Thursday, Jun 13 2024 | Time 09:37 Hrs(IST)
image
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


मोदी की 'घुसपैठिए', 'मंगलसूत्र' संबंधी टिप्पणियां निंदनीय : ओवैसी

मोदी की 'घुसपैठिए', 'मंगलसूत्र' संबंधी टिप्पणियां निंदनीय : ओवैसी

छत्रपति संभाजीनगर (महाराष्ट्र), 07 मई (वार्ता) ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मुसलमानों पर बार-बार ‘अशोभनीय’ हमलों, समुदाय को ‘घुसपैठिए’ के रूप में ब्रांड करने और मुसलमानों को लाभ पहुंचाने के लिए हिंदू महिलाओं के ‘मंगलसूत्र’ छीने जाने के आरोप को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की निंदा की है।

निवर्तमान सांसद एवं औरंगाबाद लोकसभा क्षेत्र से पार्टी उम्मीदवार इम्तियाज जलील के समर्थन में ऐतिहासिक आमखास मैदान में सोमवार रात चुनावी रैली को संबोधित करते हुए श्री ओवैसी ने कहा कि श्री मोदी ने अपने भाषण में मुसलमानों के बारे में गंभीर नकारात्मक भ्रम पैदा करने की कोशिश की है।

उन्होंने कहा, “ एक सौ तीस करोड़ लोगों का देश प्रधानमंत्री से इस तरह के बयान की उम्मीद नहीं करता है। 'घुसपैठिए', या 'मुस्लिम महिलाएं अधिक बच्चे पैदा करती हैं' जैसे शब्दों का इस्तेमाल करना उनके पद के अनुरूप नहीं है। वह यह कहकर हिंदुओं के बीच भय का माहौल पैदा करके क्या हासिल करना चाहते हैं कि अगर कांग्रेस सत्ता में आयी, तो वे हिंदू महिलाओं से मंगलसूत्र छीन लेंगे और मुसलमानों को धन, सोना और संपत्ति बांट देंगे?”

श्री ओवैसी ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक के मुताबिक 2019 से 2024 तक देश की महिलाओं ने परिवार की जरूरतों को पूरा करने के लिए एक लाख करोड़ का सोना गिरवी रखा है।

उन्होंने कहा, “आपको लगता है कि देश के मुसलमान हिंदू बहनों से मंगलसूत्र छीन लेंगे। आपको ऐसा क्यों लगता है कि इस देश के मुसलमान घुसपैठिए हैं? बोलने से पहले थोड़ा सोचें। आप सर्वोच्च जिम्मेदार पद पर हैं।” उन्होंने इंडिया समूह पर भी निशाना साधा और कहा कि महाराष्ट्र की 48 सीटों से एक भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि 47 सीटें जीतने की चिंता करने के बजाय ये सभी दल औरंगाबाद में श्री इम्तियाज जलील को हराने के लिए एक साथ आ रहे हैं। कांग्रेस नेता कह रहे हैं कि धर्मनिरपेक्ष वोटों पर चुनी गई पार्टियों को मुस्लिम वोट मिल सकते हैं, लेकिन मुस्लिम उम्मीदवार उन्हें नहीं चाहते।

उन्होंने कहा, “दो-दो शिवसेना , दो-दो राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के बीच कांग्रेस यहां श्री जलील को हराने की कोशिश कर रही है, लेकिन हिंदू, मुस्लिम, धनगर, सिख, ईसाई आयम के साथ हैं। इसलिए 13 मई को केवल पतंग उड़ेगी। उन्होंने श्री उद्धव ठाकरे पर आरोप लगाया कि वह भले ही यूथ टिकट रिफिल हो जाए, लेकिन वह मुस्लिम मौलाना को मान्यता नहीं देते हैं, लेकिन मुस्लिम खाते से वोट जरुर मांगते हैं। वह अपने लड़के (श्री आदित्य ठाकरे) के राजनीतिक भविष्य के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं।

एआईएमआईएम प्रमुख ने कहा कि श्री उद्धव ठाकरे ने तीन तलाक, समान नागरिकता कानून (सीएए), गैर-कानूनी गतिविधियाँ रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) का समर्थन किया है।

उन्होंने कहा, “एआईएमआईएम ही एकमात्र ऐसी पार्टी है, जो सरकार की आलोचना करने के मामले में बिना किसी डर के संसद में बोलती है, वह मैं और जलील हैं। कांग्रेस और अन्य धर्मनिरपेक्ष दलों के सांसदों में कहने की हिम्मत नहीं है...श्री जलील ने मराठा मुद्दे पर आवाज उठाई और धनगर आरक्षण।”

आदर्श क्रेडिट यूनियन घोटाले में निवेशकों के लिए किए गए आंदोलन की याद दिलाते हुए, श्री ओवैसी ने श्री जलील की सराहना करते हुए कहा कि वह एक समुदाय के नेता नहीं हैं, बल्कि सभी जातियों और धर्मों के लोगों के बीच लोकप्रिय हैं। इसलिए उन्हें बहुमत से चुनने के लिए एकजुट होकर वोट करें।

श्री ओवैसी ने अपने भाषण में औरंगाबाद लोकसभा के दोनों उम्मीदवारों यूबीटी के चंद्रकांत खैरे और शिवसेना (शिंदे समूह) के संदीपन भुमरे की भी आलोचना की।

वीबीए प्रमुख प्रकाश अंबेडकर के इस आरोप पर कि श्री ओवैसी ने उनकी पीठ में छुरा घोंपा है। एआईएमआईएम नेता ने कहा, "यह हम नहीं बल्कि कांग्रेस है जिसने आपकी पीठ में छुरा घोंपा है। बैठक में बुलाया, चर्चा की, भारत अघाड़ी के कार्यक्रम में आमंत्रित किया लेकिन आपको अपने साथ नहीं ले गए। ”

संतोष अशोक

वार्ता

image