Tuesday, Jan 22 2019 | Time 18:51 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • यूएई और पाकिस्तान के बीच तीन अरब डालर का समझौता
  • रूपे बना प्रो वाॅलीबाॅल लीग का टाईटल स्पाॅन्सर
  • भाजपा राजनीतिक रूप से डरी हुई: डेरेक
  • करतारपुर गलियारा जल्दी ही बन कर तैयार होगा: सिंह
  • फोटो कैप्शन-पहला सेट
  • अमूल कल से शुरू करेगा ऊंटनी के दूध की बिक्री, देश में पहली बार बाजार में आयेगा ऐसा बोतलबंद दूध
  • बागपत पुलिस ने एक तस्कर को किया गिरफ्तार, बरामद की 60 लाख की अफीम
  • ओसीडी के शिकार मरीजों की संख्या बढ़ी:डॉ मक्कड़
  • बाघमारा विधायक एक दिन के लिए सदन से निलंबित
  • जम्मू-कश्मीर में मोदी सरकार ने किया सबसे ज्यादा काम : गडकरी
  • बाघमारा विधायक सभा की कार्यवाही से निलंबित
  • व्यापारियों की मांगों की कांग्रेस ने हमेशा की अनदेखी : मलिक
  • असम रायफल्स के भूतपूर्व सैनिकों को मिलेगा ईसीएचएस का लाभ
  • बजरंग-अलीयेव मुक़ाबले से होगा लुधियाना चरण का समापन
  • करतारपुर गलियारा जल्दी ही बन कर तैयार होगा: सिंह
बिजनेस Share

इस अवसर पर नेशनल डेयरी डेवलपमेंट बोंर्ड के ग्रुप हेड मीनेष सी शाह ने कहा कि देश में 1950-51 के दौरान सालाना सात करोड़ टन दूध का उत्पादन होता था जो अब बढ़कर साढ़े सोलह करोड़ टन हो गया है। देश में प्रति व्यक्ति प्रतिदिन 355 ग्राम दूध उपलब्ध है। देश में कुल उत्पादित दूध में से 22 प्रतिशत को ही फोर्टीफाइड किया जा रहा है ।
उन्होंने विटामिन की कमी से होने वाली समस्याओं की चर्चा करते हुए कहा कि देश के 70 प्रतिशत लोग विटामिन डी की कमी की समस्या से जूझ रहे हैं। इसी तरह से विटामिन ए की कमी भी एक गंभीर समस्या बनी हुयी है। उन्होंने कहा कि दूध में फोर्टीफिकेशन को लेकर लोगों में जागरुकता का अभाव है और दूध को कैसे पोषक ततवों से भरपूर बनाया जाये इस पर कार्य किया जा रहा है ।
टाटा ट्रस्ट के वरिष्ठ सलाहकार विवेक अरोड़ा ने कहा कि 57 प्रतिशत बच्चों में विटामिन ए की कमी की समस्या है। इसी तरह से 69 प्रतिशत पांच साल के उम्र के बच्चों तथा महिलाओं में आयरन की कमी की समस्या है। देश में 70 प्रतिशत लोग जरुरत का 50 प्रतिशत ही सूक्ष्म पोषक तत्व ले पाते हैं ।
उन्होंने कहा कि 15 प्रतिशत की दर से दूध का दाम बढ़ रहा है लेकिन बिचौलियों के कारण किसानों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। देश में फोर्टिफिकेशन की क्षमता बढाने और इसके प्रति लोगों में जागरुकता लाने पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रतिदिन 78 लाख लीटर दूध का ही फोर्टीफिकेशन हो रहा है ।
इस अवसर पर फोर्टीफिकेशन के क्षेत्र में बेहतर काम करने वाली कंपनी मदर डेयरी , झारखंड मिल्क फेडरेशन , माही मिल्क प्रोड्यूसर कम्पनी और क्रीमलाइन डेयरी को सम्मानित भी किया गया ।
अरुण अर्चना
वार्ता
More News

हरियाणा में 13.79 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन

22 Jan 2019 | 6:45 PM

 Sharesee more..

सराफा भाव बंद

22 Jan 2019 | 6:45 PM

 Sharesee more..

रात की धारणा

22 Jan 2019 | 6:45 PM

 Sharesee more..

कपास्या खली

22 Jan 2019 | 6:45 PM

 Sharesee more..

इंदौर बाजार तीन अंतिम इंदौर

22 Jan 2019 | 5:35 PM

 Sharesee more..
image