Monday, Jul 22 2019 | Time 17:17 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इनेलो ने कीं अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ अध्यक्षों के नियुक्तियां
  • मानवाधिकार आयोग में महिला सदस्य के शामिल करने का स्वागत
  • शेयर बाजार में गिरावट
  • कानून व्यवस्था के मुद्दे पर बसपा सदस्यों ने किया परिषद से बहिर्गमन
  • सहकारिता समितियों का रिकार्ड ऑनलाईन किया जा रहा है: ग्रोवर
  • एस्सार दिवाला मामले में यथास्थिति बनाये रखने का आदेश
  • शराब और गांजा के साथ चार गिरफ्तार
  • भंडारा लगाने के नाम पर टैंट हाऊस से सामान लेकर चंपत
  • धर्मस्थलों पर विशाखा गाइडलाइन लागू करने संबंधी याचिका खारिज
  • सूचना के अधिकार को खत्म करने वाला विधेयक : कांग्रेस
  • चंद्रयान-2 के सफल प्रक्षेपण पर राज्यसभा की बधाई
  • हरियाणा में गत छह माह में अपराधों में आई लगभग आठ प्रतिशत की गिरावट: यादव
  • बिहार के उग्रवाद प्रभावित जिलों में सड़क और पुल-पुलियों का निर्माण शुरू
  • धोनी को ट्रेनिंग के लिये सेना प्रमुख रावत से मिली अनुमति
  • धोनी को ट्रेनिंग के लिये सेना प्रमुख रावत से मिली अनुमति
India


मोदी ने आंध्र प्रदेश के मामले में नहीं निभाया राजधर्म: नायडू

मोदी ने आंध्र प्रदेश के मामले में नहीं निभाया राजधर्म: नायडू

नयी दिल्ली, 11 फरवरी (वार्ता) आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने केंद्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार पर तीखा हमला करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि उनके राज्य का विशेष दर्जा नहीं दिये जाने के मामले में राजधर्म का निर्वाह नहीं किया है और आने वाले आम चुनाव में लोग उन्हें सबक सिखायेंगे।
तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) अध्यक्ष श्री नायडू ने सोमवार सुबह राजघाट पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद आंध्र प्रदेश भवन पर ‘धर्म पोरता दीक्षा’ धरना शुरू किया। धरने में मुख्यमंत्री के साथ प्रदेश के मंत्री, पार्टी के सांसद तथा अन्य नेता शामिल हुए। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला तथा लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव के भी इस धरना में पहुंचने की उम्मीद है।
श्री नायडू कहा कि 2014 में आंध्र प्रदेश के विभाजन के समय किए गए सभी वादों को पूरा किया जाना चाहिए। उन्होंने श्री मोदी को चेताया कि आंध्र प्रदेश की जनता पर निजी हमले किए तो राज्य के लोग उन्हें “ कड़ा सबक ” सिखायेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा “ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने गुजरात में 2002 के दौरान हुए दंगों पर कहा था, ‘ राज धर्म नहीं निभाया गया। अब आंध्र प्रदेश के मामले में ‘ राज धर्म ’ का पालन नहीं किया जा रहा है । राज्य की जनता के अधिकारों को देने से मना किया जा रहा है ।” उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार आंध्र प्रदेश की जनता के साथ बड़ा अन्याय कर रही है।
श्री नायडू ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछा कि जब आंध्र प्रदेश सरकार केंद्र के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए दिल्ली आने वाली थी, तो एक दिन पहले श्री मोदी गुंटूर क्यों गए थे?
उन्होंने कहा, “मैं केंद्र सरकार विशेषकर प्रधानमंत्री को व्यक्तिगत हमला करना बंद करने की चेतावनी दे रहा हूं। यह प्रदर्शन आंध्र प्रदेश के लोगों के आत्मसम्मान से जुड़ा हुआ है। जब हमारे आत्मसम्मान पर हमले होंगे तो हम उसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।” उन्होंने कहा कि अगर आप हमारी मांगों को पूरा नहीं करेंगे, तो हमें पता है कि उसे कैसे पूरा कराया जा सकता है?
उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार विरोधी दलों की आवाज को दबाने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का बेजा इस्तेमाल करती है और भय दिखाती है। श्री नायडू ने कहा कि केंद्र सरकार ने आंध्र प्रदेश के पिछड़े जिलों के लिए बुंदेलखंड की तरह विशेष पैकेज का वादा किया था लेकिन सरकार ने राज्य की जनता से धोखा किया है ।
उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार द्वारा आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्ज देने से इन्कार के बाद श्री नायडू का श्री मोदी के साथ विवाद शुरू हो गया था और वह राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से अलग हो गए थे। वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी पार्टियों को संगठित करने की मुहिम में सबसे आगे हैं और लगातार राष्ट्रीय राजधानी का दौरा कर रहे हैं।
श्री मोदी ने रविवार को श्री नायडू पर कड़ा हमला करते हुए कहा कि आंध्र के मुख्यमंत्री अपने बेटे को आगे बढ़ाने में व्यस्त हैं और उन्होंने राज्य के विकास के लिए कुछ भी नहीं किया है।
सूत्रों के अनुसार श्री नायडू की अगुवाई में तेदेपा का एक प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से मुलाकात कर ग्यापन सौंपेगा।
गौरतलब है कि तेदेपा केंद्र की सरकार में शामिल थी और राज्य को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिए जाने पर नाराज होकर पिछले साल मार्च में अलग हो गई थी ।
मिश्रा.श्रवण
वार्ता

More News
चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण देश के गौरवशाली इतिहास का विशेष क्षण: मोदी

चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण देश के गौरवशाली इतिहास का विशेष क्षण: मोदी

22 Jul 2019 | 4:52 PM

नयी दिल्ली, 22 जुलाई (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चंद्रमा पर भारत के दूसरे मिशन चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण पर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों और सभी देशवासियों को बधाई देते हुये सोमवार को कहा कि यह देश के गौरवशाली इतिहास का विशेष क्षण है।

see more..
जनजातीय आयोग की सोनभद्र यात्रा टली

जनजातीय आयोग की सोनभद्र यात्रा टली

22 Jul 2019 | 2:07 PM

नयी दिल्ली 22 जुलाई (वार्ता) राष्ट्रीय जनजाति आयोग ने उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के एक गांव में भूमि विवाद में 10 आदिवासी लाेगों के मारे जाने तथा कई के घायल होने की मामले की जांच के लिए घटनास्थल का दौरा टाल दिया है।

see more..
कर्नाटक के दो विधायकों की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई

कर्नाटक के दो विधायकों की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई

22 Jul 2019 | 12:52 PM

नयी दिल्ली 22 जुलाई (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने कर्नाटक में शाम पांच बजे तक विश्वास मत प्रक्रिया पूरी करने संबंधी दो बागी विधायकों की नयी याचिका पर तत्काल सुनवाई से सोमवार को इन्कार कर दिया।

see more..
सोनभद्र घटना के विरोध में कांग्रेस सांसदों का प्रदर्शन

सोनभद्र घटना के विरोध में कांग्रेस सांसदों का प्रदर्शन

22 Jul 2019 | 12:35 PM

नयी दिल्ली, 22 जुलाई (वार्ता) कांग्रेस सांसदों ने उत्तर प्रदेश के सोनभद्र की घटना तथा पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को गिरफ्तार किये जाने के विरोध में संसद भवन परिसर में सोमवार को प्रदर्शन किया और सरकार विरोधी नारे लगाए।

see more..
image