Wednesday, Nov 21 2018 | Time 23:14 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • विधायकों के वेतन में बढ़ोतरी गरीबों के साथ क्रूर मजाक : भाकपा-माले
  • राज्यपाल ने जम्मू कश्मीर विधानसभा भंग की
  • बंदी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
  • रेल परियोजनाओं के कार्य में लायें तेजी : रघुवर
  • नवीन ने मोदी को पोलावरम परियोजना बंद करने के लिए पत्र लिखा
  • मसानजोर टूरिस्ट कॉम्पलेक्स का शीघ्र होगा लोकार्पण
  • मिर्जापुर में दूसरे दिन भी अराजक तत्वों ने किया कई जगह पथराव
  • अमित शाह ने किया बीकानेर में रोड शो
  • ट्रैक्टर से कुचलकर एक की मौत
  • गुजरात में नदी से मिले जनधन योजना के खातों के 350 से अधिक एटीएम कार्ड
  • अखनूर में पाकिस्तानी सेना ने संघर्ष विराम का उल्लंघन किया
  • अखनूर में पाकिस्तानी सेना ने संघर्ष विराम का उल्लंघन किया
  • एसटीएफ ने मुठभेड़ में किए दो पेशेवर लुटेरे गिरफ्तार
  • कांग्रेस के नेता सत्ता का मक्खन खाने को बेकरार: तोमर
दुनिया Share

नासा ने सूर्य मिशन के लिए भेजा यान

नासा ने सूर्य मिशन के लिए भेजा यान

वाशिंगटन 12 अगस्त (रायटर) अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने पहली बार सूर्य के नजदीक से अध्ययन करने के लिए रविवार की सुबह यान का प्रक्षेपण किया।

नासा ने इस मिशन काे 'पार्कर सोलर प्रोब' नाम दिया है। नासा का यान सूर्य के निकट जाकर उसके आसपास के वातावरण, स्वभाव और उसकी कार्यप्रणालियों का अध्ययन करेगा।

इस मिशन को शनिवार प्रक्षेपित किया जाना था, लेकिन किसी कारणवश इसका प्रक्षेपण नहीं हो सका।

नासा का यह अंतरिक्ष यान एक छोटी कार के आकार जितना है फ्लोरिडा के केनेडी स्पेस सेंटर से स्थानीय समयानुसार तड़के 3.30 लॉन्च किया गया। यह कुछ महीनों के बाद सूर्य के करीब पहुंचेगा। इस मिशन का कार्यकाल सात वर्ष का है और इस दौरान यह सात बार सूर्य की सतह से करीब 40 लाख मील की दूरी से गुजरेगा। इससे पहले कभी कोई भी अंतरिक्ष यान सूर्य इतने करीब से नहीं गुजरा है, जितने करीब यह यान पहुँचेगा।

इस मिशन पर 1.4 अरब का खर्च आया है। अगर यह मिशन सफल रहता है तो हमें दुनिया के अस्तित्व के बारे में पता लगाने में और आसानी हो जाएगी।

वर्ष 2024 तक यह यान 6.4 मिलियन किलोमीटर की दूरी तय कर सूर्य के सात चक्कर लगाएगा। इस यान को थर्मल प्रोटेक्शन सिस्टम से लैस किया गया है। यह पृथ्वी के मुकाबले तीन हजार गुना अधिक गर्मी को सहन कर सकता है। इस यान को कुछ इस तरह बनाया गया है कि यह सूर्य की गर्मी को अवशेषित कर ले और उसे विक्षेपित कर देगा। इस यान में एक वाटर कूलिंग सिस्टम भी लगाया गया है, जो इस यान को सौर ऊर्जा से क्षतिग्रस्त होने से बचाएगा और यान का तापमान 29 डिग्री सेल्सियस पर बनाए रखेगा।

सं टंडन

रायटर

More News
दुनिया भर में भारतीयों का डंका: राष्ट्रपति

दुनिया भर में भारतीयों का डंका: राष्ट्रपति

21 Nov 2018 | 8:09 PM

सिडनी/नयी दिल्ली 21 नवंबर (वार्ता) राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने बुधवार को भारतीय समुदाय के सदस्यों के कठोर परिश्रम एवं प्रतिभा की सराहना करते हुए कहा कि भारतीय व्यवसायी दुनियाभर में प्रगति कर रहे हैं।

 Sharesee more..

अफगानिस्तान में 13 तालिबानी आतंकवादी ढेर

21 Nov 2018 | 4:26 PM

 Sharesee more..

सीरिया में अमेरिका नीत गठबंधन के हवाई हमले

21 Nov 2018 | 3:57 PM

 Sharesee more..

गुटेरेस ने की काबुल हमले की कड़ी निंदा

21 Nov 2018 | 3:00 PM

 Sharesee more..
image