Wednesday, Aug 12 2020 | Time 11:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बस्ती के विधायक को फोन कर प्रधानमंत्री को दी धमकी,मुकदमा दर्ज
  • जौनपुर में महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई को किया गया याद
  • गहलोत की प्रदेशवासियों को जन्माष्टमी पर बधाई
  • श्रीनगर में सीआरपीएफ निरीक्षक ने खुद को गोली मारी
  • प्रधानमंत्री कल ‘पारदर्शी कराधान - ईमानदार का सम्मान’ प्‍लेटफॉर्म करेंगे लॉन्च करेंगे
  • विश्व में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 02 करोड़ के पार
  • कोटा में कोरोना के 118 नये मामले सामने आये
  • बिहार,असम और उत्तर प्रदेश में एक दिन में कोरोना के सर्वाधिक सक्रिय मामले
  • राहत इंदौरी हुए सुपुर्दे ए खाक
  • एक दिन में 56,110 लोग कोरोनामुक्त, अब तक करीब 16 40 लाख स्वस्थ हुए
  • कर्नाटक में आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर भड़की हिंसा, पुलिस गोलीबारी में तीन मरे
  • सकारात्मक परिवर्तन के वाहक बने युवा: वेंकैया
  • भारतीय मूल की कमला हैरिस अमेरिका की उपराष्ट्रपति की उम्मीदवार घोषित
  • मथुरा यमुना एक्सप्रेस वे पर खड़ी बस में कैंटर ने मारी टक्कर,चार की मृत्यु, दस घायल
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


एनसीआरबी रिपोर्ट ने खुलासा किया शिवराज के शासन की वास्तविकता: सलूजा

एनसीआरबी रिपोर्ट ने खुलासा किया शिवराज के शासन की वास्तविकता: सलूजा

भोपाल, 22 अक्टूबर (वार्ता) मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने कहा कि हाल ही में जारी हुई नेशनल क्राइम रिकाॅर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की रिपोर्ट इस बात का खुलासा करती है कि शिवराज सरकार ने काम कम किये और उसका महिमामंडन ज्यादा किया।

कांग्रेस की ओर से आज जारी विज्ञप्ति के अनुसार श्री सजूजा ने आरोप लगाते हुए कहा कि शिवराज सरकार द्वारा चलाई गई योजनाएं ‘‘बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ’’ और ‘‘लाडली लक्ष्मी योजना’’ सिर्फ कागजों व भ्रष्टाचार तक ही सीमित रही। हाल ही में एनसीआरबी की जो रिपोर्ट जारी हुई है वो 2017 की है और उस समय प्रदेश में शिवराज सरकार थी। इसने शिवराज सरकार के सुशासन की पोल खोलकर रख दी है।

उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार ने जानबूझ कर एनसीआरबी को अपराधों के आंकड़े विधानसभा चुनाव को देखते हुये देरी से भेजे, जिससे 2017 की रिपोर्ट देरी से जारी हुई। उन्होंने चुनाव में फायदा लेने के लिए आंकड़े नहीं भेज रिपोर्ट में देरी कराई और प्रदेश की जनता को दिग्भ्रमित किया। उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार में बेटियां सबसे ज्यादा असुरक्षित रही। सिर्फ उनकी सुरक्षा के बड़े-बड़े दावे किये जाते थे।

श्री सलूजा ने कहा कि मध्यप्रदेश में 2016 में महिला अपराध के 26,604 मामले सामने आये थे, लेकिन यही आंकड़ा 2017 में बढ़कर 29,788 पहुंच गया। यही नहीं प्रदेश में एक साल में नाबालिग मासूमों से ज्यादती के 3082 मामले प्रकाश में आये, इन आंकड़ो से साफ जाहिर होता है कि शिवराज सरकार ने प्रदेश की बेटियों के लिए जो योजनाएं चलाई वो सब कागजी व दिखावटी थी।

नाग व्यास

वार्ता

More News
शिवराज ने प्रदेशवासियों को जन्माष्टमी की दी शुभकामनाएं

शिवराज ने प्रदेशवासियों को जन्माष्टमी की दी शुभकामनाएं

12 Aug 2020 | 11:15 AM

भोपाल, 12 अगस्त (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने श्रीकृष्णजन्माष्टमी पर्व की प्रदेश के नागरिकों को हार्दिक शुभकामनाएं प्रेषित की है।

see more..
राहत इंदौरी हुए सुपुर्दे ए खाक

राहत इंदौरी हुए सुपुर्दे ए खाक

12 Aug 2020 | 11:13 AM

इंदौर, 12 अगस्त (वार्ता) मशहूर शायर और गीतकार राहत इंदौरी को सुपुर्दे ए खाक किया गया।

see more..
image