Monday, Jun 17 2019 | Time 22:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • योगी ने मुठभेड़ में शहीद मेजर केतन शर्मा को दी श्रद्धांजलि
  • डग्गामार वाहनों एवं ओवर लोडिंग पर हो प्रभावी नियंत्रण:योगी
  • मोदी की वापसी से पिछले पांच साल की बर्बादी और तबाही को ढंका नहीं जा सकता : दीपंकर
  • मैनपुरी से चार बदमाश गिरफ्तार,जेवरात आदि बरामद
  • गुजरात की युवती को विदेश में रहने वाले पति ने व्हाट्सएैप पर भेजा तीन तलाक का संदेश
  • सहारनपुर लूट का खुलासा दो लुटेरे गिरफ्तार नकदी बरामद
  • बिहार के लू प्रभावित इलाकों में बाजार रहेंगे बंद
  • एआईएमआईएम के पार्षदों का औरंगाबाद महापौर के खिलाफ धरना
  • कपड़ा मजदूरों ने 27 जून को हड़ताल का ऐलान किया
  • जेपी नड्डा को भाजपा का कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाये जाने पर सुशील ने दी बधाई
  • जल सरंक्षण के लिए श्री दरबार साहिब में सयंत्र स्थापित
  • दिल्ली पुलिस की सिख युवक से मारपीट की लोंगोवाल ने की निंदा
  • मरीज की मौत को लेकर हुआ हंगामा
  • स्कूल वैन से गिरे तीन बच्चे घायल
  • 2027 तक भारत सर्वाधिक आबादी वाला देश होगा
दुनिया


रायटर के दोनों कैद पत्रकारों को रिहा करे म्यांमार : पेंस

रायटर के दोनों कैद पत्रकारों को रिहा करे म्यांमार : पेंस

वाशिंगटन 05 सितंबर (रायटर) अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने म्यांमार से संवाद समिति रायटर के दो संवाददाताओं को दोषी करार देने और उन्हें सात वर्ष कैद की सजा सुनाने के अदालती आदेश को बदलने तथा उन्हें तत्काल रिहा करने को कहा है।

श्री पेंस ने मंगलवार को एक ट्विटर पोस्ट में लिखा,“ वा लोन और क्यूओ सो ओ (रायटर संवाददाता) का मानवाधिकारों के उल्लंघन और सामूहिक हत्याओं का खुलासा के लिए उनकी सराहना की जानी चाहिए ना कि उन्हें कारावास में डाला जाना चाहिए। एक मजबूत लोकतंत्र के लिए धर्म की स्वतंत्रता और प्रेस की स्वतंत्रता आवश्यक है।”

गौरतलब है कि म्यांमार की एक अदालत ने सरकारी गोपनीयता कानून के उल्लंघन केे मामले में रायटर के संवाददाताओं वा लोन (32) और क्याव सो ओ (28) को सोमवार को दोषी करार दिया और उन्हें सात वर्ष कैद की सजा सुनायी। दोनों को गत दिसंबर में गिरफ्तार किया गया था उस समय वे राखिने राज्य में सेना और लोगों द्वारा रोहिंग्या मुस्लिम अल्पसंख्यकों को मारे जाने की घटनाओं की पड़ताल कर रहे थे।

image