Sunday, Sep 23 2018 | Time 20:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अपराधियों ने चाकू मारकर की युवक की हत्या
  • फोटो कैप्शन-तीसरा सेट
  • खराब मौसम के कारण कैलास यात्रा से लौटे श्रद्धालु उत्तराखंड में फंसे
  • राहुल और ओलांद के बयानों में तारतम्य की कोई वजह जरूर है: जेटली
  • शेखावाटी की धरती पर पहुंचाया हिमालय का पानी-वसुंधरा
  • उत्तर रेलवे बना ओवरआॅल चैम्पियन
  • पत्रकारों के खिलाफ हमले को रोकने के लिए जनमत
  • ट्रेन से गिरकर हवलदार की मौत
  • राफेल सौदा देश का सबसे बड़ा रक्षा घोटाला: भूषण
  • आयुष्मान भारत ऐतिहासिक एवं अनूठी पहल : लालजी
  • काले धन के रूप में रुपया देश से बाहर जाने से डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर हुआ: स्वामी
  • वार्ड सदस्य की डूबकर मौत
  • पैन पैसिफिक फाइनल हारने के बाद वुहान ओपन से हटीं ओसाका
  • केजरीवाल की अमित शाह को बहस की चुनौती
  • महाराष्ट्र में धूमधाम से हुआ गणेश विसर्जन
India Share

माल्या का बयान तथ्यात्मक रूप से गलत : जेटली

माल्या का बयान तथ्यात्मक रूप से गलत : जेटली

नयी दिल्ली 12 सितम्बर (वार्ता) वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भगोड़ा कारोबारी विजय माल्या के इस बयान को तथ्यात्मक रूप से गलत तथा सच्चाई से परे बताया है कि उसने विदेश जाने से पहले उनसे मुलाकात कर बकाया ऋण निपटाने की पेशकश की थी।
मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, ब्रिटेन में रह रहे विजय माल्या ने लंदन की एक अदालत में उसके प्रत्यर्पण पर सुनवाई के लिए पेशी से पहले संवाददाताओं से कहा कि भारत छोड़ने से पहले वह वित्त मंत्री से मिला था और बैंकों का बकाया कर्ज निपटाने की पेशकश की थी।
श्री जेटली ने कहा “विजय माल्या का मुझसे मिलने और कर्ज निपटाने की पेशकश की बात तथ्यात्मक रूप से गलत है क्योंकि यह सच्चाई से परे है।” उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 के बाद से उन्होंने माल्या को कभी मिलने के लिए समय नहीं दिया इसलिए उससे मिलने का सवाल ही नहीं पैदा होता।
वित्त मंत्री ने कहा कि राज्यसभा का सदस्य होने के नाते माल्या कभी-कभार संसद आ जाते थे और एक दिन उन्होंने अचानक संसद के गलियारे में उनके पास आकर कहा कि वह बैंकों से लिये गये कर्ज को निपटाने के बारे में कुछ पेशकश करना चाहते हैं। श्री जेटली ने कहा “मुझे माल्या के झूठों के बारे में पहले बताया जा चुका था और इसलिए मैंने शिष्टता पूर्वक उनसे कहा “मुझसे बात करने का कोई फायदा नहीं है। आपको अपने बैंकरों से बात करनी चाहिये। मुझे पता था कि बैंकों का ऋण चुकाने की उसकी कोई मंशा नहीं है।”
श्री जेटली ने कहा कि माल्या अपने साथ जो कागजात लेकर आये थे वे भी उन्होंने नहीं लिये। माल्या ने इस मौके का राज्यसभा सदस्य होने के नाते गलत लाभ उठाया लेकिन मैंने उनसे सिर्फ एक वाक्य कहा। इसके अलावा कभी भी न तो अपने कार्यालय में और न घर पर उन्हें मिलने का समय दिया।
अजीत संजीव
वार्ता

More News
केजरीवाल की अमित शाह को बहस की चुनौती

केजरीवाल की अमित शाह को बहस की चुनौती

23 Sep 2018 | 8:09 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह के दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर काम नहीं करने और इससे दिल्ली की जनता के नाराज होने संबंधी बयान पर श्री केजरीवाल ने भाजपा अध्यक्ष को खुले मैदान में बहस करने की चुनौती दी है।

 Sharesee more..
भूटान भारत के परिवार का हिस्सा रहा है: वेंकैया

भूटान भारत के परिवार का हिस्सा रहा है: वेंकैया

23 Sep 2018 | 7:08 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा है कि भारत भूटान को अपने परिवार का ही हिस्सा मानता है और वहां की संस्कृति ने भारतीयों को हमेशा आकर्षित किया है।

 Sharesee more..

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर ‘मुशायरा’

23 Sep 2018 | 6:49 PM

 Sharesee more..
दिल्ली की सभी लोकसभा सीटें फिर जीतेगी भाजपा  : शाह

दिल्ली की सभी लोकसभा सीटें फिर जीतेगी भाजपा : शाह

23 Sep 2018 | 6:17 PM

नयी दिल्ली 23 सितम्बर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने विश्वास व्यक्त किया है कि 2019 के आम चुनाव में उनकी पार्टी दिल्ली की सभी सातों लोकसभा सीटों पर फिर कब्जा करेगी।

 Sharesee more..
image