Monday, Oct 21 2019 | Time 23:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मरे ने लगायी 116 स्थान की छलांग
  • दुनिया को रोशन करने की क्षमता वाला झारखंड अंधेरे में रह गया : रघुवर
  • एग्जिट पोल के नतीजे, राहुल पर भाजपा का कटाक्ष
  • ऑस्ट्रेलियाई अखबारों ने पहला पन्ना काले रंग में प्रकाशित कर दिखाई एकजुटता
  • हिमाचल उपचुनाव: पच्छाद में 72 85 प्रतिशत और धर्मशाला में 65 38 प्रतिशत हुआ मतदान
  • हिमाचल उपचुनाव: पच्छाद में 72 85 प्रतिशत और धर्मशाला में 65 38 प्रतिशत हुआ मतदान
  • गुजरात, दिल्ली, महाराष्ट्र जूनियर खो खो के क्वार्टर फाइनल में
  • गुजरात, दिल्ली, महाराष्ट्र जूनियर खो खो के क्वार्टर फाइनल में
  • नॉर्थईस्ट ने बेंगलुरू को अंक बांटने पर मजबूर किया
  • नॉर्थईस्ट ने बेंगलुरू को अंक बांटने पर मजबूर किया
  • हरियाणा चुनाव-लीड मतदान समाप्त दो अंतिम चंडीगढ़
  • हरियाणा चुनाव-लीड मतदान समाप्त दो अंतिम चंडीगढ़
  • हरियाणा विस चुनाव में 65 प्रतिशत मतदान, उम्मीदवारों की किस्मत इवीएम में लॉक
  • हरियाणा विस चुनाव में 65 प्रतिशत मतदान, उम्मीदवारों की किस्मत इवीएम में लॉक
  • रेड्डी ने गुवाहाटी में बीएसएफ जवानों के साथ मनाई दिवाली
राज्य


नायडू ने वाईएसआर कांग्रेस काे अाड़े हाथों लिया

नायडू ने वाईएसआर कांग्रेस काे अाड़े हाथों लिया

अमरावती 07 सितम्बर(वार्ता) आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने राज्य विधानसभा के मानसून सत्र के बहिष्कार को लेकर मुख्य विपक्षी वाईएसआर कांग्रेस पार्टी को आड़े हाथों लिया और कहा कि वे अपना प्राथमिक दायित्व भूल चुके हैं।

श्री नायडू शुक्रवार को यहां मंत्रियों और तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के वरिष्ठ नेताओं के साथ टेलीकांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जनता विधानसभा सत्र को देख रही है और उसने विपक्ष के गैरजिम्मेदाराना रूख पर ध्यान दिया है और वह राजनीतिक दलों के इस रूख को सहन नहीं करेगी।

उन्हाेंने कहा कि हाल में कुछ शिक्षकों ने वाईएसआर कांग्रेस नेताओं से सवाल किया था कि वे विधानसभा सत्र का बहिष्कार क्यों कर रहे हैं , लेकिन विपक्षी नेता इसका जवाब नहीं दे सकते।

मुख्यमंत्री ने कहा , “ जब विपक्षी विधायक विधानसभा सत्र में शामिल नहीं हो रहे हैं, तब उनकी सदस्यता किसी और काम नहीं आयेगी। सदन में उपस्थित होना प्रत्येक विधायक का प्रमुख दायित्व है। सभी सदस्यों को लघु और दीर्घ बहस में शामिल होना चाहिए।” उन्हाेंने अमरावती राजधानी निर्माण को लेकर विधान परिषद में आयोजित बहस में शामिल होने सभी परिषद सदस्यों से अपील की।

टंडन

वार्ता

image