Tuesday, Sep 25 2018 | Time 02:53 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तेलंगाना में कांग्रेस, टीटीडीपी और भाकपा गठबंधन जहरीला मिलाप: डॉ लक्ष्मण
  • संरा में सुषमा ने कई देशों के विदेश मंत्रियों, वैश्विक नेताओं से की मुलाकात
बिजनेस Share

खाद्य प्रसंस्करण मंत्री ने कहा कि जो हमारे देश के लिए चुनौती है वह दूसरे देशों के लिए अवसर हो सकता है। भारत कई तरह के अनाजों के साथ दूध, फलों, सब्जियों, माँस और समुद्री खाद्य उत्पादन में शीर्ष पर है। सबससे बड़ी समस्या यह है कि खेतों में तैयार होने के बाद परिवहन, भंडारण, कोल्ड चेन और प्रसंस्करण की सुविधाओं के अभाव में इनका बड़ा हिस्सा नष्ट हो जाता है। देश में करीब 10 प्रतिशत वस्तुओं का ही प्रसंस्करण हो पाता है।
उन्होंने कहा कि प्राकृतिक संसाधनों की कमी होती जा रही है और जलवायु परिवर्तन कृषि के लिए चुनौती पैदा कर रहा है। भूजल का स्तर लगातार कम हो रहा है। औद्योगीकरण के कारण आने वाले समय में पानी की माँग में और वृद्धि होगी।
श्रीमती बादल ने कहा कि उनका मंत्रालय दूरदराज के क्षेत्रों में खाद्य प्रसंस्करण के लिए आधारभूत ढाँचा विकसित कर रहा है। अनेक स्थानों पर मेगा फूड पार्क, कोल्ड चेन और अन्य संस्थान स्थापित किये जा रहे हैं जिससे न केवल किसानों को फायदा हो रहा है बल्कि लोगों को रोजगार भी मिल रहे हैं।
अरुण अजीत
वार्ता
More News

24 Sep 2018 | 7:50 PM

 Sharesee more..
100 डॉलर पर पहुँच सकता है कच्चा तेल

100 डॉलर पर पहुँच सकता है कच्चा तेल

24 Sep 2018 | 7:50 PM

सिंगापुर 24 सितम्बर (रायटर) ईरान के खिलाफ प्रतिबंधों के कारण इस साल के अंत तक या अगले साल के आरंभ तक अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 100 डॉलर प्रति बैरल तक पहुँच सकती है जिससे भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतों के नयी ऊँचाई छूने की आशंका है

 Sharesee more..
image