Tuesday, Nov 13 2018 | Time 07:50 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
भारत Share

देश भर में कृष्ण जन्माष्टमी की धूम

देश भर में  कृष्ण जन्माष्टमी की धूम

नयी दिल्ली ,03 सितंबर (वार्ता) देश भर में सोमवार को कृष्ण जन्मभूमि काफी हर्षोल्लास के साथ मनाई जा रही है अौर उत्तर प्रदेश में मथुरा तथा वृंदावन में भगवान कृष्ण को लेकर लोगों में अलग ही उल्लास देखने को मिल रहा है।



मुख्य समारोह मथुरा में मनाया जा रहा है जहां आकर्षक ढंग से सजे मंदिरों में श्रद्धालुओं का सैलाब हिलाेरें मार रहा है। वहीं लखनऊ,इलाहाबाद,आगरा,कानपुर,बरेली,फैजाबाद,मेरठ और गाजियाबाद समेत राज्य के कोने कोने पर श्रद्धा और भक्ति की खुशबू समायी हुयी है। इस मौके पर झांकियों की अदभुत छटा किसी का भी मन मोहने का निमंत्रण दे रही है। मथुरा के बांके बिहारी मंदिर,प्रेम मंदिर और इस्कान मंदिर में श्री कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर श्रद्धालुओं की भीड काे नियंत्रित करने के लिये तमाम इंतजाम किये गये हैं।

महाराष्ट्र की तर्ज पर राज्य के कई हिस्सों में दही हांडी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है जिसमें युवाओं की टोली बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रही है। गोरखपुर प्रवास पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार रात गोरक्षपीठ में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनायी। इस मौके पर गोरक्षनाथ मंदिर में विशेष प्रार्थनासभा का आयोजन किया गया।

राजधानी दिल्ली में बिरला मंदिर और इस्कान मंदिर में इस मौके पर लोगों की जोरदार भीड़ देखी जा रही है।

ग्रेटर कैलाश में हरे कृष्णा की पहाड़ी पर इस्कान मंदिर में लोगों की जमकर भीड़ रही और मंदिर को दर्शन के लिए सुबह 4.30 बजे ही श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया हैं। लक्ष्मी नारायण मंदिर (बिरला मंदिर) में जन्माष्टमी का त्योहार यहां बेहद खास तरीके से मनाया जा रहा है और मंदिर को अच्छी तरह से सजाया गया है।

पश्चिमी दिल्ली के पंजाबी बाग में स्थित इस्कॉन मंदिर में और दक्षिणी दिल्ली के छतरपुर मंदिर को जन्माष्टमी के मौके पर भव्य तरीके से सजाया गया और लोगों की भारी भीड़ भगवान कृष्ण के दर्शन को लेकर उत्सुक है।

राजस्थान में राजधानी जयपुर और अन्य स्थानों पर सवेरे से ही श्रीकृष्ण मंदिरों में श्रृद्धालुओं की भीड़ जुटने लगी और कृष्ण मंदिरों को आर्कषक रूप से सजाया गया। मंदिरों में श्रीकृष्ण से संबंधित झांकियां भी लगायी गयी । जयपुर के अाराध्य गोविंद देव मंदिर में भगवान का विशेष श्रृंगार किया गया और उनके लिये विशेष तौर से बनायी गयी रेशमी पोशाक धारण करायी गयी । सवेरे से ही मंदिरों के बाहर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जमा हो गयी । । उदयपुर संभाग में नाथद्वारा में भगवान श्रीनाथजी के दर्शनों के लिये भारी भीड़ उमड गयी। भगवान के दर्शनों के लिये शहर के अलावा भारी संख्या में गुजरात के श्रद्धालुओं की भीड़ लगी हुयी है।

जितेन्द्र

जारी वार्ता

More News
सीएसआर के तहत एक हजार करोड़ के कार्य करवाने का लक्ष्य: मनोहर

सीएसआर के तहत एक हजार करोड़ के कार्य करवाने का लक्ष्य: मनोहर

12 Nov 2018 | 10:46 PM

नयी दिल्ली / गुरूग्राम 12 नवंबर (वार्ता) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने उद्योग जगत से आहवान किया है कि वे सरकार के प्रयासों में भागीदारी करते हुए विकास कार्यों को त्याग समर्पण की भावना से आगे बढायें और स्वेच्छा से अपनी कमाई का 10 वां हिस्सा सार्वजनिक कार्यो में लगाने की भारतीय इतिहास की परंपरा को बनाए रखें।

 Sharesee more..
अयोध्या विवाद: त्वरित सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इन्कार

अयोध्या विवाद: त्वरित सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इन्कार

12 Nov 2018 | 9:52 PM

नयी दिल्ली, 12 नवम्बर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले की त्वरित सुनवाई की याचिका सोमवार को ठुकरा दी।

 Sharesee more..
धारा 375 के खिलाफ याचिका की सुनवाई से इन्कार

धारा 375 के खिलाफ याचिका की सुनवाई से इन्कार

12 Nov 2018 | 9:45 PM

नयी दिल्ली, 12 नवम्बर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने लिंग निरपेक्षता के आधार पर बलात्कार के अपराध से संबंधित भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 375 की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिका पर विचार करने से इन्कार कर दिया है।

 Sharesee more..
चुनाव आयोग ने नई वेबसाइट का किया शुभारंभ

चुनाव आयोग ने नई वेबसाइट का किया शुभारंभ

12 Nov 2018 | 10:19 PM

नयी दिल्ली 12 नवंबर (वार्ता) चुनाव आयोग ने सोमवार को अपनी नई वेबसाइट की शुरुआत की जो उपयोगकर्ताओं के लिए बेहद सरल और सुगम होगी।

 Sharesee more..
सुरक्षा आयामों को समन्वित करने की जरूरत: कोविंद

सुरक्षा आयामों को समन्वित करने की जरूरत: कोविंद

12 Nov 2018 | 9:38 PM

नयी दिल्ली, 12 नवम्बर (वार्ता) राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने बदलती वैश्विक परिस्थितियों के परिप्रेक्ष्य में देश में सुरक्षा के विभिन्न पहलुओं को समन्वित करने की आवश्यकता जतायी है।

 Sharesee more..
image