस्त अभिनय से आज भी दर्शकों के दिलों पर राज कर रहे है ।

जॉनी लीवर मूल नाम जान राव प्रकाश राव जानुमाला का जन्म 14 अगस्त 1957 को आंधप्रदेश में हुआ था।उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा आंध्र के एक तेलगु स्कूल से पूरी की । घर की आर्थिक स्थिति खराब रहने के कारण जॉनी लीवर को अपनी स्कूल की पढ़ाई बीच में ही छोड़ देनी पड़ी । इसके बाद वह अपने पिता के काम में हाथ बंटाने लगे। बचपन के दिनों से ही जॉनी लीवर का रूझान फिल्मों की ओर था और वह जॉनी वाकर .महमूद और किशोर कुमार की तरह हास्य अभिनेता बनना चाहते थे । इसी दौरान उनकी मुलाकात मिमिक्री कलाकार राम कुमार से हुयी । उन्होंने जॉनी लीवर की प्रतिभा को पहचानकर उन्हें बतौर मिमिक्री कलाकार काम करने की सलाह दी ।

इस बीच जॉनी लीवर मुंबई आ गये और अपने पिता के साथ हिंदुस्तान लीवर कंपनी में काम करने लगे । कंपनी में जॉनी लीवर अक्सर नामचीन अभिनेता की आवाज की नकल करके अपने साथियों का मनोरंजन करते थे। एक बार कंपनी के वार्षिक समारोह में जॉनी लीवर को अपने मिमिक्री कार्यक्रम पेश करने का मौका मिला । उनके कार्यक्रम को देख उनके साथी और मालिक काफी प्रभावित हुये और उनका नाम जॉनी लीवर रख दिया ।

इसके बाद जॉनी लीवर स्टेज पर भी अपने मिमिक्री के कार्यक्रम पेश करने लगे । इसी दौरान उनकी मुलकात संगीतकार जोड़ी कल्याणजी -आनंद जी से हुयी। उन्हें वर्ष 1982 में कल्याणजी -आनंद जी और अमिताभ बच्चन के साथ विश्व भर में संगीतमय र्कायक्रम के टूर में हिस्सा लेने का मौका मिला ।

इस बीच उनकी मुलाकात निर्माता-निर्देशक सुनील दत्त से हुयी जिन्होंने जॉनी लीवर की प्रतिभा को पहचानने के बाद अपनी फिल्म ..दर्द का रिश्ता ..में काम करने का अवसर दिया । फिल्म दर्द का रिश्ता के बाद जॉनी लीवर को कई फिल्मों में छोटी मोटी भूमिकाये मिलने लगी लेकिन इन फिल्मों से उन्हें कुछ खास फायदा नही पहुंचा। इस दौरान उन्हें एक ऑडियो कैसेट कंपनी की ओर से मिमिक्री कार्यक्रम ..हंसी के हंगामें .. काम करने का मौका मिला जो देश में ही नही विदेशो में भी काफी लोकप्रिय हुआ । कैसेट की कामयाबी के बाद जॉनी लीवर बतौर मिमिक्री कलाकार देश भर में मशहूर हो गये ।

वर्ष 1986 में जॉनी लीवर को होप 86 कार्यक्रम में हिस्सा लेने का मौका मिला । फिल्मी सितारों की मौजूदगी के बावजूद जॉनी लीवर ने अपने जबरदस्त अंदाज से दर्शको का दिल जीत लिया । होप 86 के प्रदर्शन के दौरान जॉनी लीवर के अंदाज से निर्माता निर्देशक गुल आंनद काफी प्रभावित हुये। गुल आंनद उन दिनों अपनी नयी फिल्म ..जलवा ..के निर्माण में व्यस्त थे । उन्होंने जॉनी लीवर को अपनी फिल्म में काम करने का प्रस्ताव दिया जिसे जॉनी लीवर ने सहर्ष स्वीकार कर लिया । फिल्म में अपने जबरदस्त हास्य अभिनय से जॉनी लीवर ने दर्शको का दिल जीत लिया ।

फिल्म जलवा की सफलता के बाद जॉनी लीवर को कई अच्छी फिल्मों के प्रस्ताव मिलने शुरू हो गये . जिनमें हत्या .आखिरी अदालत .हीरो हीरालाल .तेजाब .सूर्या .इलका.मुजरिम .जादूगर .चालबाज .किशन कन्हैया .मै आजाद हूं. नरसिम्हा .खिलाड़ी. जैसी बड़े बजट की फिल्में शामिल थी। इन फिल्मों की सफलता के बाद जॉनी लीवर बतौर हास्य कलाकार फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में कुछ हद तक कामयाब हो गये ।

वर्ष 1993 में जॉनी लीवर के सिने करियर की सर्वाधिक अहम फिल्म ..बाजीगर ..प्रदर्शित हुयी । अब्बास-मुस्तान के निर्देशन में बनी इस फिल्म में जानी लीवर ने बाबूराव नामक एक बावर्ची के किरदार की भूमिका निभायी जिसकी याददाश्त समय-समय पर चली जाती है। अपने इस किरदार के जरिये जानी लीवर दर्शकों के बीच काफी लोकप्रिय हुये। इसके बाद जॉनी लीवर ने सफलता की नयी बुलंदियो को छुआ और एक से बढ़कर एक फिल्मों में अपने जबरदस्त हास्य अभिनय से दर्शकों को दीवाना बना दिया। जॉनी लीवर को उनके सिने करियर में अब तक दो बार सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। जॉनी लीवर ने अपने तीन दशक लंबे सिने करियर में लगभग 350 फिल्मों में अभिनय कर चुके है।

 

More News
अभिनेता बनना चाहते थे मुकेश

अभिनेता बनना चाहते थे मुकेश

26 Aug 2019 | 10:58 AM

..पुण्यतिथि 27 अगस्त .. मुंबई 26 अगस्त (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में मुकेश ने अपने पार्श्वगायन से लगभग तीन दशक तक श्रोताओं को अपना दीवाना बनाया लेकिन वह अभिनेता के तौर पर अपनी पहचान बनाना चाहते थे।

see more..
बचपन से ही अभिनेत्री बनना चाहती थी सारा अली खान

बचपन से ही अभिनेत्री बनना चाहती थी सारा अली खान

25 Aug 2019 | 3:01 PM

मुंबई 25 अगस्त (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री सारा अली खान का कहना है कि वह बचपन के दिनों से ही अभिनेत्री बनना चाहती थी।

see more..
किसी फिल्म में इंटरफेयर नहीं किया :सुनील शेट्टी

किसी फिल्म में इंटरफेयर नहीं किया :सुनील शेट्टी

25 Aug 2019 | 3:01 PM

मुंबई 25 अगस्त (वार्ता) बॉलीवुड के माचो मैन सुनील शेट्टी का कहना है कि उन्होंने अपने करियर के दौरान किसी भी फिल्म में इंटरफेयर नही किया है।

see more..
image