Sunday, Sep 23 2018 | Time 19:25 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तीन तलाक का मुद्दा राजनीति का विषय नहीं : रविशंकर
  • एकता, अखंडता और सम्मान के लिए डालें वोट: लू
  • भारत ने छह स्वर्ण के साथ जीता ट्रैक एशिया कप
  • वोट बैंक की राजनीति के कारण गरीबों के स्वास्थ्य की हुई अनदेखी : मोदी
  • फोटो कैप्शन-दूसरा सेट
  • सरकार को आन्दोलनरत कर्मचारियों से करनी चाहिए बात-पायलट
  • पर्रिकर ही गोवा के मुख्यमंत्री बने रहेंगें: अमित शाह
  • हरियाणा ने जम्मू-कश्मीर को तीन विकेट से हराया
  • महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर ‘मुशायरा’
  • हरियाणा, हिमाचल और पंजाब सहित कई राज्यों में मानसून सक्रिय
  • भारत अंडर-16 लड़कियों का दूसरे राउंड का सपना टूटा
  • राफेल कांग्रेस द्वारा प्रायोजित झूठा मुद्दा-माथुर
  • भूटान भारत के परिवार का हिस्सा रहा है: वेंकैया
  • छत्तीसगढ़ के 40 लाख गरीबों को मिलेगी पांच लाख तक मुफ्त इलाज सुविधा
  • यूपी-ओड़िशा का मुकाबला बारिश की भेंट चढा
बिजनेस Share

पीएफसी का मुनाफा 22 फीसदी बढ़ा

नयी दिल्ली 12 सितंबर (वार्ता) ऊर्जा क्षेत्र को वित्त उपलब्ध करने वाली सरकारी गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी पावर फाइनेंस कॉर्पोरेशन (पीएफसी) ने चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 1,373 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया है जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के 1,122 करोड़ रुपये की तुलना में 22 फीसदी अधिक है।
कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक राजीव शर्मा ने बुधवार को यहाँ संवाददाताआें को बताया कि 30 जून को समाप्त पहली तिमाही में कंपनी के ऋण उठाव में 13 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गयी है। वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही में 2,52,746 करोड़ रुपये की ऋण संपदा थी जो चालू वित्त वर्ष की समान अवधि में बढ़कर 2,84,848 करोड़ रुपये पर पहुँच गयी है।
उन्होंने कहा कि जोखिम में फँसी संपदा में इस तिमाही में बढ़ोतरी नहीं हुयी है। हालाँकि 561 करोड़ रुपये का एक ऋण गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) की श्रेणी में अा गया है, लेकिन इसी दौरान एक सरकारी बिजली परियोजना के 1,100 करोड़ रुपये के ऋण का उन्नयन कर पुनर्गठन की श्रेणी में डाल दिया गया है। उन्होंने बताया कि पहली तिमाही में 17,238 करोड़ रुपये के प्रावधान किये गये हैं जिनमें से 15,445 करोड़ रुपये के प्रावधान अनुमानित ऋण नुकसान के लिए किया गया है।
श्री शर्मा ने कहा कि पीएफसी की कुल ऋण संपदा 2.85 लाख करोड़ रुपये का है जिनमें से 2.33 करोड़ रुपये के ऋण सरकारी परियोजनाओं में हैं। निजी क्षेत्र में 52 हजार करोड़ रुपये के ऋण हैं जो कुल ऋण संपदा का 18 फीसदी है। इसमें से 21 हजार करोड़ रुपये के ऋण खाते का संचालन जारी है और ऋण का नियमति भुगतान मिल रहा है।
उन्होंने बताया कि 28 परियोजनायें जोखिम में हैं जिनमें से पाँच परियोजनाओं में 5,300 करोड़ रुपये के ऋण हैं। इन खातों के वैधानिक निपटान की प्रक्रिया जारी है और इनमें कुछ कम वसूली होने का अनुमान है। कुल 8,254 करोड़ रुपये की पाँच परियोजनाओं का मामला निपटान के अंतिम चरण में है जबकि 8,156 करोड़ रुपये की दो परियोजनाओं में कर्जदारों ने समाधान की दिशा में काम शुरू किये हैं।
शेखर अजीत
वार्ता
More News

जबलपुर बाजार भाव

23 Sep 2018 | 7:01 PM

 Sharesee more..

जबलपुर अंडा डेयरी एवं मावा के भाव

23 Sep 2018 | 7:00 PM

 Sharesee more..
पेट्रोल 17 पैसे और डीजल 10 पैसे महंगा

पेट्रोल 17 पैसे और डीजल 10 पैसे महंगा

23 Sep 2018 | 5:19 PM

नयी दिल्ली 23 सितंबर (वार्ता) देश में पेट्रोल की कीमत में रविवार को 17 पैसे और डीजल में 10 पैसे की बढोतरी दर्ज की गयी।

 Sharesee more..

कारोबारी भरोसा सूचकांक में तेज बढोतरी

23 Sep 2018 | 4:58 PM

 Sharesee more..
पीएमजेई से 50 करोड़ लोग होंगे लाभान्वित : नैटहेल्थ

पीएमजेई से 50 करोड़ लोग होंगे लाभान्वित : नैटहेल्थ

23 Sep 2018 | 4:24 PM

नयी दिल्ली 23 सितंबर (वार्ता) स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े संगठन हेल्थकेयर फेडरेशन ऑफ इंडिया (नैटहेल्थ) के मुताबिक राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण मिशन, आयुष्मान भारत के तहत रविवार काे शुरू की गयी केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना (पीएमजेई) से देश भर के 50 करोड़ लोगों काे लाभ मिलेगा।

 Sharesee more..
image