Wednesday, Jan 23 2019 | Time 19:07 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • दिल्ली को पहली पारी में मिली 135 रन की बढ़त
  • दिल्ली को पहली पारी में मिली 135 रन की बढ़त
  • करतारपुर गलियारा परियोजना से युवाओं को मिलेगा रोजगार: सोनी
  • राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम 25 जनवरी को अम्बाला
  • झांसी: बुंविवि में सुभाष चंद्र बोस को दी गयी भावभीनी श्रद्धांजलि
  • भारती इंफ्राटेल का मुनाफा 11 फीसदी बढ़ा
  • जेट एयरवेज और इंडियन एयर लाइंस के विलय से चिंतित हैं उमर
  • किसान सभा का 25 फरवरी से चीनी मिलों के बाहर धरने की घोषणा
  • वर्षा ,ओलावृष्टि के दौरान बिजली गिरने से मवेशी झुलसे
  • हजारे ने लोकपाल गठन के लिए कोविंद को लिखा पत्र
  • जनता को गुमराह कर रहा है विपक्ष:नायडू
  • गणतंत्र दिवस पर बंद रहेंगे कुछ मेट्रो स्टेशन
  • श्री हजूर साहब के प्रबंधन में दख़लअंदाजी बर्दाश्त नहीं: लोंगोवाल
  • विराट को आखिरी दो वनडे और ट्वंटी-20 सीरीज से विश्राम
  • दृष्टि/नेत्रहीनों को भारतीय मुद्रा की पहचान हेतु आईआईटी राेपड़ ने लाँच की एंड्रायड ऐप ‘रोशनी‘
बिजनेस Share

खाद्य प्रसंस्करण मंत्री ने कहा कि जो हमारे देश के लिए चुनौती है वह दूसरे देशों के लिए अवसर हो सकता है। भारत कई तरह के अनाजों के साथ दूध, फलों, सब्जियों, माँस और समुद्री खाद्य उत्पादन में शीर्ष पर है। सबससे बड़ी समस्या यह है कि खेतों में तैयार होने के बाद परिवहन, भंडारण, कोल्ड चेन और प्रसंस्करण की सुविधाओं के अभाव में इनका बड़ा हिस्सा नष्ट हो जाता है। देश में करीब 10 प्रतिशत वस्तुओं का ही प्रसंस्करण हो पाता है।
उन्होंने कहा कि प्राकृतिक संसाधनों की कमी होती जा रही है और जलवायु परिवर्तन कृषि के लिए चुनौती पैदा कर रहा है। भूजल का स्तर लगातार कम हो रहा है। औद्योगीकरण के कारण आने वाले समय में पानी की माँग में और वृद्धि होगी।
श्रीमती बादल ने कहा कि उनका मंत्रालय दूरदराज के क्षेत्रों में खाद्य प्रसंस्करण के लिए आधारभूत ढाँचा विकसित कर रहा है। अनेक स्थानों पर मेगा फूड पार्क, कोल्ड चेन और अन्य संस्थान स्थापित किये जा रहे हैं जिससे न केवल किसानों को फायदा हो रहा है बल्कि लोगों को रोजगार भी मिल रहे हैं।
अरुण अजीत
वार्ता
More News
तीन दिन बाद मजबूत हुई भारतीय मुद्रा

तीन दिन बाद मजबूत हुई भारतीय मुद्रा

23 Jan 2019 | 6:20 PM

मुम्बई 23 जनवरी (वार्ता) निर्यातकों की डॉलर बिकवाली और विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) की लिवाली से समर्थन पाकर अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में भारतीय मुद्रा बुधवार को लगातार तीन दिन गिरावट से उबरती हुई 11 पैसे की तेजी के साथ 71.33 रुपये प्रति डॉलर पर पहुंच गयी।

 Sharesee more..

चीनी उछली;चुनिंदा दालें,गुड़ नरम

23 Jan 2019 | 5:46 PM

 Sharesee more..

सराफा भाव बंद

23 Jan 2019 | 6:57 PM

 Sharesee more..
image