Thursday, Feb 20 2020 | Time 16:07 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • एशियाई हाथी, गोडावण विलुप्त हो रही प्रजातियों की सूची में शामिल होंगे
  • जमशेदपुर को हरा गोवा ने एएफसी चैंपियंस लीग के ग्रुप चरण में किया प्रवेश
  • निर्भया कांड के दोषी विनय ने गंभीर मानसिक रोगी बता कर दायर की याचिका
  • महिला विश्व कप में विजयी शुरुआत करने उतरेगा भारत
  • मोदी ने मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश के स्‍थापना दिवस पर बधाई दी
  • बस हादसे में मारे गये यात्रियों की मौत पर मोदी ने जताया शोक
  • ट्राईसाईक्लाजोल और बूप्रोफेजिन पर रोक के फैसले को वापस ले सरकार: एसीएफआई
  • हर घर में शुद्ध पेेयजल पहुंचाया जायेगा
  • दिव्या ने जीता स्वर्ण, भारत की झोली में छठा पदक
  • जीव संस्कृति का इस्तेमाल कर होगा प्रवासी प्रजातियों का संरक्षण
  • टाईसाईक्लाजोल और बूप्रोफेजिन पर रोक के फैसले को वापस ले सरकार: एसीएफआई
  • ट्रैक्टर पलटने से चार की मौत दस घायल
  • चिन्मयानंद की जमानत पर रिहाई के खिलाफ पीड़िता पहुंची सुप्रीम कोर्ट, सोमवार को सुनवाई
  • पूर्व मंत्री खुर्शीद अहमद और विधायक उदय लाल को विस में श्रद्धांजलि
  • कांग्रेस ने बागी विधायकों को फिर जनादेश प्राप्त करने की दी चुनौती
राज्य » बिहार / झारखण्ड


दरभंगा में बाढ़ से गृह क्षति के नुकसान का होगा सर्वेक्षण

दरभंगा, 20 अगस्त (वार्ता) बिहार में दरभंगा जिले के बाढ़ प्रभावित अंचलों में हुए गृह क्षति के नुकसान के लिए सर्वेक्षण कराया जायेगा।
जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस. एम. ने आज यहां बताया कि जिले के सभी बाढ़ प्रभावित अंचलों के अंचलाधिकारी को गृह क्षति का वास्तविक सर्वेक्षण कराने एवं विस्तृत प्रतिवेदन देने का निर्देश दिया गया है। सभी अंचलाधिकारी को पंचायतवार सर्वेक्षण टीम का गठन करने को कहा गया है। सर्वेक्षण टीम में इंदिरा आवास सहायक, विकास मित्र, पंचायत रोजगार सेवक एवं कृषि सलाहकार को रखा जायेगा। इन कर्मियों के पास एंड्रायड मोबाईल फोन पहले से मौजूद है जिसमें जी.पी.एस. ट्रैकर साफ्टवेयर इंस्टॉल कराया जायेगा।
डॉ. त्यागराजन ने कहा कि कृषि सलाहकार के पास पूर्व से ही जी.पी.एस. इनेबल्ड फोन है, जिसका उपयोग गृह क्षति सर्वेक्षण में किया जायेगा। सर्वेक्षण के क्रम में साक्ष्य स्वरूप क्षतिग्रस्त गृह का गृह स्वामी के साथ जियो टैग फोटो भी लिया जायेगा। जिसे प्रतिवेदन के साथ संलग्न करना अनिवार्य होगा। उन्होंने कहा कि बाढ़ से क्षतिग्रस्त सभी घरों चाहे वह पक्का का रहा हो या कच्चा या झोपड़ी रहा हो, के मालिक को आपदा विभाग के प्रावधानों के तहत मुआवजा दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा बाढ़ से क्षतिग्रस्त मकान, फसल आदि का मुआवजा का शीघ्र भुगतान करने का निर्देश जारी दिया गया है।
सं.सतीश
वार्ता
image