Sunday, Apr 22 2018 | Time 16:05 Hrs(IST)
image
image image
BREAKING NEWS:
  • कर्नाटक में कांग्रेस की अंतिम सूची जारी, सिद्दारामैया दो सीट से मैदान में
  • कर्नाटक में कांग्रेस की अंतिम सूची जारी, सिद्दारामैया दो सीट से मैदान में
  • भाजपा कर रही है दुष्कर्म के आरोपियों का संरक्षण: कांग्रेस
  • गुरु गोपी ने चुने 14 प्रतिभाशाली युवा
  • झांसी में थम नहीं रहा अपराधों का सिलसिला
  • भाजपा को झटका, बेलूर गोपालकृष्ण कांग्रेस में शामिल
  • सीताराम येचुरी फिर से चुने गए माकपा के महासचिव
  • भाजपा को झटका, बेलूर गोपालकृष्ण कांग्रेस में शामिल
  • महाभियोग प्रस्ताव पर राजनीति नहीं करे भाजपा: कांग्रेस
  • आईएस ने ली काबुल विस्फोट की जिम्मेदारी
  • एसएसबी ने जूडो क्लस्टर में जीती ओवरआल ट्रॉफी
  • अफगानिस्तान में आत्मघाती बम विस्फोट में 31 लोगों की मौत
बिजनेस Share

औद्योगिक उत्पादन में वृद्धि, खुदरा महंगायी ने दिया झटका

नयी दिल्ली,12 जनवरी (वार्ता) देश की आर्थिक गतिविधियों के पैमाने के तौर पर माने जाने वाले औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) में नवंबर 2017 में जोरदार वृद्धि ने जहां बजट से ठीक पहले आर्थिक मोर्चे पर सरकार को बड़ी राहत दी है वहीं ,खुदरा मंहगायी ने आम आदमी को बड़ा झटका दिया है।
सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय की ओर से आज नवंबर 2017 के जारी जारी आंकड़ों के मुताबिक नवंबर में आईआईपी की वृद्धि दर 2.2 प्रतिशत से बढ़कर 8.4 प्रतिशत पर पहुंच गयी जो पिछले 25 महीनों का उच्चतम स्तर है। इससे पिछले साल इसी माह में इसमें 5.1 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई थी।
वहीं, साल दर साल आधार पर अप्रैल-नवबंर के दौरान आईआईपी ग्रोथ 5.5 फीसदी से घटकर 3.2 फीसदी रही है।
महीने दर महीने के आधार पर नवबंर में विनिर्माण क्षेत्र सेक्टर की वृद्धि 2.5 फीसदी से बढ़कर 10.2 फीसदी, खनन क्षेत्र 0.2 फीसदी से बढ़कर 1.1 फीसदी ,बिजली क्षेत्र की 3.2 फीसदी से बढ़कर 3.9 फीसदी , कैपिटल गुड्स की दर 6.8 फीसदी से बढ़कर 9.4 फीसदी ,प्राथमिक वस्तुओं की 2.5 फीसदी से बढ़कर 3.2 फीसदी, टिकाउू उपभोक्ता वस्तुओं की 6.9 फीसदी से बढ़कर 2.5 फीसदी, गैर टिकाउु उत्पादों की 7.7 फीसदी से बढ़कर 23.1 फीसदी और इंटरमीडिएट वस्तुओं की वृद्धि दर 0.2 फीसदी से बढ़कर 5.5 फीसदी पर पहुंच गयी।
औद्योगिक उत्पादन के क्षेत्र में आयी इस खुशखबरी पर खुदरा महंगायी दर की तेजी ने दबाव बनाया । नवंबर के 4.88 प्रतिशत की तुलना में दिसंबर में खुदरा महंगायी दर बढकर 5.21 प्रतिशत पर पहुंच गयी जो कि पिछले 17 महीनों का उच्चतम स्तर है।
महीने दर महीने के आधार पर अंडा, सब्जियों और फलों की कीमतों में काफी तेजी आने से खाद्य पदार्थों की महंगाई दर 4.42 फीसदी से बढ़कर 4.96 फीसदी पर पहुंच गयी। महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में शहरी इलाकों की महंगाई दर 7.36 फीसदी से बढ़कर 8.25 फीसदी रही है।
दिसंबर में दालों की महंगाई दर 23.53 फीसदी रिणात्मक के मुकाबले 23.47 फीसदी रिणात्मक रही है। दिसंबर में सब्जियों की महंगाई दर 22.48 फीसदी से बढ़कर 29.13 फीसदी पर पहुंच गयी । हालांकि ईंधन और बिजली की महंगाई दर में कोई बदलाव नहीं हुआ है। और दिसंबर में यह 7.9 फीसदी पर टिकी रही ।महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में कपड़ों और जूतों की महंगाई दर 4.96 फीसदी से घटकर 4.8 फीसदी रह गयी ।
मधूलिका/शेखर
वार्ता
More News

जबलपुर अंडा डेयरी एवं मावा के भाव

22 Apr 2018 | 2:07 PM

 Sharesee more..

22 Apr 2018 | 1:58 PM

 Sharesee more..
कंपनियों के परिणाम,वैश्विक रुख से तय होगी शेयर बाजार की दिशा

कंपनियों के परिणाम,वैश्विक रुख से तय होगी शेयर बाजार की दिशा

22 Apr 2018 | 1:33 PM

मुम्बई 22 अप्रैल (वार्ता) बीते सप्ताह बढ़त में रहने वाले शेयर बाजार की दिशा अगले सप्ताह कई कारकों से प्रभावित होगी। आगामी सप्ताह कई बड़ी कंपनियों के तिमाही परिणाम जारी होने हैं और अप्रैल की डेरिवेटिव निविदा भी समाप्त हो रही है। निवेशकों की नजर इसके अलावा राजनीतिक उथलपुथल, रुपये की चाल, वैश्विक रुख और कच्चे तेल पर भी रहेगी।

 Sharesee more..

22 Apr 2018 | 1:09 PM

 Sharesee more..
image