Sunday, Jun 23 2024 | Time 08:24 Hrs(IST)
image
राज्य


कुलगाम मुठभेड़: टीआरएफ के इनामी शीर्ष कमांडर सहित दो आतंकवादी ढेर

कुलगाम मुठभेड़: टीआरएफ के इनामी शीर्ष कमांडर सहित दो आतंकवादी ढेर

श्रीनगर, 07 मई (वार्ता) जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में मंगलवार को सुरक्षा बलों ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए मुठभेड़ में ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ के स्थानीय मोस्ट वांटेड कमांडर बासित अहमद डार सहित दो आतंकवादियों को मार गिराया।

कुलगाम जिले का निवासी बासित अहमद डार ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ (टीआरएफ) का शीर्ष कमांडर था, जिसे प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से संबद्ध माना जाता है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पिछले साल जुलाई में डार पर 10 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। पुलिस के अनुसार, डार पिछले तीन वर्षों में घाटी में कई नागरिकों और सुरक्षाकर्मियों की हत्याओं के लिए जिम्मेदार था।

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) वीके बिर्डी ने कुलगाम में संवाददाताओं से कहा, “बासित डार टीआरएफ से जुड़ा था और ‘ए’ श्रेणी का आतंकवादी था। यह (डार की मौत) हमारे लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। इसका कारण यह है कि वह श्रीनगर शहर में पुलिसकर्मियों और निर्दोष नागरिकों की हत्या सहित 18 से अधिक मामलों में शामिल था। वह अल्पसंख्यकों, नागरिकों और सुरक्षा बलों पर हमलों की योजना बनाने और उन्हें अंजाम देने में भी शामिल था।”

पुलिस ने मुठभेड़ के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कुलगाम के रेडवानी पाईन गांव में सोमवार से जारी मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गये। आतंकवादी कथित तौर पर एक घर के अंदर छिपे हुए थे।

एक सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना मिलने के बाद सोमवार को सुरक्षा बलों ने अभियान शुरू किया। सुरक्षा बलों की संयुक्त टीम संदिग्ध स्थान की ओर पहुंची, तभी वहां छिपे हुए आतंकवादियों ने उन पर अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई में गोलियां चलायीं।

उन्होंने बताया कि अंधेरा हो जाने के कारण रात में अभियान को रोक दिया गया। सुबह होते ही अतिरिक्त सुरक्षा बलों के साथ अभियान फिर शुरू हुआ, जिसमें दो आतंकवादी मारे गये।

आईजीपी ने बताया कि दोनों आतंकवादियों को आत्मसमर्पण करने का मौका दिया गया , लेकिन उन्होंने सुरक्षा बलों की बात नहीं सुनी और गोलीबारी शुरू कर दी।

गौरतलब है कि टीआरएफ के शीर्ष कमांडर की मौत ऐसे समय में हुई है, जब कश्मीर में लोकसभा चुनाव चल रहे हैं। कश्मीर की पहली लोकसभा सीट श्रीनगर है जहां चुनाव हो रहा है। श्रीनगर संसदीय क्षेत्र में 13 मई को मतदान होगा, जबकि बारामूला उत्तरी कश्मीर और अनंतनाग-राजौरी संसदीय क्षेत्र में क्रमशः 20 और 25 मई को मतदान होगा।

यामिनी,आशा

वार्ता

image