Wednesday, Jun 26 2019 | Time 21:29 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अनुसूचित जाति एवं जनजाति आयोग ने तलब की बुलंदशहर घटना की रिपोर्ट
  • हत्या के मामले में तीन युवकों को 10-10 साल की कैद
  • त्राल मुठभेड़ में अंसार गजवातुल हिंद का आतंकवादी ढेर
  • एनसीबी, सरकार मिलकर करेंगे पंजाब से नशे का खात्मा
  • भोपाल आते आते मानसून हुआ कमजोर
  • संयुक्त राष्ट्र करेगा अमृतसर, वाराणसी और गुरुग्राम में वायु की गुणवत्ता में सुधार
  • छबड़ा एवं कालीसिंध विद्युत गृहों का विनिवेश नहीं करने के प्रस्ताव का अनुमोदन
  • नशा भ्रष्ट प्रशानिक तंत्र एवं राजनीतिक काली भेड़ो की देन: सरीन
  • बरेली पुलिस मुठभेड़ में चार बदमाश गिरफ्तार
  • किन्नर कैलाश यात्रा के दौरान दो लोगों की मौत, तीन बचाए गये
  • ऐसी शिक्षा नीति हो जो विद्यार्थियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने योग्य बनाए:खट्टर
  • महिला ने पांच पुत्रियों के साथ टांके में कूदकर की आत्महत्या
  • युवाओं में नशे की बढ़ती प्रवृत्ति एक वैश्विक समस्या: खट्टर
  • राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक 06 जुलाई को
  • इसरो ने मछुआरों के साथ शुरू किया ‘नाविक’ रिसीवर का परीक्षण
बिजनेस


एमजी मोटर अपनी एसयूवी ‘हैक्टर‘ के साथ एंट्री करेगी भारतीय बाजार में

चंडीगढ़, 12 जनवरी(वार्ता) चीनी कम्पनी एसएआईसी मोटर कार्पोरेशन की सहयोगी कम्पनी एमजी मोटर इंडिया इस वर्ष मई तक अपनी एसयूवी ‘हैक्टर‘ के साथ भारतीय ऑटोमोबाईल बाजार में उतरेगी।
कम्पनी के कार्यकारी निदेशक पी. बालेंद्रन ने आज यहां यह घोषणा करते हुये बताया कि हैक्टर का निर्माण गुजरात के हलोल स्थित अत्याधुनिक संयंत्र में किया जा रहा है जिसकी सालाना निर्माण क्षमता 80 हजार वाहन है। उन्होंने बताया कि हैक्टर का इस समय देश के विभिन्न हिस्सों में वहां की मौसमी परिस्थितयों के अनुसार परीक्षण किया जा रहा है। उन्होंने एसयूवी में इस्तेमाल की गई प्रौद्योगिकी, फीचर्स और कीमत का खुलासा नहीं किया लेकिन कहा कि यह अपनी श्रेणी में बिलकुल अलग दिखेगी।
श्री बालेंद्रन के अनुसार कम्पनी की भारत में अगले पांच वर्षों में लगभग एक अरब डॉलर यानि लगभग सात हजार करोड़ रूपये निवेश करने की योजना है तथा इसमें से प्रथम चरण में लगभग 2200 करोड़ रूपये का निवेश किया जाएगा। उन्होंने हालांकि यह स्पष्ट किया कि यह निवेश कम्पनी के वाहनों की बाजार मांग और नये वाहनों के विकास कार्यक्रम के आधार पर किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि ‘हैक्टर‘ का डिज़ाईन एवं विकास कम्पनी के इंजीनियरों ने यूनाईटेड किंगडम में किया है तथा मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत इसके निर्माण के लिये लगभग 75 कलपुर्जे देश से ही जुटाए जा रहे हैं। कम्पनी ने देश में अब तक 45 डीलरों का नेटवर्क तैयार कर लिया है जिनके आगे लगभग 110 टच प्वाईंट हैं जहां ग्राहकों बेहतर सविस और स्पेयर पार्ट्स उपलब्ध होंगे।
रमेश1817वार्ता
image