Thursday, Feb 21 2019 | Time 19:01 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कर्मचारी भविष्य निधि जमा पर 8़ 65 प्रतिशत ब्याज देने की सिफारिश
  • हिमाचल प्रदेश, कश्मीर में हिमपात के आसार
  • आईआईटी रूड़की में स्टेनलेस स्टील और एडवांस्ड कार्बन स्पेशल स्टील पर पाठ्यक्रम
  • जावड़ेकर ने किया देहरा में केंद्रीय विश्वविद्यालय का शिलान्यास
  • 34 हजार कर्मचारी हड़ताल पर,30 लाख यात्री परेशान
  • किसान सम्मेलन में प्रतिनिधियों को मिलेगा उनके क्षेत्र का भोजन
  • सिद्धू को फिल्मसिटी में प्रवेश नहीं देने के लिए पत्र लिखा गया
  • झांसी: स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए अंतरर्राज्यीय समन्वय बैठक में हुआ मंथन
  • गंगा को स्वच्छ करने का काम 30 फीसदी पूरा: गडकरी
  • इजरायली सेना ने फलस्तीनी में एक स्कूल पर छोड़े आंसू गैस
  • गडकरी ने किया नमामि गंगे, राजमार्ग परियोजनाओं का लोकार्पण
  • आतंकवाद का लोकसभा चुनाव से कोई लेना-देना नहीं: खन्ना
  • कर्नाटका की पूर्व विधायक का निधन
  • शिव सेना का पाकिस्तान के खिलाफ ‘कड़ी कार्रवाई’ का सुझाव
  • राजनीति-भाजपा मुलायम सिंह दो अंतिम गोरखपुर
बिजनेस Share

सुश्री डोढिया ने कहा कि घरेलू ब्याज दर में बढोतरी से विनिर्माण कंपनियों को हल्की राहत मिली है क्याेंकि लागत मूल्य की मुद्रास्फीति मई के बाद सबसे अधिक घटी है। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय मुद्रा की गिरावट से हालांकि लागत मूल्य पर दबाव बना हुआ है।”
रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्पादन लगातार 13वें माह बढ़ा है हालांकि इसकी वृद्धि दर लगातार दूसरे माह कम रही है। नये ऑर्डर लगातार दसवें माह बढ़े हैं लेकिन इनकी तेजी भी लगातार दूसरे माह सुस्त हुई है। विदेशों से मांग में भी लगातार दसवें माह तेजी रही है और इनकी गति फरवरी के बाद सबसे अधिक रही है। कंपनियों ने लगातार तीसरे माह अपनी खरीद गतिविधियां तेज कीं लेकिन इनकी बढ़त सीमित रही। कच्चे माल का भंडार भी सामान्य रूप से बढ़ा।हालांकि तैयार माल का भंडार अपेक्षाकृत तेजी से घटा। कंपनियों ने लगातार 13वें माह बिक्री मूल्य में बढोतरी की।
उत्पादन बढ़ने और नये ऑर्डर आने से कंपनियों ने अगस्त में नयी भर्तियां कीं। कारोबारियों ने अगले 12 माह के परिदृश्य को सकारात्मक बताया है।
अर्चना/शेखर
वार्ता
image