Saturday, Sep 22 2018 | Time 22:50 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गुजरात में विस चुनाव के बाद भाजपा की पहली कार्यकारिणी बैठक, रूपाणी, यादव ने साधा कांग्रेस पर निशाना
  • पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब देने की जरुरत-रावत
  • राहुल का दो अक्टूबर को सेवाग्राम का कार्यक्रम
  • तूफान देया के कमजोर पड़ने के बाद बने निम्न दबाव के असर से गुजरात में जोरदार बरसात
  • कांग्रेस ने भ्रष्टाचार को पाला पोसा, गरीबों, किसानों से छल किया : मोदी
  • फोटो कैप्शन-तीसरा सेट
  • राफेल सौदे पर गलतबयानी कर रहे राहुल: अकबर
  • ढाई करोड़ की चरस बरामद, महिला समेत राजस्थान के दो तस्कर गिरफ्तार
  • हनुमानगढ़ में एक व्यापारी से बत्तीस लाख रुपये लूटे
  • राजस्थान में रोड़वेज की हड़ताल आज छठे दिन भी रही जारी
  • जनाधार के अनुसार हो सीटों का बंटवारा, नहीं तो भुगतना होगा खामियाजा
  • असम के मुख्यमंत्री दुमका पहुंचे, लोईस ने किया स्वागत
  • लोक मंथन कार्यक्रम की तैयारियों की हुई समीक्षा
  • दुमका से विस्फोटक बरामद, एक गिरफ्तार
  • राफेल मुद्दे पर प्रधानमंत्री से देश सच जानना चाहता है : शत्रुघ्न
बिजनेस Share

ड्रूम की ओबीवी बना देश का तीसरा बड़ा सर्च इंजन

नयी दिल्ली 06 सितंबर (वार्ता) ऑनलाइन ऑटोमोबाइल खरीद बेच मार्केटप्लेस ड्रूम की प्राइसिंग इंजन ऑरेंज बुक वैल्यू (ओबीवी) के यूजरों की संख्या 20 करोड़ के पार पहुंच गयी है और हर महीने करीब 1.5 करोड़ लोगों के इसका उपयोग करने से यह देश का तीसरा सबसे बड़ा सर्च इंजन भी बन गया है।
कंपनी ने गुरूवार को यहां जारी बयान में यह जानकारी देते हुये कहा कि बेंचमार्क प्राइसिंग इंजन किसी भी पुराने वाहन के उचित बाजार मूल्य का आंकलन करता है। कंपनी ने वर्ष 2016 में इसे शुरू किया था और 28 महीने के भीतर इसका यूजर बेस 20 करोड़ के आंकड़े को पार कर चुका है। पिछले आठ महीने में 10 करोड़ उपभोक्ताओं ने इसका उपयोग किया है।
उसने कहा कि पुराने वाहनों के मूल्य को निर्धारित करने की प्रक्रिया कठिन रही है क्योंकि यह अब तक सांख्यिकीय या वैज्ञानिक परिप्रेक्ष्य के बिना पूरी तरह से व्यक्तिगत मूल्यांकन मानकों पर निर्भर था। हालांकि इस ऑनलाइन टूल के लॉन्च के साथ वाहन खरीदने और बेचने वालों के लिए मूल्य निर्धारण पर निर्णायक सर्वसम्मति के साथ पहुंचना आसान हो गया है। ड्रूम की ओबीवी पर 10 सेकंड में किसी भी पुराने वाहन का उचित बाजार मूल्य हासिल किया जा सकता है। यही कारण है कि हर महीने 1.5 करोड़ यूजर ओबीवी से जुड़ रहे हैं। ओबीवी 100 से ज्यादा कंपनियों के 24,000 से ज्यादा उत्पादों, करीब 1,000 मॉडलों और 4,000 संस्करणों को कवर करता है, जिनका उत्पादन पिछले 15 से 16 साल में हुआ है।
शेखर अर्चना
वार्ता
More News

जबलपुर बाजार भाव

22 Sep 2018 | 8:23 PM

 Sharesee more..

चेन्नई सर्राफा के भाव

22 Sep 2018 | 8:02 PM

 Sharesee more..

22 Sep 2018 | 6:02 PM

 Sharesee more..
image