Wednesday, Sep 26 2018 | Time 05:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चुनाव कराना राष्ट्रीय हित में नहीं: थेरेसा मे
  • तेलंगाना में रिश्वत लेने के मामले अधिकारी समेत दो गिरफ्तार
  • टाई रहा भारत और अफगानिस्तान का रोमांचक मुकाबला
  • जम्मू निकाय चुनाव के लिए 815 उम्मीदवारों ने भरे पर्चे
  • पश्चिमी पाकिस्तान का शरणार्थी एक प्रतिनिधि मंडल जितेंद्र सिंह से मिला
बिजनेस Share

सुजुकी अगले महीने देश में शुरू करेगी प्रोटो टाइप ईवी का परीक्षण

नयी दिल्ली 07 सितंबर (वार्ता) वाहन बनाने वाली जापान की प्रमुख कंपनी सुजुकी मोटर कार्पोरेशन के अध्यक्ष ओसामु सुजुकी ने अगले महीने से भारत में 50 प्रोटो टाइप इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) का परीक्षण शुरू करने की शुक्रवार को घोषणा की।
श्री सुजुकी ने नीति आयोग द्वारा आयोजित दो दिवसीय वैश्विक मोबिलिटी शिखर सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में अपनी कंपनी की भारतीय इकाई मारूति सुजुकी इंडिया के भारतीय बाजार में इलेक्ट्रिक वाहन पेश करने की योजनाओं का खुलासा करते हुये कहा कि उनकी कंपनी वर्ष 2020 के अासपास भारत में इलेक्ट्रिक वाहन लॉच करने की तैयारी कर रही है और इसके लिए टोयोटा मोटर कार्पोरेशन के साथ साझेदारी की गयी है। उन्होंने कहा कि 50 प्रोटो टाइप इलेक्ट्रिक वाहनों का सड़क पर अगले महीने से परीक्षण शुरू किया जायेगा ताकि भारतीय जलवायु और ट्रैफिक के अनुरूप यहां के उपभोक्ताओं के लिए सुरक्षित और सरल इलेक्ट्रिक वाहन विकसित किये जा सके। उन्होंने कहा कि गुजरात स्थित संयंत्र में वर्ष 2020 में वाहनों के लिए लीथियम ऑयन बैटरी का उत्पादन शुरू करने का निर्णय लिया गया है।
श्री सुजुकी ने भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या बढ़ाने का जिक्र करते हुये कहा कि बगैर पर्याप्त चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर के ऐसा कर पाना संभव नहीं हो सकता है। इसके लिए सरकार को त्वरित गति से काम करना होगा। भारत में ऐसे लोगों की संख्या बहुत अधिक जो कार खरीदना चाहते हैं। यह कहा जा रहा है कि वर्ष 2030 तक भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की हिस्सेदारी 30 फीसदी होगी। इसका मतलब है कि उस समय भी अधिकांश लोग गैर इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग करेंगें।
उन्होंने कहा कि भारतीय ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने और उनकी जीवनशैली को बेहतर बनाने के साथ ही पर्यावरण की चुनौतियों का समाधान करते हुये सिर्फ इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देना ही जरूरी नहीं हैै बल्कि हाईब्रिड और सीएनजी वाहनों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। इसके लिए सरकार की ओर से नीतिगत सहयोग की जरूरत है। उन्होंने कहा कि वाहनों को इलेक्ट्रिफिकेशन करने के साथ ही विभिन्न मुद्दों के समाधान किये जाने की भी जरूरत है। इसमें सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग कर सुरक्षित और सक्षम मोबिलिटी का निर्माण करना भी शामिल है। श्री सुजुकी ने भारत में टिकाऊ मोबिलिटी सोसायटी के निर्माण के लिए इससे जुड़े सभी मुद्दों के समाधान में हर संभव कोशिश करने का वादा करते हुये कहा कि मारूति सुजुकी वर्ष 1983 से भारतीय बाजार में कार बना रही है। उनकी कंपनी ने शत प्रतिशत स्थानीयकरण का लक्ष्य हासिल कर मेक इन इंडिया को सकार किया है।
शेखर
वार्ता
More News
व्यापार युद्ध का कोई विजेता नहीं होता:डब्ल्यूटीओ

व्यापार युद्ध का कोई विजेता नहीं होता:डब्ल्यूटीओ

25 Sep 2018 | 11:29 PM

बर्लिन 25 सितंबर (वार्ता) अमेरिका और चीन के बीच व्यापार को लेकर जारी तनातनी के परिप्रेक्ष्य में विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के महानिदेशक रॉबर्टो एजेवेदो ने मंगलवार को कहा कि व्यापार युद्ध का कोई विजेता नहीं होता बल्कि इससे वैश्विक आर्थिक प्रगति खतरे में पड़ती है।

 Sharesee more..
एमएसएमई को मिलेगा मात्र 59 मिनट में एक करोड़ रुपये तक के ऋण

एमएसएमई को मिलेगा मात्र 59 मिनट में एक करोड़ रुपये तक के ऋण

25 Sep 2018 | 10:53 PM

नयी दिल्ली, 25 सितंबर (वार्ता) केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) को वित्त उपलब्ध कराने की दिशा में बड़ा बदलाव लाने के उद्देश्य से वेब पोर्टल पीएसबीलोनदन59मिनट्सडॉटकॉम लॉच किया जहां एमएसएमई को मात्र 59 मिनट में एक करोड़ रुपये के ऋण की सैद्धांतिक मंजूरी मिल जायेगी।

 Sharesee more..
जेटली ने लाँच किया वित्तीय समावेशन सूचकांक

जेटली ने लाँच किया वित्तीय समावेशन सूचकांक

25 Sep 2018 | 9:43 PM

नयी दिल्ली 25 सितंबर (वार्ता) वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को यहां वित्तीय समावेशन सूचकांक लाँच किया और कहा कि इससे राज्यों में वित्तीय समावेशन में सुधार की प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी।

 Sharesee more..
1.80 लाख करोड़ के एनपीए की वसूली का अनुमान: जेटली

1.80 लाख करोड़ के एनपीए की वसूली का अनुमान: जेटली

25 Sep 2018 | 8:13 PM

नयी दिल्ली 25 सितंबर (वार्ता) वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सरकारी बैंकों को हरसंभव मदद किये जाने का आवश्वासन देते हुये मंगलवार को कहा कि गैर निष्पादित परिसंपत्तियों (एनपीए) के निपटान की विभिन्न प्रक्रियाओं के माध्यम से चालू वित्त वर्ष में 1.80 लाख करोड़ रुपये के एनपीए की वसूली का अनुमान है।

 Sharesee more..

जेटली ने लांच किया जनधन दर्शक ऐप

25 Sep 2018 | 7:48 PM

 Sharesee more..
image