Friday, Sep 21 2018 | Time 07:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अमेरिका में गोलीबारी, चार की मौत, तीन घायल
  • तंजानिया में नाव पलटने से कम से कम 42 की मौत
  • तंजानिया में नाव पलटी,200 से अधिक लोगों के डूबने की आशंका
  • कांग्रेस हथकंडे अपनाने की बजाए मैदान में आकर लड़े चुनाव - राकेश
  • घोषणाएं पूरी भी करते हैं - शिवराज
  • अफगानिस्तान ने बंगलादेश भी शिकार कर डाला
  • बांध से पानी छोड़े जाने के कारण चार युवक फसे
दुनिया Share

लीबिया ने संयुक्त राष्ट्र की मदद से फंसे सैंकड़ों शरणार्थियों को निकाला

लीबिया ने संयुक्त राष्ट्र की मदद से फंसे सैंकड़ों शरणार्थियों को निकाला

त्रिपोली 31 अगस्त (रायटर) लीबिया सरकार ने देश के विभिन्न गुटों के संघर्ष के कारण सरकारी निगरानी केंद्रों में फंसे सैंकड़ों शरणार्थियों को संयुक्त राष्ट्र की मदद से निकालकर किसी अन्य जगह पर स्थानांतरित कर दिया। संयुक्त राष्ट्र और सहायता सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

एक सहायता सूत्र ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र समर्थित सरकार ने राजधानी त्रिपोली के दक्षिण-पूर्वी आइन जारा क्षेत्र के दो केंद्रों से इन शरणार्थियों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया।

संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी यूएनएचसीआर ने अपने बयान में कहा कि उसने अन्य एजेंसियों और अवैध शरणार्थी प्रतिरोधक विभाग के साथ मिलकर इन शरणार्थियों को स्थानांतरित किया है। एक अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठन ने कहा इन शरणार्थियों में मुख्यत: इथोपिया, सोमालिया और इरिट्रिया से हैं। इनको युद्ध क्षेत्र से निकालकर अलग-अलग निगरानी केंद्रों में ले जाया गया है। आइन जारा में कुछ शरणार्थी अभी भी मदद का इंतजार कर रहे हैं।

इन शरणार्थियों के रक्षक गुटों के संघर्ष के कारण इनको छोड़कर भाग गये थे जिसके कारण करीब 30 शरणार्थियों की मौत हो गयी थी। लीबिया में वर्ष 2011 में नाटो समर्थित क्रांति से तानाशाह मुअम्मर गद्दाफी के सत्ता से बेदखल किये जाने के बाद यहां विभिन्न गुट सत्ता के लिए संघर्षरत है।

लीबिया के प्रधानमंत्री फयज अल सेराज ने कहा है कि दक्षिणी त्रिपोली में अभी भी संघर्ष जारी है और वहां निवासी अपने घरों में फंसे हुए हैं। विभिन्न अफ्रीकी देशों के शरणार्थियों के लिए लीबिया उत्तरी अफ्रीका से भूमध्य सागर पार करके यूरोप जाने का मुख्य निकासी स्थान है।

दिनेश

रायटर

image