Thursday, Sep 20 2018 | Time 22:54 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • फिल्म अभिनेता मोहन बाबू की मां का निधन
  • हाई-प्रोफाइल सुसाइड मामले में पैरवी करने पहुंचे चिदम्बरम
  • ओडिशा विधानसभा का मानसून सत्र अनिश्चितकाल के लिए स्थगित
  • ओडिशा में कई परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे मोदी
  • हाई-प्रोफाइल सुसाइड मामले में पैरवी करने पहुंचे चिदम्बरम
  • झारखंड में हो रहा 60 हजार करम पौधों का रोपण : रघुवर
  • मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका
  • सफाईकर्मी करेंगे 21 से 25 सितम्बर तक भूख हड़ताल
  • आनंदपुर साहिब -नैना देवी रोपवे प्रोजेक्ट को मंजूरी
  • मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका
  • कार और ट्रक की टक्कर में तीन की मौत
  • राजकीय सम्मान के साथ शहीद नरेंद्र सिंह का अंतिम संस्कार
  • नदीम ने 10 ओवर में 10 रन पर झटके आठ विकेट
  • एस्मा के तहत निलम्बन के खिलाफ रोडवेज कर्मियों की भूख हड़ताल
  • हरियाणा में 23-25 अक्तूबर तक होगा खेल महाकुम्भ
भारत Share

मोदी अब भी लोगों के पसंदीदा नेता, राहुल दूसरे नंबर पर

मोदी अब भी लोगों के पसंदीदा नेता, राहुल दूसरे नंबर पर

नयी दिल्ली 04 सितम्बर (वार्ता) अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों की रणभेरी बजने से ऐन पहले किये गये एक ऑनलाइन सर्वेक्षण में 48 फीसदी लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना पसंदीदा नेता मानते हुए उनके नेतृत्‍व में विश्‍वास जताया है, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस मामले में दूसरे स्‍थान पर हैं लेकिन उन्हें सर्वेक्षण में शामिल केवल 11 प्रतिशत लोगों ने ही अपना नेता माना है। यह सर्वेक्षण राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर से जुड़े संगठन ‘इंडियन पॉलिटिकल एक्‍शन कमेटी’ (आई-पीएसी) के तत्वावधान में ‘नेशनल एजेंडा फोरम’ (एनडीएफ) के तहत कराया गया है। सर्वेक्षण में 57 लाख से ज्यादा लोग शामिल हुए हैं।

सर्वेक्षण में शामिल 48 फीसदी लोगों का मानना है कि प्रधानमंत्री पद के लिए श्री नरेन्द्र मोदी आज भी उनकी पहली पसंद हैं। श्री मोदी ही ऐसे नेता हैं जो ‘देश के एजेंडे’ को आगे ले जा सकते हैं। सर्वेक्षण में शामिल लोग अभिनेता अक्षय कुमार, भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान एमएस धोनी, योग गुरु बाबा रामदेव एवं पत्रकार रवीश कुमार को राजनीति करते देखना चाहते हैं।

आई-पीएसी ने सर्वेक्षण में शामिल लोगों से 923 नेताओं के बारे में अपनी पसंद जाहिर करने के लिए कहा था। श्री मोदी और श्री गांधी के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 9.3 प्रतिशत वोटों के साथ तीसरे स्थान पर हैं। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया अखिलेश यादव सात फीसदी वोटों के साथ चौथे स्थान पर, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 4.2 प्रतिशत वोटों के साथ पांचवें और बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती 3.1 फीसदी वोटों के साथ छठे स्थान पर हैं।

लोगों से अपना नेता चुनने की सूची में ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) नेता शरद पवार सहित कई राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय नेताओं के नाम शामिल किये गये थे।

यह सर्वेक्षण 55 दिनों में देश के 712 जिलों में संपन्न कराया गया। आई-पीएसी भारत का पहला और सबसे बड़ा क्रॉस-पार्टी वकालत समूह है, जो दूरदर्शी, प्रगतिशील और समावेशी नेताओं के चुनाव में समर्थन करने का प्रयास करता है।

सुरेश.श्रवण

वार्ता

More News

20 Sep 2018 | 9:05 PM

 Sharesee more..
डंपर घोटाला : शिवराज के खिलाफ दायर याचिका खारिज

डंपर घोटाला : शिवराज के खिलाफ दायर याचिका खारिज

20 Sep 2018 | 8:57 PM

नयी दिल्ली, 20 सितम्बर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने मध्य प्रदेश में डंपर घोटाला मामले में मुख्यमंत्री शिवराज चौहान के खिलाफ जांच संबंधी याचिका गुरुवार को खारिज कर दी।

 Sharesee more..
मिशेल के प्रत्यर्पण के बारे में यूएई से सूचना नहीं -विदेश मंत्रालय

मिशेल के प्रत्यर्पण के बारे में यूएई से सूचना नहीं -विदेश मंत्रालय

20 Sep 2018 | 8:52 PM

नयी दिल्ली 20 सितंबर (वार्ता) सरकार ने आज कहा कि अगुस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घाेटाले में बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल के प्रत्यर्पण के मामले में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) सरकार से उसे कोई औपचारिक सूचना नहीं मिली है।

 Sharesee more..
आरएसएस-भाजपा की सोच दलित विरोधी : मायावती

आरएसएस-भाजपा की सोच दलित विरोधी : मायावती

20 Sep 2018 | 8:21 PM

नयी दिल्ली 20 सितम्बर (वार्ता) बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के राष्ट्रीय राजधानी में आयोजित तीन दिवसीय संवाद को भारतीय जनता पार्टी सरकार की विफलताओं और भ्रष्टाचार से ध्यान बाँटने का प्रयास करार दिया तथा कहा कि संघ और भाजपा की सोच दलित, पिछड़ा वर्ग तथा मुस्लिम विरोधी है और उसके शासन में इन वर्गों की आजादी खतरे में पड़ गयी है।

 Sharesee more..
image