Wednesday, Nov 14 2018 | Time 17:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • राम नाईक ने उच्च न्यायालय के नवनियुक्त मुख्य न्यायाधीश को दिलायी शपथ
  • शौरी का नाबाद शतक, दिल्ली ने हिमाचल को दिया 376 का लक्ष्य
  • पाकिस्तान चार राज्य नहीं संभाल सकता, कश्मीर क्या लेगा: अफरीदी
  • सहकारिता अमीरों और गरीबों के बीच खाई पाटे :राधामोहन
  • सहकारिता अमीरों और गरीबों के बीच खाई पाटे :राधामोहन
  • सहकारिता अमीरों और गरीबों के बीच खाई पाटे :राधामोहन
  • मारुति अर्टिगा के नये अवतार की बुकिंग शुरु 21 को बाजार में
  • श्रीलंका में अविश्वास प्रस्ताव को लेकर विरोधी दलों में तकरार
  • सेंसेक्स ढाई अंक और निफ्टी छह अंक फिसला
  • राजनीति इनेलो-अजय निष्कासित दो अंतिम चंडीगढ़
  • ‘प बंगाल में कोई ताकत न रखने वाला दल राज्य का नाम तय कर सकता है?’
  • एनजीटी ने पंजाब पर ठोंका 50 करोड़ रुपए जुर्माना
  • शिवभक्त नहीं, बगुला भगत हैं राहुल गांधी:भाजपा
  • मुजफ्फरनगर मण्डी में गुड़ एवं चीनी के भाव
  • समुद्री उत्पाद का निर्यात 95 प्रतिशत बढा
राज्य Share

छिटपुट घटनाओं को छोड़ बंद का मिलाजुला असर

छिटपुट घटनाओं को छोड़ बंद का मिलाजुला असर

जयपुर 10 सितम्बर (वार्ता) अखिल भारतीय कांग्रेस की ओर से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर आयोजित छह घंटे का राष्ट्र व्यापी भारत बंद के दौरान राजस्थान में छिटपुट घटनाओं को छोडकर बंद का मिलाजुला असर रहा।

बंद के दौरान राजधानी जयपुर ,कोटा , गंगापुर सहित कुछ जगह पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं और व्यापारियों के बीच झडपें हुयी और गंगापुर में तो पुलिस को कार्यकर्ताओं को अलग करने के लिये हल्का बल प्रयोग करना पडा। गंगापुर में झडप के दौरान दो व्यपारियों में आपस में मारपीट हो गयी जिन्हें पुलिस ने बडी मशक्कत के बाद अलग किया। वहीं कोटा संभग के बूंदी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सडकों पर टायर जलाकर अपना विरोध प्रदर्शन किया।

बंद को सफल बनाने के लिये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट , कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे और डा़ सी पी जोशी सहित कई नेता सड़कों पर उतरे जिसके कारण कुछ स्थानों पर व्यवसाईयों ने बाजार बंद रखा और उनके जाने के बाद पुन: खोल दिया।

राजधानी जयपुर में कांग्रेस नेता अमीन कागजी के नेतृत्व में त्रिपोलिया बाजार को जबरन बंद कराने के दौरान व्यापारियों और कार्यकर्ताओं में तनातनी हो गयी ओर ऐसे में एक कांग्रेसी कार्यकर्ता ने दुकानदार को जिंदगी भर के लिये दुकान बंद करने की घमकी दे डाली जिसके कारण माहौल खराब हो गया । इस पर खुद अमीन कागजी गाड़ी से बाहर आकर व्यापारियों से माफी मांगी लेकिन व्यापारियों ने अपने व्यवसाय बंद नही किये।

राजधानी जयपुर में शहर के कुछेक बाजारों को छोड़कर शेष बाजार आधे खुले और आधे बंद रहे । शहर में अधिकांश गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं ने स्कूलों में अवकाश रखा। शहर में यातायात पूरी तरह सामान्य रहा ।

कोटा में बंद को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं और व्यापारियों के बीच जमकर झडपें हुयी । इस दौरान एनएसयूआई के जिला अध्यक्ष राजेन्द्र और दुकानदारों के बीच जमकर धक्कामुक्की हुयी । एक बार तो ऐसा लगा कि मामला बिगड गया है लेकिन मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह मामले को सुलझाया। कांग्रेस के कार्यकताओं की टोलियां सवेरे से ही सड़कों पर घूम घूम कर बाजारों को बंद कराते देखी गयी। हालांकि प्रदेश में अधिकांश बाजारों के खुलने का समय ग्यारह बजे के आसपास रहता है।

अजमेर से प्राप्त सूचना के अनुसार वहां बंद के दौरान सांसद रघु शर्मा के नेतृत्व में गांधी भवन पर कांग्रेसियों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया और मानव श्रृंखला बनाकर महंगाई को कम करने की मांग की । सांसद श्री शर्मा ने कहा कि आज का बंद कांग्रेस की आवाज तो है ही लेकिन कांग्रेस से ज्यादा यह जनता की आवाज है।

बीकानेर से प्राप्त जानकारी के अनुसार यहां भारत बंद का मिला जुला असर रहा। व्यापारियों के सहयोग नही मिलने के कारण कांग्रेस ने अपने बंद के समय में कटौती कर दी । शहर के मुख्य बाजार के ई एम रोड पर दुकानें सुबह बंद रही, लेकिन 12 बजे के बाद कुछ दुकानें खुल गई, जबकि कुछ दुकानों में आधे शटर खुले थे।

उदयपुर के शहरी क्षेत्रों भारत बंद को पूरा समर्थन मिला वहीं ग्रामीण क्षेत्र में इसका असर मिला जुला रहा।

कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा बंद को सफल बनाने के लिए शहरी क्षेत्रों में टोलियां बनाकर अलग अलग क्षेत्रों में व्यापारियों से अपने प्रतिष्ठान बंद रखने की अपील करते दिखाई दिये।

भीलवाड़ा में बंद पूरी तरह से फेल नजर आया ओर अधिकांश बाजार अपने निधारित समय पर खुले । जिले में बदनोर माण्डल,बिगोद , जहाजपुर में बाज़ार पूरी तरह खुले रहे वही भीलवाड़ा शहर में केवल कांग्रेस समर्थकों ने अपनी दुकाने बंद रखी शेष बाज़ार खुले रहे । टेक्सटाइल क्षेत्र में बंद बेअसर रहा वही उद्योग और कल कारखानों तक बंद का आव्हान हीनहीं पहुँचा। भीलवाड़ा के गंगापुर में आज ज़बरन बंद कराने का प्रयास कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठियाँ भांजी जिस पर कई कार्यकर्ता ज़ख़्मी हो गये।

हनुमानगढ़ में कांग्रेसी और व्यापारी आमने सामने हुए. कांग्रेस कार्यकर्ताओं की ओर से बंद के आह्वान का व्यापारियों ने विरोध किया और कार्यकर्ताओं द्वारा बंद कराये गये बाजार वापस खुलवाये। इसी तरह भरतपुर के नदबई में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ब्लाक अध्यक्ष प्रशान्त उपाध्याय के नेतृत्व में किया प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री का पुतला भी जलाया.।

बंद को देखते हुये राज्य सरकार ने कडी सुरक्षा व्यवस्था की गयी जिसके कारण कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की जानकारी नही मिली । बंद आम तौर पर शांतिपूर्ण रहा।

image