Monday, Aug 26 2019 | Time 08:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 27 अगस्त)
  • इजराइल ने गाज़ा में किया जवाबी हवाई हमला
  • सऊदी ने यमन विद्रोहियों की ओर से दागे गए ड्रोन को नष्ट किया
  • सोलोमन द्वीप पर भूकंप के झटके
  • गाज़ा से इजराइल की ओर दागी गयी मिसाइल
  • बुमराह का कहर, भारत की विंडीज पर सबसे बड़ी जीत
  • स्विज़रलेंड में विमान दुर्घटना में तीन की मौत
  • सोनिया,ममता, प्रिंयका ने सिंधू को दी बधाई
लोकरुचि


मोबाइल की लत छुड़ाएगा ‘मोबाइल नशा मुक्ति केंद्र’

मोबाइल की लत छुड़ाएगा ‘मोबाइल नशा मुक्ति केंद्र’

प्रयागराज, 30 जुलाई (वार्ता)बदलते परिवेश में मोबाइल और इंटरनेट लोगों की प्रगति के लिये जहां आवश्यक संसाधनों में शामिल हो गया है वही दूसरी ओर इसका लोगों के स्वास्थ्य और व्यवहार में इसका प्रतिकूल असर भी पड़ रहा है।


    मनोचिकित्सक डाॅ0 राकेश पासवान नेे मंगलवार को यहां बताया कि मोबाइल और इंटरनेट लोगों की प्रगति के लिये जहां आवश्यक संसाधनों में शामिल हो गया है। उन्होंने कहा इसके अधिक प्रयोग से लोगों से स्वास्थ्य में प्रतिकूल असर पड़ रहा है।

    डॉ0 पासवान ने बताया कि मोबाइल के एक सीमा से अधिक प्रयोग से निजात दिलाने के लिए मोतीलाल नेहरु मंडलीय (काल्विन) अस्पताल में प्रदेश का पहला‘‘मोबाइल नशा मुक्ति केन्द्र” शुरू किया गया है।

     उन्होंने बताया कि मोतीलाल नेहरु मंडलीय (काल्विन) अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ0 वी के सिंह के नेतृत्व में गठित राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ कार्यक्रम की टीम कार्य कर रही है। जिसके नोडल अधिकारी प्रयागराज के एड़िशनल मुख्य चिकित्साधिकारी डा वी के मिश्रा है। 

केन्द्र के इन्चार्ज मनोचिकित्सक डाॅ0 राकेश पासवान ने ‘‘यूनीवार्ता” को बताया कि बच्चों के साथ-साथ वरिष्ठ नागरिकों और महिलाओं ,युवाओं में बढ़ती लत की समस्या को देखते हुए अस्पताल में मोबाइल नशा मुक्ति केन्द्र की सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को ओपीडी की शुरूआत की गयी है।  इसमें मोबाइल और इंटरनेट की लत छुडाने के लिए खास ओपीडी शुरू हुई है। इसमें मरीजो की काउंसिलिग के साथ आवश्यकता पड़ने पर दवायें भी उपलब्ध कराई जायेगी। इसके साथ ही कुछ खास थिरेपी योग भी बताया जाएगा।

     उन्होने बताया कि मोबाइल के आदी बन चुके लोगों के स्वास्थ्य के साथ ही व्यवहार में भी प्रतिकूल बदलाव देखने को मिल रहा है जिससे लोग चिडचिड़ेपन और बेचैनी के शिकार हो रहे हैं। इसके लती हुए लोगों में सिरदर्द, आंखों की रोशनी कमजोर होना, नींद न आना, अवसाद, सामाजिक अलगाव, तनाव, आक्रामक व्यवहार, वित्तीय समस्याएं, बर्बाद हुए रिश्ते और मानसिक विकास जैसे कई गंभीर समस्याओं का कारण बनती है। स्वस्थ, समृद्ध और शांतिपूर्ण जीवन जीने के लिए इस लत को दूर करना महत्वपूर्ण है। सेल फोन के आदी लोग लंबे समय तक काम पर ध्यान केंद्रित करने में सक्षम नहीं होते हैं। बहुत अधिक स्क्रीन समय मस्तिष्क पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है और ध्यान केंद्रित करने की क्षमता कम हो जाती है।

