Wednesday, Jun 26 2019 | Time 06:25 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • यमन में सेना से संघर्ष में छह हाउती लड़ाके ढ़ेर
बिजनेस


चार साल तक मोदी सरकार में शामिल रही तेलुगू देशम पार्टी के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के साथ ही डालर के मुकाबले रुपए में रिकार्ड गिरावट को लेकर सरकार पर तीखा हमला किया है। उन्होंने कहा कि वह दिन दूर नहीं है जब देश में पेट्रोल के दाम 100 रुपए प्रति लीटर को छू लेंगे और एक डालर की कीमत भी 100 रुपए तक पहुंच जायेगी।
वाजपेयी सरकार मेें वित्त मंत्री रहे यशवंत सिन्हा ने विपक्षी दलों से कीमतों में वृद्धि के खिलाफ सड़कों पर उतरने का आह्वान किया है। उन्होंने मंगलवार को ट्विटर पर लिखा,“ पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की कीमतों में लगातार वृदि्ध हो रही है और दाम रोजाना नये रिकार्ड पर पहुंच रहे हैं। विपक्षी दल सड़कों पर क्यों नहीं उतर रहे हैं उन्हें किस बात का इंतजार है।”
राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(राजग) के सहयोगी जनता दल (यू) के महासचिव के सी त्यागी ने ईंधन के बढ़ते दामों पर तुरंत रोक लगाने के लिए सरकार से हस्तक्षेप की मांग की है। उन्होंने कहा है कि शुल्कों में कटौती की जानी चाहिए और ऐसी प्रणाली बनाई जाये जिससे भविष्य में भी दाम बढ़ने से रोके जा सकें।
श्री त्यागी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि को रोकने के लिए हस्तक्षेप करने की मांग की।
जदयू महासचिव ने पेट्रोल-डीजल और गैस की कीमतों में बढ़ोतरी को चिंताजनक बताते हुए कहा कि इससे आमजन और गरीब सीधे प्रभावित होता है। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष आम चुनाव होने हैं और चुनावी वर्ष को देखते हुए सरकार को पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कम करने के लिए कारगर कदम उठाने चाहिए जिससे यह चुनावी मुद्दा नहीं बन पाये।
श्री त्यागी ने कहा कि पेट्रोल- डीजल की बिक्री से सरकार को लाखों करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त होता है। उसे ऐसी प्रणाली बनानी चाहिए जिससे उपभोक्ताओं को तुरंत राहत मिले और भविष्य में भी दाम बढ़ने नहीं पाये।
मिश्रा.श्रवण
जारी.वार्ता
image