Wednesday, Sep 26 2018 | Time 09:58 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोदी ने मनमोहन को दी जन्मदिन की बधाई
  • सुषमा ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा सुधार पर की चर्चा
  • पुलिस ने मुठभेड़ के बाद तीन बदमाशों को किया गिरफ्तार
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 27 सितंबर)
  • फिनलैंड में परमाणु ऊर्जा संयंत्र बनाने के लिए शीघ्र मिलेगा लाइसेंस
  • चुनाव कराना राष्ट्रीय हित में नहीं: थेरेसा मे
  • तेलंगाना में रिश्वत लेने के मामले अधिकारी समेत दो गिरफ्तार
  • टाई रहा भारत और अफगानिस्तान का रोमांचक मुकाबला
  • टाई रहा भारत और अफगानिस्तान का रोमांचक मुकाबला
  • जम्मू निकाय चुनाव के लिए 815 उम्मीदवारों ने भरे पर्चे
  • पश्चिमी पाकिस्तान का शरणार्थी एक प्रतिनिधि मंडल जितेंद्र सिंह से मिला
दुनिया Share

नासा ने सूर्य मिशन के लिए भेजा यान

नासा ने सूर्य मिशन के लिए भेजा यान

वाशिंगटन 12 अगस्त (रायटर) अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने पहली बार सूर्य के नजदीक से अध्ययन करने के लिए रविवार की सुबह यान का प्रक्षेपण किया।

नासा ने इस मिशन काे 'पार्कर सोलर प्रोब' नाम दिया है। नासा का यान सूर्य के निकट जाकर उसके आसपास के वातावरण, स्वभाव और उसकी कार्यप्रणालियों का अध्ययन करेगा।

इस मिशन को शनिवार प्रक्षेपित किया जाना था, लेकिन किसी कारणवश इसका प्रक्षेपण नहीं हो सका।

नासा का यह अंतरिक्ष यान एक छोटी कार के आकार जितना है फ्लोरिडा के केनेडी स्पेस सेंटर से स्थानीय समयानुसार तड़के 3.30 लॉन्च किया गया। यह कुछ महीनों के बाद सूर्य के करीब पहुंचेगा। इस मिशन का कार्यकाल सात वर्ष का है और इस दौरान यह सात बार सूर्य की सतह से करीब 40 लाख मील की दूरी से गुजरेगा। इससे पहले कभी कोई भी अंतरिक्ष यान सूर्य इतने करीब से नहीं गुजरा है, जितने करीब यह यान पहुँचेगा।

इस मिशन पर 1.4 अरब का खर्च आया है। अगर यह मिशन सफल रहता है तो हमें दुनिया के अस्तित्व के बारे में पता लगाने में और आसानी हो जाएगी।

वर्ष 2024 तक यह यान 6.4 मिलियन किलोमीटर की दूरी तय कर सूर्य के सात चक्कर लगाएगा। इस यान को थर्मल प्रोटेक्शन सिस्टम से लैस किया गया है। यह पृथ्वी के मुकाबले तीन हजार गुना अधिक गर्मी को सहन कर सकता है। इस यान को कुछ इस तरह बनाया गया है कि यह सूर्य की गर्मी को अवशेषित कर ले और उसे विक्षेपित कर देगा। इस यान में एक वाटर कूलिंग सिस्टम भी लगाया गया है, जो इस यान को सौर ऊर्जा से क्षतिग्रस्त होने से बचाएगा और यान का तापमान 29 डिग्री सेल्सियस पर बनाए रखेगा।

सं टंडन

रायटर

More News
फिनलैंड में परमाणु ऊर्जा संयंत्र बनाने के लिए शीघ्र  मिलेगा लाइसेंस

फिनलैंड में परमाणु ऊर्जा संयंत्र बनाने के लिए शीघ्र मिलेगा लाइसेंस

26 Sep 2018 | 8:01 AM

मास्को 26 सितंबर(वार्ता) रूसी सरकारी परमाणु ऊर्जा कंपनी रोसाटोम और इसके साझेदारों को फिनलैंड में अगले वर्ष हनहिकिवी-1 परमाणु ऊर्जा संयंत्र (एनपीपी) बनाने के लिए जल्द ही लाइसेंस प्राप्त हो सकता है।

 Sharesee more..
गरीबी से लडने के भारत के प्रयासाें की ट्रंप ने की सराहना

गरीबी से लडने के भारत के प्रयासाें की ट्रंप ने की सराहना

25 Sep 2018 | 11:19 PM

न्यूयार्क, 25 सितंबर(वार्ता) अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंंप ने गरीबी से लडने के भारत के प्रयासाें की जमकर सराहना की है।

 Sharesee more..
किसी को आतंकवाद का समर्थन करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए: सुषमा

किसी को आतंकवाद का समर्थन करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए: सुषमा

25 Sep 2018 | 8:35 PM

न्यूयाॅर्क 25 सितंबर (वार्ता) भारत ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा है कि जब दुनिया कई तरह के संघर्षों का सामना कर रही है तब किसी भी देश को आतंकवाद का समर्थन करने और उसे संरक्षण देने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

 Sharesee more..
image