Wednesday, Dec 11 2019 | Time 16:23 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सरकार की नीतियों के विरुद्ध 14 दिसम्बर को कांग्रेस की रैली
  • वकीलों का पीआईसी में उत्पात: चार मरीजों की मौत
  • पीएसएलवी का मिशन-50, नौ सैटेलाइट का सफल प्रक्षेपण
  • पैंथर्स को मात देकर गुजरात पहले स्थान पर
  • पैंथर्स को मात देकर गुजरात पहले स्थान पर
  • अजमेर में भाषा शिक्षण पर तीन दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन शुरु
  • राजस्थान सरकार के सहरिया क्षेत्र में पांच प्रतिशत आरक्षण को मंजूरी सहित कई अह्म फैसले
  • संस्कृत विश्वविद्यालय विधेयक लोकसभा में पेश
  • पीएसएलवी ने पचासवीं उड़ान में पीएसएलवी सी48 समेत नौ सेटेलाइट का सफलतापूर्वक किया प्रक्षेपण
  • सीएबी के खिलाफ त्रिपुरा, असम में प्रदर्शन से जनजीवन पर असर
  • अफगानिस्तान में हवाईअड्डे के पास विस्फोट में एक की मौत,कई घायल
  • पाकिस्तान आटोमाेबाइल क्षेत्र बुरी तरह मंदी की गिरफ्त में: बिक्री 44 प्रतिशत गिरी
  • अस्ताना वार्ता की अगली बैठक अभी तय नहीं: सीरियाई दूत
  • लोकसभा में अग्नि हादसे के दोषियों की सजा की मांग
  • इस्लामाबाद हाईकोर्ट से जरदारी की जमानत मंजूर
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


एनसीआरबी रिपोर्ट ने खुलासा किया शिवराज के शासन की वास्तविकता: सलूजा

एनसीआरबी रिपोर्ट ने खुलासा किया शिवराज के शासन की वास्तविकता: सलूजा

भोपाल, 22 अक्टूबर (वार्ता) मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने कहा कि हाल ही में जारी हुई नेशनल क्राइम रिकाॅर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की रिपोर्ट इस बात का खुलासा करती है कि शिवराज सरकार ने काम कम किये और उसका महिमामंडन ज्यादा किया।

कांग्रेस की ओर से आज जारी विज्ञप्ति के अनुसार श्री सजूजा ने आरोप लगाते हुए कहा कि शिवराज सरकार द्वारा चलाई गई योजनाएं ‘‘बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ’’ और ‘‘लाडली लक्ष्मी योजना’’ सिर्फ कागजों व भ्रष्टाचार तक ही सीमित रही। हाल ही में एनसीआरबी की जो रिपोर्ट जारी हुई है वो 2017 की है और उस समय प्रदेश में शिवराज सरकार थी। इसने शिवराज सरकार के सुशासन की पोल खोलकर रख दी है।

उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार ने जानबूझ कर एनसीआरबी को अपराधों के आंकड़े विधानसभा चुनाव को देखते हुये देरी से भेजे, जिससे 2017 की रिपोर्ट देरी से जारी हुई। उन्होंने चुनाव में फायदा लेने के लिए आंकड़े नहीं भेज रिपोर्ट में देरी कराई और प्रदेश की जनता को दिग्भ्रमित किया। उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार में बेटियां सबसे ज्यादा असुरक्षित रही। सिर्फ उनकी सुरक्षा के बड़े-बड़े दावे किये जाते थे।

श्री सलूजा ने कहा कि मध्यप्रदेश में 2016 में महिला अपराध के 26,604 मामले सामने आये थे, लेकिन यही आंकड़ा 2017 में बढ़कर 29,788 पहुंच गया। यही नहीं प्रदेश में एक साल में नाबालिग मासूमों से ज्यादती के 3082 मामले प्रकाश में आये, इन आंकड़ो से साफ जाहिर होता है कि शिवराज सरकार ने प्रदेश की बेटियों के लिए जो योजनाएं चलाई वो सब कागजी व दिखावटी थी।

नाग व्यास

वार्ता

More News
कमलनाथ ने प्रणब मुखर्जी को जन्मदिन की दी शुभकामनाएं

कमलनाथ ने प्रणब मुखर्जी को जन्मदिन की दी शुभकामनाएं

11 Dec 2019 | 2:25 PM

भोपाल, 11 दिसंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी को उनके जन्मदिन पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं प्रेषित की है।

see more..
यूरिया के नाम पर भाजपा कर रही राजनीति: कमलनाथ

यूरिया के नाम पर भाजपा कर रही राजनीति: कमलनाथ

11 Dec 2019 | 1:22 PM

भोपाल, 11 दिसंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आरोप लगाते हुए आज कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता प्रदेश में यूरिया के नाम पर राजनीति कर रहे हैं।

see more..
भूपेश ने पिछले एक वर्ष में राजनीतिक विरोधियों को फंसाने में ताकत लगाई- जोगी

भूपेश ने पिछले एक वर्ष में राजनीतिक विरोधियों को फंसाने में ताकत लगाई- जोगी

11 Dec 2019 | 1:13 PM

रायपुर 11 दिसम्बर(वार्ता) जनता कांग्रेस के प्रमुख एवं छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने आरोप लगाया हैं कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पिछले एक वर्ष में चुनावी वादे पूरे करने एवं राज्य को आगे ले जाने की बजाय अपने राजनीतिक विरोधियों को विभिन्न मामलों में फंसाने में ताकत लगाई है।

see more..
image