      डाॅ0 पासवान ने बताया कि मोबाइल की लत से पीड़ित लोग नोमोफोबिया से पीड़ित होते हैं। यह हमारे स्वास्थ्य, रिश्तों के साथ-साथ काम पर भी असर डालता है। मोबाइल फोन दुनिया भर के किसी भी व्यक्ति के साथ तुरंत जुड़ने

की स्वतंत्रता प्रदान करते हैं। वे हमें किसी भी आवश्यक जानकारी को खोजने में मदद करते हैं और मनोरंजन का एक बड़ा स्रोत है। उन्होने कहा कि यह आविष्कार हमें सशक्त बनाने के उद्देश्य से किया गया था, लेकिन यह कुछ ऐसा

है जो हमारे ऊपर हावी हो रहा है।

    उन्होने बताया कि हाइड्रोफोबिया, एक्रॉफोबिया और क्लेस्ट्रोफोबिया के बारे में सुना होगा लेकिन क्या नोमोफोबिया के बारे में सुना है। यह एक नए तरह का डर है जो मनुष्यों में बड़ी  संख्या में देखा जाता है। नोमोफोबिया “कोई मोबाइल फोन, फोबिया” नहीं है। यह एक के मोबाइल फोन के बिना होने का डर है। मोबाइल फोन के आदी किशोर सबसे खराब हैं। वे अपनी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित नहीं कर सकते। मोबाइल की लत उनके ध्यान केंद्रित करने की क्षमता को कम करती है और चीजों को समझने की उनकी क्षमता को कम करती है।

    डाॅ0 पासवान ने बताया कि अध्ययनों से पता चलता है कि जो लोग दिन में कई घंटों तक अपने मोबाइल फोन पर बात करते हैं, उनमें मस्तिष्क कैंसर विकसित होने की संभावना अधिक होती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि मोबाइल फोन मस्तिष्क की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने वाली रेडियो तरंगों का उत्सर्जन करते हैं। हालांकि, कई वैज्ञानिक और चिकित्सा व्यवसायी इस खोज से सहमत नहीं हैं।

More News
कान्हा की नगरी में बही भक्तिरस की गंगा

कान्हा की नगरी में बही भक्तिरस की गंगा

24 Aug 2019 | 4:22 PM

मथुरा, 24 अगस्त (वार्ता) श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व पर कन्हैया की नगरी मथुरा में कृष्ण भक्ति की गंगा प्रवाहित हो रही है।

see more..
श्रीकृष्ण की विश्राम स्थली वृन्दावन में अब नही दिखती जन्माष्टमी पर जगमग

श्रीकृष्ण की विश्राम स्थली वृन्दावन में अब नही दिखती जन्माष्टमी पर जगमग

21 Aug 2019 | 1:33 PM

इटावा , 21 अगस्त(वार्ता)भगवान श्रीकृष्ण की विश्रामस्थली के रूप में विख्यात उत्तर प्रदेश के इटावा स्थित वृन्दावन में मुगलकालीन शिल्पकला से निर्मित विशाल गगनचुम्बी मंदिर आवासीय परिसरों में तब्दील हो जाने के बावजूद आज भी लोगों को अपनी ओर आकृष्ट कर रहे हैं ।

see more..
पुष्प तेजोमहल में दर्शन देंगे कान्हा

पुष्प तेजोमहल में दर्शन देंगे कान्हा

20 Aug 2019 | 6:43 PM

मथुरा, 20 अगस्त (वार्ता) श्रीकृष्ण जन्मस्थान के भागवत भवन में अनूठे तरीके से बनाए गए ‘पुष्प तेजोमहल’ में विराजमान होकर ठाकुर इस बार श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर भक्तेां को दर्शन देंगे।

see more..
जौनपुर में कजगांव का ऐतिहासिक कजली मेला मनाया गया

जौनपुर में कजगांव का ऐतिहासिक कजली मेला मनाया गया

20 Aug 2019 | 12:40 PM

जौनपुर , 20 अगस्त(वार्ता)उत्तर प्रदेश के जौनपुर में स्थित कजगांव और राजेपुर के कजरी का ऐतिहासिक मेला सोमवार को हर्षोल्लास से मनाया गया।

see more..
image