Friday, Jun 14 2024 | Time 11:17 Hrs(IST)
image
राज्य » बिहार / झारखण्ड


नक्सल प्रभावित क्षेत्र में पत्तल निर्माण कार्य से जुड़ी महिलाओं को प्रशासन देगा प्रशिक्षण

दुमका, 25 मई (वार्ता) झारखंड के नक्सल प्रभावित क्षेत्र के रूप में चिह्नित गोपीकांदर प्रखंड क्षेत्र में बड़ी संख्या में पत्तल निर्माण का कार्य से जुड़ी महिलाओं को ट्रेनिंग देकर पत्तल बनाने का मशीन उपलब्ध कराया जाएगा।
दुमका जिला प्रशासन ने इस दिशा में पहल शुरू कर दी है। इसके साथ ही स्थानीय महिलाओं द्वारा तैयार पत्तल का क्रय जिला प्रशासन द्वारा किया जाएगा।
दुमका के उपायुक्त रवि शंकर शुक्ला ने गुरुवार को जिले के नक्सल प्रभावित गोपीकांदर प्रखंड के ओड़मो पंचायत के महुलडाबर,कुंडापहाड़ी एवं चिरुडीह ग्राम में एनयूपीपीएल को आवंटित क्षेत्र के प्रभावित परिवारों की समस्या के सामाधान को लेकर ग्रामीणों के साथ बैठक की। बैठक में स्थानीय ग्रामीणों ने उपायुक्त को पेंशन, राशन, पेयजल आदि से संबंधित समस्याओं से अवगत कराया। उपायुक्त ने संबंधित पदाधिकारियों को लाभुकों को चिन्हित करते हुए इन्हें उक्त योजना से आच्छादित करने का निर्देश दिया
उपायुक्त ने कहा कि इस क्षेत्र में बड़ी संख्या में महिलाएं पत्तल निर्माण का कार्य करती हैं। उन्हें जल्द ही पत्तल बनाने की ट्रेनिंग देकर पत्तल बनाने का मशीन उपलब्ध कराया जाएगा तथा जिला प्रशासन उनके द्वारा तैयार पत्तल के क्रय की व्यवस्था करेगी जिससे इससे जुड़ी महिलाओं को उचित पारिश्रमिक मिल सकेगा।
अधिकारी ने कहा कि स्थानीय जनप्रतिनिधि तथा शिक्षित युवा वर्ग से अपने आसपास के वैसे लोग जिनकी उम्र 60 साल हो चुकी है तथा उन्हें अब तक सरकार द्वारा पेंशन नहीं मिल रहा है। उन्हें चिन्हित कर प्रखंड कार्यालय को उनकी सूची दें ताकि उन्हें पेंशन का लाभ दिया जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा दिव्यांग तथा विधवा महिलाओं के लिए भी पेंशन का लाभ दिया जाना है। जन प्रतिनिधि दिव्यांगजन तथा विधवा महिला की सूची तैयार कर उन्हें पेंशन योजना का लाभ दिलाने में जिला प्रशासन का सहयोग करें।
श्री शुक्ला ने कहा कि स्थानीय लोगों को स्कूल अस्पताल की सुविधा मिलेगी तथा 9 लोगों को कम से कम ₹15000 तक की नौकरी भी उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि गांव की समस्या को लेकर प्रधान उनसे मिलें । उनके गांव की समस्याएं यथाशीघ्र दूर की जाएगी। जिला प्रशासन आपके गांव और आपकी समस्याओं को सुनने आयी है। आपकी समस्या को जल्द से जल्द दूर किया जायेगा।
सं.सतीश
वार्ता
image