Sunday, Apr 14 2024 | Time 11:17 Hrs(IST)
image
राज्य » बिहार / झारखण्ड


मातृभाषा की जड़ों को करें मजबूत : कुलपति

दरभंगा, 21 फरवरी (वार्ता) बिहार के प्रतिष्ठित ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा के कुलपति प्रोफेसर संजय कुमार चौधरी ने मातृभाषा के महत्व को रेखांकित करते हुए आज कहा कि मातृभाषा की जड़े मजबूत करने की जरूरत है क्योंकि बच्चे अपनी मातृभाषा में आसानी से ज्ञान- विज्ञान की बातें ज्यादा आसानी से समझ पाते हैं।
श्री चौधरी ने आज यहां कहा कि विश्वविद्यालय हिन्दी, उर्दू, मैथिली तथा संस्कृत विभाग के संयुक्त तत्वावधान में जुबली हॉल में आयोजित 'अन्तरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस' के अवसर पर "नयी शिक्षा नीति और मातृभाषा में शिक्षा" विषयक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि जब दो बंगाली कहीं भी मिलते हैं तो वे अन्य विषयों के विद्वान होते हुए भी आपस में सिर्फ बंगाल में ही बातें करते हैं। हमें भी अपनी मातृभाषा में ही बातचीत कर इसका विकास करनी चाहिए।
हिन्दी के वरीय प्राध्यापक प्रो चन्द्रभानु प्रसाद सिंह ने कहा कि भारत विविधताओं का देश है। जहां अनेक भाषाएं, संस्कृतियां तथा परंपराएं हैं। यही इंद्रधनुषी सौंदर्य भारत की खासियत है। आज की भारतीय शिक्षा- व्यवस्था का मूल ढांचा 1835 ई. की मैकालीय शिक्षा व्यवस्था ही है। आज भी औपनिवेशिक मानसिकता के शिकार हैं। जब मातृभाषा शिक्षा और रोजगार का माध्यम बनेगी, तभी इसका समुचित विकास होगा। साल 2002 में संयुक्त राष्ट्र ने इस दिवस को मनाने की घोषणा की थी। पाकिस्तानी सरकार द्वारा उर्दू भाषा थोपे जाने पर आज के ही दिन 1952 में बांग्ला भाषा की रक्षा के लिए ढाका में लोग शहीद हुए थे। यह दिवस हमें बहुभाषिकता एवं बहुसांस्कृतिकता का बोध कराता है। उन्होंने कहा कि मातृभाषा में ही व्यक्ति के ज्ञान का नैसर्गिक विकास होता है।
कुलसचिव डा अजय कुमार पंडित ने मातृभाषा दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि नयी शिक्षा नीति-2020 में अपनी मातृभाषा में शिक्षा देने के महत्व को स्वीकार किया गया है। मातृभाषा के विकास से ही भारत का सर्वांगीण विकास संभव होगा।
धन्यवाद ज्ञापन करते हुए मानविकी संकायाध्यक्ष सह कार्यक्रम संयोजक प्रो ए.के बच्चन ने मातृभाषा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सभी बच्चों की प्रारंभिक शिक्षा का माध्यम उनकी मातृभाषा ही होनी चाहिए। इससे उन्हें ज्ञान ग्रहण करने में न केवल सुविधा होगी, बल्कि ज्यादा से ज्यादा व्यावहारिक ज्ञान भी प्राप्त हो सकेगा।
इस अवसर पर वित्तीय परामर्श डा दिलीप कुमार, संकायाध्यक्ष, विभागाध्यक्ष, शिक्षक, उप कुलसचिव प्रथम डा कामेश्वर पासवान, कार्यक्रम प्रभारी डा सुरेश पासवान, काव्य- पाठ के प्रभारी प्रो उमेश कुमार, क्विज प्रतियोगिता- प्रभारी डा आर एन चौरसिया, सहयोगी डा ज्वाला चन्द्र चौधरी, पदाधिकारी सहित 250 से अधिक शोधार्थी एवं छात्र- छात्राएं उपस्थित थे।
सं.सतीश
वार्ता
More News
कांग्रेस गठबंधन के पास ना कोई राष्ट्रीय चेहरा और ना कोई राष्ट्रीय संकल्प : सुदेश महतो

कांग्रेस गठबंधन के पास ना कोई राष्ट्रीय चेहरा और ना कोई राष्ट्रीय संकल्प : सुदेश महतो

13 Apr 2024 | 11:17 PM

रांची, 13अप्रैल (वार्ता) झारखंड के पूर्व उपमुख्यमंत्री सह आजसू पार्टी के अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा कि कांग्रेस गठबंधन के पास ना कोई राष्ट्रीय चेहरा और ना कोई राष्ट्रीय संकल्प ।

see more..
पैसे और परिवार केलिए राजनीति करता है इंडी ठगबंधन:बाबूलाल मरांडी

पैसे और परिवार केलिए राजनीति करता है इंडी ठगबंधन:बाबूलाल मरांडी

13 Apr 2024 | 11:16 PM

रांची, 13अप्रैल (वार्ता) झारखंड प्रदेश भाजपा कार्यालय सभागार में आज आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ राजीव रंजन, राजद के प्रदेश महासचिव हरदेव साहू एवं अंजू देवी के नेतृत्व में सैकड़ों लोगों ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली।

see more..
बिहार में 2005 से अबतक आठ लाख युवाओं को दी गई सरकारी नौकरी : नीतीश

बिहार में 2005 से अबतक आठ लाख युवाओं को दी गई सरकारी नौकरी : नीतीश

13 Apr 2024 | 11:13 PM

गया 13 अप्रैल (वार्ता) बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार ने 2005 में सत्ता में आने के बाद से राज्य में आठ लाख युवाओं को सरकारी नौकरियां दी हैं।

see more..
image