Saturday, Sep 22 2018 | Time 18:11 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कांग्रेस ने किसानों के साथ वादे क्यों नहीं निभाए : मोदी
  • शहीद विकास गुरुंग की स्मृति में द्वार का शिलान्यास
  • सवर्णों पर लाठीचार्ज करने वालों पर हो कार्रवाई : प्रेमचंद्र
  • ओलांद के बयान पर बेवजह विवाद पैदा किया जा रहा है: रक्षा मंत्रालय
  • जेमिमा का अर्धशतक, भारत को 2-0 की बढ़त
  • खाद्य तेल, दालें स्थिर, चीनी में नरमी
  • मोदी को काले झंडे दिखाने जा रहे कांग्रेस अध्यक्ष एवं अन्य नेता गिरफ्तार
  • शहीदों के कार्यक्रम को पैसों की बर्बादी बताने पर गहलोत मांगे माफी-वसुंधरा
  • बसपा से गठबंधन पर बातचीत जारी - कमलनाथ
  • बारिश से किसानों के माथे पर खिंची चिंता की लकीरें
  • खेलों के जरिये मानवीय मूल्य का विकास जरूरी : लालजी
  • उच्च शिक्षा सामग्री भारतीय भाषाओं में हो उपलब्ध: कोविंद
  • मोदी ने किया बिलासपुर-अनूपपुर तीसरी रेल लाइन, बिलासपुर-पथरापाली फोरलेन सड़क का शिलान्यास
  • मोदी ने किया बिलासपुर-अनूपपुर तीसरी रेल लाइन, बिलासपुर-पथरापाली 4-लेन सड़क का शिलान्यास
  • राहुल ने मोदी काे बताया ‘चोर’ और ‘भ्रष्ट’
खेल Share

मणिपुर में राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय संबंधी विधेयक लोकसभा में पेश

मणिपुर में राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय संबंधी विधेयक लोकसभा में पेश

नयी दिल्ली, 23 जुलाई (वार्ता) अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी और कोच तैयार करने तथा खेल विज्ञान के क्षेत्र में बुनियादी ढांचा विकसित करने के उद्देश्य से मणिपुर में देश के पहले राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए लोकसभा में सोमवार को विधेयक पेश किया गया।

केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ ने सदन में राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय विधेयक, 2018 पेश किया। यह विधेयक इस संबंध में 31 मई 2018 को पारित अध्यादेश की जगह लेगा। इससे पहले उन्होंने राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय विधेयक, 2017 वापस लिया जिसे पिछले साल अगस्त में पेश किया गया था। बीच में अध्यादेश आने के कारण पुराना विधेयक वापस लेना पड़ा।

विश्वविद्यालय के निर्माण पर 524 करोड़ रुपये का खर्च आयेगा। विश्वविद्यालय का मुख्य परिसर मणिपुर में होगा और देश में तथा विदेशों में कई स्थानों पर इसकी शाखाएँ खोली जा सकेंगी।

नये विश्वविद्यालय में खेल विज्ञान, खेल प्रौद्योगिकी, खेल प्रबंधन, खेल औषधि तथा उच्च स्तर के प्रशिक्षण पर फोकस होगा। साथ ही खलों के विभिन्न क्षेत्रों में स्नातक तथा स्नातकोत्तर डिग्री भी दी जायेगी। यहां अनुसंधान एवं प्रशिक्षण की भी सुविधा होगी। इसमें एडवेंचर और दिव्यांग खेलों के प्रशिक्षण की भी व्यवस्था होगी।

अभी देश में खेलों के प्रशिक्षण के संबंध में सिर्फ दो संस्थान हैं। मध्य प्रदेश का ग्वालियर स्थित समकक्ष विश्वविद्यालय लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक प्रशिक्षण संस्थान सिर्फ शारीरिक प्रशिक्षण में स्नातक और स्नातकोत्तर की डिग्री देता है जबकि पटियाला स्थित नेताजी सुभाष राष्ट्रीय खेल संस्थान सिर्फ एथलीटों और कोचों के प्रशिक्षण का काम करता है।

विश्वविद्यालय के सभी परिसरों में एथलीट, खिलाड़ी, कोच, अंपायर और रेफरी तैयार करने पर फोकस होगा। विश्व स्तरीय पाठ्यक्रम, अनुसंधान सुविधाएं तथा प्रयोगशालाएं तैयार करने के लिए सरकार ने ऑस्ट्रेलिया के कैनबरा विश्वविद्यालय और विक्टोरिया विश्वविद्यालय के साथ सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये हैं।

 

More News
नवीन फाइनल में, स्वर्णिम इतिहास से एक कदम दूर

नवीन फाइनल में, स्वर्णिम इतिहास से एक कदम दूर

22 Sep 2018 | 6:02 PM

नयी दिल्ली, 22 सितम्बर (वार्ता) भारत के नवीन ने स्लोवाकिया के ट्रनावा में चल रही जूनियर विश्व कुश्ती प्रतियोगिता में 55 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग के फाइनल में प्रवेश कर लिया है और वह अब स्वर्णिम इतिहास रचने से एक कदम दूर रह गए हैं।

 Sharesee more..
खेल रत्न के लिए कोशिश जारी रहेगी: बोपन्ना

खेल रत्न के लिए कोशिश जारी रहेगी: बोपन्ना

22 Sep 2018 | 6:02 PM

नयी दिल्ली, 22 सितम्बर (वार्ता) भारतीय युगल विशेषज्ञ टेनिस स्टार रोहन बोपन्ना अर्जुन अवार्ड मिलने को सपना पूरा होना जैसा मानते हैं और उनका कहना है कि देश के सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न के लिए उनकी कोशिशें जारी रहेंगी।

 Sharesee more..
अब सारा ध्यान विश्व चैंपियनशिप पर लगाऊंगा: बजरंग

अब सारा ध्यान विश्व चैंपियनशिप पर लगाऊंगा: बजरंग

22 Sep 2018 | 4:50 PM

नयी दिल्ली, 22 सितम्बर (वार्ता) राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों के स्वर्ण विजेता पहलवान बजरंग पुनिया ने देश के सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न के लिए उन्हें नजरअंदाज किये जाने को लेकर अपनी नाराजगी को दरकिनार कर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप पर ध्यान लगाने का फैसला किया है।

 Sharesee more..

22 Sep 2018 | 4:31 PM

 Sharesee more..
भारत और पाकिस्तान में होगी निर्णायक टक्कर

भारत और पाकिस्तान में होगी निर्णायक टक्कर

22 Sep 2018 | 2:29 PM

दुबई, 22 सितम्बर (वार्ता) भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच न्यूयार्क में इसी माह होने वाली बैठक बेशक रद्द हो गयी हो लेकिन दोनों देशों की क्रिकेट टीमों के बीच दुबई में रविवार को एशिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट के सुपर-4 का निर्णायक मुकाबला खेला जाएगा जिसमें जीतने वाली टीम का फाइनल का दावा मजबूत हो जाएगा।

 Sharesee more..
image