Thursday, Jul 18 2024 | Time 19:24 Hrs(IST)
image
राज्य » उत्तर प्रदेश


प्रचंड गर्मी से जनजीवन अस्तव्यस्त, योगी हुये सक्रिय

प्रचंड गर्मी से जनजीवन अस्तव्यस्त, योगी हुये सक्रिय

लखनऊ 31 मई (वार्ता) प्रचंड गर्मी की चपेट में आये घनी आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में जनजीवन अस्तव्यस्त बना हुआ है और व्यवसायिक गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हुयी हैं।

प्रदेश के लगभग सभी जिलों में पारा 44 डिग्री सेल्सियस के ऊपर बना हुआ है। सड़कों और बाजारों में सुबह दस बजे से शाम चार बजे तक सन्नाटा पसरा रहता है जिससे व्यवसायिक गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हुयी हैं।

शाहजहांपुर समेत कुछ स्थानो पर गुरुवार शाम आंधी और बरसात से लोगों को फौरी राहत मिली मगर जल्द ही तापमान में बढोत्तरी का सिलसिला फिर से जोड़ पकड़ने लगा है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में राज्य के पूर्वी इलाकों में आंधी और ओलावृष्टि के आसार व्यक्त किये है।

गर्मी और लू के कारण कई लोगों अकाल मौत का शिकार बन चुके हैं। जानवर और पंक्षी भी गर्मी के कारण दम तोड़ रहे हैं। अस्पतालों में हीट स्ट्रोक समेत अन्य मौसम जनित बीमारियों के मरीजों की संख्या में खासा इजाफा हुआ है। मौसम की मार फसलों और आम के बागानों पर भी पड़ी है। चिकित्सकों ने सलाह दी है कि गर्मी के मद्देनजर सुबह दस बजे से शाम तीन बजे तक जरुरी काम से ही घर या दफ्तर से निकलें और निकलने से पहले सिर,कान को गमझे या अन्य कपड़े से ढक कर रखें। पेय पदार्थ का जम कर उपयोग करें और तली भुनी बाजारु खाद्य पदार्थो के सेवन से बचें। बीमारी की दशा में चिकित्सीय सलाह से ही दवा का उपयोग करें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लू के हालात के मद्देनजर अधिकारियों को हर स्तर पर हो बचाव के पुख्ता प्रबंध किये जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होने अनावश्यक बिजली कटौती, खराब ट्रांसफार्मर, ट्रिपिंग, फाल्ट आदि समस्याओं का तत्काल निराकरण कराने के निर्देश दिये और हीटवेव (लू) के लक्षणों और उससे बचाव के लिए आमजन को जागरूक किये जाने को कहा। उन्होने कहा कि पेयजल का अभाव कहीं भी नहीं होना चाहिये। बाजार और मुख्य मार्गों पर जगह-जगह पेयजल की व्यवस्था सभी जिला प्रशासन करे। राहत आयुक्त कार्यालय के स्तर से मौसम पूर्वानुमान का दैनिक बुलेटिन जारी किया जाए। प्राणि उद्यानों/अभयारण्यों में हीट-वेव एक्शन प्लान का प्रभावी क्रियान्वयन हो। गोशालाओं में पशुधन के चारे और पानी की उचित व्यवस्था की जाये। बीमारी की स्थिति में हर किसी को तत्काल चिकित्सकीय सुविधा मुहैया करायी जाये।

उन्होने कहा कि पिछले कुछ दिनों से प्रदेश में भीषण गर्मी-लू का प्रकोप देखा जा रहा है। तापमान बढ़ रहा है।ऐसी स्थिति में आम जनजीवन और पशुधन, वन्यजीवों की सुरक्षा के लिए हर स्तर पर पुख्ता प्रबंध किए जाएं। जरूरत हो तो अतरिक्त बिजली खरीदने की व्यवस्था करें। ट्रांसफार्मर जलने/तार गिरने, ट्रिपिंग जैसी समस्याओं का बिना विलंब निस्तारण किया जाए। अधिकारी फोन अटेंड करें, कहीं भी विवाद की स्थिति न बनने पाए, यदि ऐसा हो तो वरिष्ठ अधिकारी तत्काल स्वयं मौके पर पहुंचें।

योगी ने कहा कि सभी नगर निकायों/ग्रामीण क्षेत्रों में सार्वजनिक स्थानों पर प्याऊ रखवाए जाएं। बाजार में/मुख्य मार्गों पर जगह-जगह पेयजल की व्यवस्था हो। इस कार्य में सामाजिक/धार्मिक संस्थाओं का भी सहयोग लिया जाना चाहिए। सड़कों पर नियमित रूप से पानी का छिड़काव कराया जाए।

सार्वजनिक स्थानों पर प्याऊ का संचालन एक पुनीत कार्य, गोवंश, श्वान आदि के लिए सार्वजनिक स्थानों पर पानी एवं छाया की व्यवस्था की जानी चाहिए। पक्षियों के लिए छोटे बर्तनों में पानी एवं दाना रखने के लिए आम जन को करें जागरूक करें।

प्रदीप

वार्ता

image