Sunday, Jun 23 2024 | Time 07:50 Hrs(IST)
image
राज्य


आपदा में मोदी के मूंह से उफ्फ तक नहीं निकली:संजय

आपदा में मोदी के मूंह से उफ्फ तक नहीं निकली:संजय

शिमला, 22 मई (वार्ता) हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष संजय अवस्थी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि जनता को गुमराह करने के लिए श्री मोदी एक बार फिर राज्य में आने वाले हैं। श्री मोदी को सिर्फ चुनाव के समय ही हिमाचल की याद आती है बाकी न तो उन्हें दुख के समय हिमाचल की याद आती है और न ही प्राकृतिक आपदा के समय। अब जब सत्ता डगमगाने लगी तो उन्हें एक बार फिर हिमाचल की याद आने लगी है।

श्री अवस्थी ने कहा कि श्री मोदी ने 10 वर्ष पहले जो वायदे किए थे उनका क्या हुआ। आज न तो पीएम मोदी उन वादों की बात करते हैं और न ही किसानों की आय दोगुनी करनी की। आज न तो हवाई चप्पल वालों को जहाज में बिठाने की हो रही और न सेब को स्पेशल कैटेगरी में लाने की। इसके अलावा न ही सेब को ड्रोन के माध्यम से मंडी तक पहुंचाने की बात कर रहे हैं।

श्री अवस्थी ने कहा कि श्री मोदी सिर्फ और सिर्फ जनता को गुमराह करने की बात करते हैं । जो इस बार होने वाला नहीं है इस बार प्रदेश की जनता उनसे दस वर्ष का हिसाब मांगेगी। उन्होंने कहा कि श्री मोदी जब हिमाचल आते हैं तो इसे दूसरा घर कहते हैं लेकिन जब वे देश के किसी दूसरे राज्यों में जाते हैं तो वहां के हो जाते हैं। ऐसे में कोई कैसे उनकी बातों पर भरोसा कैसे कर सकता है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में सदी की सबसे बड़ी त्रासदी आई। जिससे प्रदेश को 10 हजार करोड़ का नुकसान हुआ 551 लोगों को अपनी जिंदगी से हाथ धोना पड़ा लेकिन श्री मोदी के मुंह से एक बार उफ्फ तक नहीं निकली। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू कई बार श्री मोदी के पास आर्थिक सहयोग करने और राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग करते रहे लेकिन श्री मोदी ने एक रुपए का भी सहयोग नहीं किया। यही आपदा अगर उतराखंड और गुजरात में आई होती जहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार है तो श्री मोदी दिल खोलकर अपना खजाना उड़ाते। उन्होंने कहा कि श्री मोदी हिमाचल में सेपू बड़ी और बदाना खाने आते हैं यहां की भोली भाली जनता को चिकनी- चुपनी बातों से गुमराह करने आते हैं। लेकिन इस बार लोग उनके झांसे में नहीं आने वाले हैं बल्कि इसका करारा जवाब देने वाले हैं। श्री मोदी पैसे का आवंटन आपदा प्रभावित राज्य हिमाचल को देने के लिए नहीं बल्कि चुनी हुई सरकार के विधायकों की खरीद -फरोख्त के लिए खर्च करते हैं।

श्री अवस्थी ने कहा कि श्री मोदी ने हिमाचल के सबसे बड़े उद्योग सेब को स्पेशल कैटेगरी में लाने और इम्पोर्ट ड्यूटी सौ फिसदी करने का वादा किया था लेकिन आज उसे भी 70 फीसदी से घटाकर 50 फ़ीसदी कर दिया है। इसके अलावा विश्व के 44 देशों से सेब का आयात कर अपने मित्रों अडानी-अंबानी को दूसरे देशों से बैकडोर लाभ पहुंचा रहे हैं। जो इनके दोहरे चरित्र को दर्शाता है। उन्होंने कि इसके अलावा 69 एनएस बनाने की बात कही थी आज हालत यह ही कि जो फोरलेन बनाए हैं वह भी प्राकृतिक आपदा में टूट गए।

उन्होंने कहा कि इस बार पीएम मोदी के जुमले कामयाब नहीं होने वाले हैं क्योंकि प्रदेश की जनता के साथ साथ देश के मतदाताओं ने मोदी को सत्ता से बेदखल करने का मूड बना दिया है। चार जून को इंडिया समूह की सरकार बनाने जा रही है जिसकी बौखलाहट श्री मोदी और उनकी टीम में साफ दिखाई दे रही है।

सं.संजय

वार्ता

image