Thursday, Jan 28 2021 | Time 07:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • नवेलनी मामले को लेकर रूस पर प्रतिबंध लगा सकता है यूरोपीय संघ
  • ईरान पर लगे प्रतिबंधों को हटाने में समय लगेगा : ब्लिंकन
  • अमेरिका में कैपिटल हिल हिंसा मामले में तीन लोगों पर आरोप तय
  • इजरायल में कोरोना संक्रमण के 7,412 नये मामले
  • अमेरिका में कोविड-19 से 4 28 लाख से अधिक लोगों की मौत
  • ब्रिटेन में एस्ट्राजेनेका के वैक्सीन संयंत्र के पास मिला संदिग्ध पैकेट
  • अमेरिका ने यूएई और सऊदी अरब के साथ रक्षा समझौतों पर लगाई रोक
  • कैमरून में सड़क दुर्घटना में 53 लोगों की मौत, 29 घायल
राज्य » अन्य राज्य


ममता ने मोदी से नेताजी के जन्मदिन को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने का किया अनुरोध

ममता ने मोदी से नेताजी के जन्मदिन को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने का किया अनुरोध

कोलकाता 18 नवम्बर (वार्ता) पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जा ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के जन्मदिन को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने का अनुरोध किया।

सुश्री बनर्जी ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कहा, “आप अच्छी तरह से जानते हैं कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती 23 जनवरी, 2022 को मनाई जाएगी। नेताजी बंगाल के महान सपूतों में से एक है जो कि एक राष्ट्रीय नायक, राष्ट्रीय नेता और ब्रिटिश शासन के खिलाफ भारत की स्वतंत्रता आंदोलन के प्रतीक हैं।”

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने कहा कि उनके नेतृत्व में भारतीय राष्ट्रीय सेना के हजारों बहादुर सैनिकों ने मातृभूमि के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया। नेताजी का जन्मदिन हर वर्ष पूरे देश में बड़ी गरिमा और श्रद्धापूर्वक मनाया जाता है। आपको स्मरण दिला रहे हैं कि लंबे समय से केंद्र सरकार से हम नेताजी के जन्मदिन को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने का अनुरोध कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हालांकि अभी तक यह नहीं हो पाया है। वास्तव में हमारे महान नेता और एक राष्ट्रीय नायक के सम्मान के लिए हम अपने अनुरोध को दाेहराते हुए 23 जनवरी को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने का अनुरोध करते हैं। शायद नेताजी की आगामी 125 वीं जयंती के उपलक्ष्य के अवसर पर यह राष्ट्रीय नेता का उचित सम्मान होगा। जो मातृभूमि की स्वतंत्रता के लिए दृढ़ संकल्प, साहस, नेतृत्व, एकता और प्रेम का प्रतीक है। इसके अलावा आप भी नेताजी के लापता होने के रहस्य के बारे पूरी तरह से अवगत हैं।

सुश्री बनर्जी ने कहा देश के लोग और विशेषकर बंगाल के लोगों को सच्चाई जानने का अधिकार है। पश्चिम बंगाल सरकार इस मुद्दे पर नेताजी से संबंधित कई फाइलों को पहले ही सार्वजनिक कर दिया है। कई अवसरों पर हम केन्द्र सरकार से इस मामले में स्थिति स्पष्ट करने के लिए उचित कदम उठाने के लिए अनुरोध कर चुके हैं।

उन्होेंने कहा हम केन्द्र सरकार से एक बार फिर से नेताजी के साथ क्या हुआ और इसका पता लगाने के लिए निर्णायक कदम उठाने का अनुरोध करेंगे तथा इस मामले को सार्वजनिक करें ताकि लोगों को पता चले कि आखिर महान नेता के साथ क्या हुआ था।

उप्रेती.संजय

वार्ता

image